दस्यु बबुली को ठिकाने लगाएंगे स्पेशल फ़ोर्स के जवान, यूपी के जंगलों में जारी है सर्च ऑपरेशन

यूपी के जंगलों में मध्य प्रदेश पुलिस के 200 जवानों को उतारा गया है जिनमें 25 सब इंस्पेक्टर शामिल हैं।

By: आकांक्षा सिंह

Updated: 08 Feb 2018, 02:07 PM IST

Lucknow, Uttar Pradesh, India

चित्रकूट. साढ़े पांच लाख के इनामी खूंखार दस्यु बबुली कोल को घेरने के लिए यूपी के जंगलों में मध्य प्रदेश पुलिस के 200 जवानों को उतारा गया है जिनमें 25 सब इंस्पेक्टर शामिल हैं। सीमावर्ती इलाकों के आलावा यूपी के बीहड़ में बसे ग्रामीण क्षेत्रों में खाकी की ये पलटन लगातार गैंग को ट्रेस करने का प्रयास कर रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक डकैतों के बारे में कई अहम जानकारियां प्राप्त हुई हैं जिनपर यदि सही तरीके से काम किया गया तो सफलता मिल सकती है। मददगारों को चिन्हित करते हुए उनपर कार्यवाही की तैयारी चल रही है। बीहड़ के ग्रामीण इलाकों में पहुंची पुलिस और उच्चाधिकारियों ने ग्रामीणों से सहयोग की अपील की परंतु दहशत के साए में जी रहे बाशिंदों से कोई खास जानकारी हासिल न हो सकी। बीहड़ के इलाकों में घूमने के जवानों को बाइकें भी मुहैया कराई गई हैं। खाकी के राडार पर दस्यु बबुली पहले नम्बर पर है और जिस तरीके से मध्य प्रदेश पुलिस ने एक साइलेंट ऑपरेशन चला रखा है उससे गैंग के खात्में के आसार बन रहे हैं। उधर यूपी पुलिस भी बीहड़ों की खाक छानते हुए गैंग को ट्रेस करने के प्रयास में हैं। फ़िलहाल दोनों राज्यों की पुलिस अपने अपने तरीके से दस्यु उन्मूलन अभियान में लगी है।

बीहड़ में खौफ का साम्राज्य कायम कर चुके साढ़े पांच लाख के इनामी दस्यु बबुली को ट्रेस करने के लिए मध्य प्रदेश पुलिस थोड़ा ज़्यादा सक्रीय हो गई है हालांकि बबुली का प्रमुख इलाका यूपी का बीहड़ है लेकिन पड़ोसी मध्य प्रदेश के इलाकों में भी उसने हत्या अपहरण लूट की कई वारदातों को अंजाम देकर वहां की खाकी को भी खुली चुनौती दी है। मध्य प्रदेश पुलिस के डीजीपी ऋषि शुक्ला द्वारा डकैतों के खात्में के लिए पुलिस को फ्री हैण्ड किए जाने के निर्देश के बाद खाकी ने यूपी एमपी के बीहड़ों में सक्रियता बढ़ा दी है। सब इंस्पेक्टर रैंक के 25 जवानों को बीहड़ में उतारा गया है साथ ही 25 बाइकें भी उपलब्ध कराई गई हैं। ताकि बीहड़ के ग्रामीण इलाकों में जवानों को जल्दी पहुंचने में कोई परेशानी न हो।

यूपी के जंगलों में खाकी का डेरा

पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश की सतना पुलिस ने खास रणनीति बनाते हुए यूपी के जंगलों में कॉम्बिंग करते हुए डेरा डाल रखा है। सतना एसपी राजेश हिंगड़कर ने बताया कि डकैतों के बारे में कई अहम जानकारियां मिली हैं। ऐसे मददगारों को भी चिन्हित किया जा रहा है जो पैसों की लालच में गिरोह की मदद करते हैं। लगभग 10 चार पहिया वाहनों में एमपी पुलिस के 50 जवान सीमावर्ती और दस्यु प्रभावित क्षेत्रों में पेट्रोलिंग कर रहे हैं।

बीहड़ में जाने के लिए बाइक का इंतजाम

सतना पुलिस के मुताबिक दस्यु उन्मूलन अभियान के तहत 25 युवा सब इंस्पेक्टर बीहड़ में भेजे गए हैं। इसके आलावा 100 आरक्षक स्पेशल फ़ोर्स के 50 जवान सहित सीमावर्ती धारकुंडी मझगवां बरौंधा थानों की फ़ोर्स भी कॉम्बिंग में लगी है। ग्रामीण इलाकों में भ्रमण और जल्दी पहुंचने के उद्देश्य से जवानों को 25 बाइकें भी उपलब्ध कराई गई हैं जिससे काफी आसानी होगी उन इलाकों तक पहुंचने में।

गैंग के मुखबिर भी सक्रीय

इन सबके बीच बीहड़ के सूत्रों के मुताबिक खाकी के बढ़ते दबाव ने बबुली सहित नवल गौरी यादव और महेंद्र पासी उर्फ़ धोनी को बेचैन कर दिया है। गौरी नवल और महेंद्र जहां बीहड़ में छिपे हुए हैं वहीं दस्यु बबुली ठिकाना बदल बदल कर पुलिस को चकमा दे रहा है। बबुली के मुखबिर भी काफी सक्रीय हो गए हैं और पुलिस के हर कदम की जानकारी उस तक पहुंचा रहे हैं। मारकुंडी थाना क्षेत्र में ही बबुली के लोकेशन की सूचना पर एसपी चित्रकूट प्रताप गोपेंद्र की अगुवाई में कॉम्बिंग जारी है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned