इस दस्यु गैंग में साथ चलती है गैंग सरगना की प्रेमिका, प्रेमिकाओं पर बुरी नजर बर्दाश्त नहीं

बीहड़ में अपने खौफ का डंका बजाने वाले खूंखार डकैतों की खूनी हैवानियत तो चंबल से लेकर बुंदेलखण्ड तक खूब देखी सुनी गई है।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 27 Jan 2018, 01:51 PM IST

चित्रकूट. बीहड़ में अपने खौफ का डंका बजाने वाले खूंखार डकैतों की खूनी हैवानियत तो चंबल से लेकर बुंदेलखण्ड तक खूब देखी सुनी गई है लेकिन दहशत के इन सौदागरों की आशिक मिजाजी और अय्याशी की फितरत इनके शैतानी जीवन का दूसरा स्याह पहलू है जिसके साए में छिपते हुए ये दस्यु सरगना अपनी रातों को रंगीन बनाते हैं। चंबल और बुन्देलखण्ड के बीहड़ों में पिछले तीन दशकों से अधिक समय से डकैतों की चहलकदमी बदस्तूर जारी है। चंबल का बीहड़ तो काफी हद तक खूंखार डकैतों की दहशत की कैद से आजाद हो चुका है परंतु बुन्देलखण्ड का पाठा आज भी कुख्यात दस्यु सरगनाओं के पाले में अंगड़ाई ले रहा है। डकैतों की आशिक मिजाजी और अय्याशी की कुछ ऐसी ही कहानी बीहड़ की फिजाओं से छनकर आ रही है। सूचनाओं के मुताबिक दस्यु सरगना अब अपनी गैंग में अपनी प्रेमिकाओं को साथ रखते हैं ताकि वक्त आने पर उन्हें ढाल की तरह इस्तेमाल किया जा सके। यूपी एमपी बार्डर पर खौफ की इबारत लिख रहे 50 हजार के इनामी दस्यु नवल धोबी की गैंग में तो वर्तमान समय में दो दस्यु सुंदरी हर समय मौजूद रहती हैं जिनमे एक गैंग सरगना नवल की प्रेमिका है।

बीहड़ की फिजाओं में दहशत की हवा घोलने वाले कुख्यात डकैतों बबुली कोल लवलेश कोल नवल धोबी गौरी यादव की आशिक मिजाजी की कहानियां बीहड़ के इलाकों में आम हैं। खौफ के चलते दबी जुबान से इन दस्यु सरगनाओं की अय्याशी के किस्से इलाकाई बाशिंदों से सुने जा सकते हैं। गैंग में अपनी प्रेमिका पर किसी की भी बुरी नजर इन दस्यु सरगनाओं को नागवार गुजरती है और ये उस सदस्य की जान लेने पर उतारू हो जाते हैं फिर चाहे वो गैंग का हार्डकोर मेंबर ही क्यों न हो। पिछले वर्ष 2017 में दस्यु बबुली और उसके दाहिने हांथ लवलेश के बीच उनकी प्रेमिकाओं को लेकर ही गोली चल गई थी, बाद में दोनों में समझौता हुआ। गैंग सरगनाओं द्वारा अय्याशी की खबरें अक्सर बीहड़ की आबोहवा में तैरती रहती हैं परंतु रंगे हांथ पकड़ पाना खाकी के लिए आज तक नामुमकिन ही साबित होता आया है।


नवल धोबी गैंग में शामिल हैं दस्यु सुंदरी

यूपी एमपी सीमा पर दहशत की इबारत लिख रहे है 50 हजार के इनामी दस्यु नवल धोबी गैंग में वर्तमान में दो दस्यु सुंदरी गैंग के साथ विचरण करती हैं। बीहड़ के सूत्रों व् ग्रामीणों ने कई बार गैंग में दो महिलाओं को देखा है। दर्जन भर सदस्यों के बीच ये दो महिलाएं संगीनों के साए में रहती हैं। ग्रामीणों के जरिए खाकी को भी इस बात की जानकारी हो गई है। सूत्रों व् ग्रामीणों के मुताबिक गैंग में शामिल दोनों महिलाओं में से एक गैंग सरगना नवल धोबी की प्रेमिका है। काफी पहले से दोनों एक दूसरे के सम्पर्क में हैं। खूंखार दस्यु ललित पटेल गैंग में उक्त महिला नवल धोबी के करीब आई। सूत्रों के मुताबिक गैंग सरगना की प्रेमिका की मां का भी डकैतों से गहरा रिश्ता रहा है। पुलिस मुठभेड़ में मारे जा चुके दस्यु चुन्नी पटेल से प्रेमिका की मां के करीबी रिश्ते थे। गैंग में चल रही दूसरी महिला गैंग के एक अन्य हार्डकोर मेंबर की प्रेमिका बताई जा रही है। उक्त महिला यूपी एमपी के सीमावर्ती गांव की रहने वाली है। दोनों महिलाएं बराबर गैंग के साथ रहती हैं और जरूरत पड़ने पर बीहड़ से बाहर निकलती हैं।

मिलती है हथियार चलाने की ट्रेनिंग

गैंगों में शामिल महिलाओं को दस्यु सरगना हथियार चलाने की भी ट्रेनिंग देते हैं। नवल धोबी की प्रेमिका को गैंग के सभी हथियारों को ऑपरेट करने की ट्रेनिंग दी गई है। कई बार नवल की प्रेमिका को हथियारों के साथ देखा गया है। बीहड़ के रास्तों से भी अच्छी तरह वाकिफ होती हैं दस्यु सरगनाओं की प्रेमिकाएं।

प्रेमिकाओं पर बुरी नजर बर्दाश्त नहीं

गैंग सरगनाओं को अपनी प्रेमिकाओं पर किसी की बुरी नजर बर्दाश्त नहीं । साढ़े पांच लाख के इनामी बबुली कोल ने मई 2017 में अपने खास सिपहसलार लवलेश को इसलिए बुरी तरह पीटा था क्योंकि एक बारात में लवलेश ने बबुली की प्रेमिका को छेड़ दिया था। लवलेश ने बबुली पर फायर भी किया पिटाई से क्रोधित होकर। पुलिस ने बबुली की कथित प्रेमिका को ट्रेस भी किया था। बबुली का आक़ा दस्यु बलखड़िया भी मारकुंडी थाना क्षेत्र में अपनी प्रेमिका पर किसी भी नजर बर्दाश्त नहीं करता था। अक्सर शराब और शबाब में डूबे रहते हैं ये दस्यु सरगना। पांच लाख के इनामी दस्यु रागिया को उसी की कथित प्रेमिका ने पुलिस का निवाला बनवाया था और रागिया को मौत की नींद सुला दी गई।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned