शिव की भक्ति में जमकर झूमे भक्त, कुछ इस तरह दूल्हा रूप में नजर आए भोलेनाथ

Nitin Srivastava

Publish: Feb, 15 2018 07:42:49 AM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
शिव की भक्ति में जमकर झूमे भक्त, कुछ इस तरह दूल्हा रूप में नजर आए भोलेनाथ

मंदिरों और शिवालयों में दूसरे दिन भी विशेष पूजन श्रृंगार करते हुए शिवरात्रि का पर्व मनाया गया...

चित्रकूट. महाशिवरात्रि के दो दिवसीय पर्व पर 14 फरवरी को भी शिवालयों मठ और मंदिरों में भोले भंडारी की आराधना पूजा स्तुति जलाभिषेक का दौर जारी रहा। भक्तों के हर हर बम जय शिवशंकर हर महादेव के उद्घोष से वातावरण भक्तिमय हो उठा। कई जगहों पर आज भी शिव बारात निकाली गई जिसमें श्रद्धालुओं ने भोले की भक्ति की मस्ती में जमकर भक्तिभाव के सागर में गोता लगाया। मुख्यालय में निकाली गई शिव बारात में युवाओं से लेकर बुजुर्गों तक ने भागीदारी की। प्रसिद्द मत्स्यगजेंद्रनाथ मंदिर में दूसरे दिन भी भोलेनाथ का भऔरय श्रृंगार हुआ।

 

दो दिन मनाई गई शिवरात्रि ?

महाशिवरात्रि इस बार दो दिन (13 और 14 फरवरी) मनाई गई। 13 फरवरी यानी मंगलवार को जहां आस्थावानों का तांता लगा रहा भोलेनाथ के दर्शन पूजन जलाभिषेक को वहीं दूसरे दिन यानी 14 फरवरी बुद्धवार को भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने महाशिवरात्रि के अवसर पर शिव आराधना की। मंदिरों और शिवालयों में दूसरे दिन भी विशेष पूजन श्रृंगार करते हुए शिवरात्रि का पर्व मनाया गया।

 

निकाली गई शिव बारात

जनपद के कई मोहल्लों कस्बों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में दूसरे दिन भी भऔरय तरीके से शिव बारात निकाली गई। श्रद्धालुओं ने किसी बाराती की तरह भोलेनाथ का दूल्हे के रूप में स्वागत किया और शहनाईयों तथा भक्ति संगीतों की धुन पर झूमते नाचते भोलेनाथ की बारात निकाली। रामघाट स्थित मत्स्यगजेंद्रनाथ मंदिर में जबलपुर से आए शहनाई वादकों ने भक्तिमय धुनों से वातावरण को आनंदित कर दिया।

 

ठंडई पीकर मस्ती में डूबे शिवभक्त

महाशिवरात्रि के पावन पवित्र अवसर पर जगह जगह ठंडई पिलाने का भी कार्यक्रम आयोजित किया गया। मन्दिरों के बाहर से लेकर विभिन्न प्रमुख चौराहों पर श्रद्धालुओं को प्रसाद स्वरूप ठंडई का वितरण किया गया। युवाओं में इस देशी और पौष्टिक पेय पदार्थ पीने को लेकर कुछ ज्यादा ही उत्साह दिखा। महाशिवरात्रि के अवसर पर सुरक्षा औरयवस्था के भी पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

1
Ad Block is Banned