टूट गया अन्नदाताओं के सब्र का बांध राष्ट्रीय राजमार्ग किया जाम समझाने पहुंचे प्रभारी मंत्री से....

बड़ी संख्या में एकत्र हुए अन्नदाताओं का सिस्टम के प्रति क्रोध साफ तौर पर देखने को मिला

चित्रकूट: आसमानी कहर से तबाह हो चुके अन्नदाताओं के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने मिर्जापुर-झांसी राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर दिया. तबाही की कहानी बयां कर रहे ओलों को लेकर किसानों ने जाम लगाया. जाम लगाने वालों में महिलाओं से लेकर बच्चे तक भी शामिल थे. बड़ी संख्या में एकत्र हुए अन्नदाताओं का सिस्टम के प्रति क्रोध साफ तौर पर देखने को मिला. प्रदर्शनकारी किसानों का कहना था इस प्राकृतिक कहर से कई कई घरों में खाने के लाले पड़ गए हैं. बच्चे बिलख रहे हैं किसानों के सामने रोजी रोटी का संकट उठ खड़ा हुआ है. सरकार व प्रशासन कब सर्वे पूरा करेगा और कब मुआवजा मिलेगा यह पता ही नहीं चल रहा.

लगाया जाम टूट चुके हैं किसान


जनपद में हुई भारी बारिश व ओलावृष्टि से तबाही के कगार पर पहुंच चुके किसानों ने मुआवजे की मांग को लेकर मिर्जापुर-झांसी राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया. बर्बादी की दास्तां बयां करती फसलों व ओलों को लेकर राजमार्ग पर प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना था कि सब कुछ तबाह व बर्बाद हो गया है. खाने तक का संकट खड़ा हो गया है. वे अपना परिवार कैसे पालेंगे जब उनकी मेहनत से खड़ी हुई फसल ओलों की चादर में दफ़न हो गई. जनपद के रैपुरा थाना क्षेत्र अंतर्गत देउँधा गांव के पास से होकर गुजरे राष्ट्रीय राजमार्ग पर अन्नदाताओं ने यह प्रदर्शन किया.

पहुंचे प्रभारी मंत्री और फिर...

इस बीच प्रदेश सरकार व जनपद के प्रभारी मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी प्रदर्शनकारी किसानों के बीच पहुंचे और उन्हें समझाने का प्रयास किया. प्रभारी मंत्री ने किसानों को हर सम्भव मदद का आश्वासन देते हुए भरोसा दिलाया कि प्रदेश सरकार किसानों के साथ है. इस प्राकृतिक आपदा से प्रभावित किसानों नागरिकों को हर सम्भव मदद दी जाएगी. किसानों के नुकसान की भरपाई की जाएगी. सरकार पर भरोसा रखें. इस दौरान किसानों ने जल्द से जल्द मुआवजा देने की बात कही प्रभारी मंत्री से.

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned