जनता कर्फ्यू: बीहड़ से लेकर बस्तियां तक ख़ामोश पुलिस का भी दिखा ये अंदाज

बीहड़ से लेकर बस्तियां तक खामोश हैं। इस दौरान सिस्टम के पहरुए भी अलग अंदाज में लोगों से जनता कर्फ्यू को सफल बनाने का आह्वाहन करते देखे गए

चित्रकूट: कोरोना वायरस से निपटने के लिए "जनता कर्फ्यू" में जनता बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभाती दिख रही है. सूरज की पहली किरण के साथ शुरू हुआ कर्फ्यू दोपहर तक पूरी तरह सन्नाटे की चादर में लिपटा नजर आया। बीहड़ से लेकर बस्तियां तक खामोश हैं। इस दौरान सिस्टम के पहरुए भी अलग अंदाज में लोगों से जनता कर्फ्यू को सफल बनाने का आह्वाहन करते देखे गए। कर्फ्यू का व्यापक असर देखने को मिल रहा है. सिर्फ शहरी व कस्बाई ही नहीं बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना दानव से लड़ने की इच्छाशक्ति दिख रही है.


सन्नाटे में लिपटी पूरी फ़िजा


"हारेगा कोरोना" कुछ ऐसा ही ध्येय लेकर इस अदृश्य दानव से निपटने के लिए समाज काफी हद तक एक्टिव मोड में नजर आ रहा है. क्या शहर क्या कस्बे और क्या ग्रामीण क्षेत्र हर जगह जनता कर्फ्यू का व्यापक असर दिख रहा है. आस पास के इलाकों की बात छोड़िए बीहड़ में बसे गाँवों तक में कोरोना मात देने की लड़ाई लड़ी जा रही है जनता कर्फ्यू के द्वारा। भरी दोपहरी में गाँव के पेड़ की छाँव में लगने वाली चौपाल नजर नहीं आ रही। हर निगाह घर के झरोखों से बाहर का नजारा देख रही है।


पुलिस का दिखा ये अंदाज

जनता कर्फ्यू को सफल बनाने में सिस्टम के वे पहरुए भी लगे हैं जिनके प्रति अब से कुछ घंटे बाद ताली थाली शंख आदि बजाकर आभार व्यक्त करना है की इस विषम परिस्थिति में भी वे अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। ऐसे कर्तव्य में पुलिस भी शामिल है। कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए पुलिस ने विनम्रता से ऐसे लोगों से घर में रहने की अपील की जो बाहर दिखाई पड़ गए। लोगों ने भी बात सुनी और घर चले गए। जनता कर्फ्यू को लेकर. कोरोना से लड़ने को हर वर्ग तबके के लोग तैयार दिख रहे हैं.

Corona virus COVID-19
आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned