सीएम योगी के एक्शन पर यूपी की सुस्त पुलिस का रिएक्शन, दिए सख्त निर्देश

यूपी की सत्ता को हांथों में लेते ही एक के बाद एक सख्त दिशा निर्देश लागू करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने इरादे लगभग जाहिर कर दिए हैं कि उन्हें किसी भी विभाग की लापरवाही बर्दाश्त नहीं।

चित्रकूट. यूपी की सत्ता को हांथों में लेते ही एक के बाद एक सख्त दिशा निर्देश लागू करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने इरादे लगभग जाहिर कर दिए हैं कि उन्हें किसी भी विभाग की लापरवाही बर्दाश्त नहीं। खासतौर पर कानून व्यवस्था को लेकर सीएम योगी के तेवर कुछ ज्यादा ही कड़े हैं।




लखनऊ में जब सीएम ने यूपी डीजीपी जावीद अहमद को हिदायत दी तो उसका असर जनपद की सुस्त व उदासीन पुलिस पर भी दिखाई पड़ा। अब यह असर धरातल पर कितना खरा उतरता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा। चित्रकूट में विगत कई महीनों के अंदर रेप, लूट, छिनैती, चोरी की घटनाओं को रोकने व खुलासा करने में नाकाम पुलिस ने आनन फानन में बैठक कर कानून व्यवस्था की टोह ली। पुलिस कप्तान ने मातहतों के पेंच कसते हुए किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतने के सख्त निर्देश दिए।




जनपद में पिछले दो महीनों के अंदर चोरी, लूट, छिनैती व रेप की घटनाएं पुलिस को खुलेआम चुनौती दे रही हैं। लेकिन जनपद पुलिस चैन की बंसी बजा रही है। लखनऊ में सीएम योगी द्वारा पुलिस के आला हुक्मरानों को कानून व्यवस्था को लेकर किसी भी प्रकार की ढिलाई न बरतने के निर्देश के तहत नींद से जागी चित्रकूट पुलिस ने भी बैठकों का दौर शुरू कर दिया है। पुलिस लाइन में अपने मातहतों के साथ कानून व्यवस्था पर माथा पच्ची करने बैठे एसपी डीपी सिंह ने अब तक हुई घटनाओं के बारे में व उनके खुलासे के विषय में पूछना शुरू किया तो उनके अधीनस्थ बगले झांकने लगे।




अधीनस्थों को कार्यप्रणाली में तत्काल सुधार लाने की हिदायत देते हुए एसपी ने निर्देश दिए कि जल्द से जल्द सभी थाना क्षेत्रों में अपराध निरोधक समिति बनाई जाए। रात्रि गश्त में तेजी व अराजक तत्वों पर नजर रखी जाए। तो वहीं साम्प्रदायिक घटनाओं को रोकने के लिए बराबर पीस कमेटी की बैठक कराई जाए। एसपी ने दस्यु प्रभावित इलाकों में कॉम्बिंग तेज करने के निर्देश मातहतों को दिए। एसपी ने महिला उत्पीड़न व अपराध पर तत्काल कार्रवाई के निर्देश सभी थानाध्यक्षों को दिए व साथ ही साथ थानों में लम्बित विवेचनाओं के जल्द निस्तारण का भी फरमान एसपी ने अपने मातहतों को दिया। बहरहाल देखना है कि पुलिस की ये तेजी सिर्फ बैठक में रहती है या बैठक से उठने के बाद।


Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned