अखिलेश के मंत्री को जेल भिजवाने वाली महिला ने बीजेपी से मांगा टिकट, सपाइयों में हड़कंप

यूपी की सियासत में भूचाल लाने वाली महिला भी मैदान में

By: आकांक्षा सिंह

Published: 08 Nov 2017, 12:37 PM IST

चित्रकूट. यूपी विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान सपा सरकार के कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति व् उनके गुर्गों पर गैंगरप व उत्पीड़न का आरोप लगाकर प्रदेश की सियासत में ही नहीं बल्कि पूरे देश के सियासी गलियारों में हलचल मचाने वाली महिला ने बीजेपी से निकाय चुनाव में अध्यक्ष पद के लिए टिकट माँगा था लेकिन पार्टी ने तवज्जो नहीं दी। विधानसभा चुनाव के समय सपा के मंत्री पर लगे इन आरोपों को जमकर भुनाने वाली बीजेपी ने इस महिला को टिकट को टिकट नहीं दिया। जनपद के सीतापुर वार्ड से पार्षद रही ये महिला अब निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में है।

सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति और उनके गुर्गों पर गैंगरेप तथा उत्पीड़न का आरोप लगाकर सियासत के समंदर में ज्वारभाटा लाने वाली महिला का कहना है कि उसने बीजेपी से टिकट मांगा था लेकिन नहीं मिला। पार्टी से टिकट न मिलने पर अब वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में हैं। यदि जीतीं तो भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जाएगा। बीजेपी से टिकट क्यों नहीं मिला इस सवाल के जवाब में महिला ने कहा कि उन्होंने टिकट मांगा था अब पार्टी ने नहीं दिया तो ये पार्टी जाने।

यूपी की सियासत में भूचाल लाने वाली महिला भी मैदान में

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान प्रदेश की सियासत में तत्कालीन सपा सरकार के कद्दावर नेता व् सरकार में कैबिनेट मंत्री व् उनके गुर्गों के ऊपर गैंगरेप क प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर सुर्ख़ियों में आई महिला भी इस निकाय चुनाव में विपक्षियों को टक्कर देने के लिए मैदान में उतरी है. महंगी लग्ज़री गाड़ियों के साथ मंगलवार को इस महिला ने कर्वी नगर पालिका परिषद से अध्यक्ष पद के लिए नामांकन किया.

गायत्री प्रजापति पर लगाया था सनसनीखेज़ आरोप

थोडा फ्लैशबैक में चलते हुए आपको बता दें कि कर्वी नगर पालिका परिषद से अध्यक्ष के पद पर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन करने वाली इस महिला ने सपा सरकार के कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति व् उनके गुर्गों पर गैंगरेप और प्रताड़ना का आरोप लगाकर सनसनी मचा दी थी. जिस समय मंत्री के ऊपर यह आरोप लगे उस समय यूपी विधानसभा चुनाव 2017 की सरगर्मी चरम पर थी और इस मामले को लेकर सपा की ख़ासी फ़जीहत हुई थी. पूरे देश में यह मामला चर्चा का विषय बन गया था. विपक्षी पार्टियों ने इस मामले को सपा के खिलाफ जमकर भुनाया था. पालिका अध्यक्ष पद पर ताल ठोंक रही यह महिला सीतापुर वार्ड से पार्षद भी रह चुकी हैं. इस आरोप में आरोपी गायत्री प्रजापति अभी तक जेल में है.

महंगी लग्ज़री गाड़ियों का काफ़िला

मंत्री पर सनसनीखेज़ आरोप लगाकर सियासत के गलियारे में भूकम्प लाने वाली इस महिला के काफ़िले में लग्ज़री गाड़ियों की फेहरिस्त शामिल है. महंगी गाड़ियों को देखकर एक बार फिर लोगों के बीच चर्चाओं का बाज़ार गर्म हो गया है. सैकड़ों समर्थकों के साथ उन्होंने नामांकन दाखिल किया मंगलवार को. इस सम्बन्ध में उप जिला निर्वाचन अधिकारी विजय नारायण पाण्डेय का कहना है कि सभी प्रत्याशियों के जुलूसों की वीडियोग्राफी कराइ गई है. हलफनामे को भी चेक किया जाएगा. यदि कोई गड़बड़ी पाई गई तो आचार सहिंता के हिंसाब से कार्यवाही की जाएगी.

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned