एक्सक्लूसिव: रेल ट्रैक पर इलेक्ट्रिक लाइन में शॉर्ट शर्किट से हड़कम्प

Ruchi Sharma

Publish: Sep, 17 2017 04:56:16 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
एक्सक्लूसिव: रेल ट्रैक पर इलेक्ट्रिक लाइन में शॉर्ट शर्किट से हड़कम्प

एक्सक्लूसिव: रेल ट्रैक पर इलेक्ट्रिक लाइन में शॉर्ट शर्किट से हड़कम्प

चित्रकूट. मुंबई हावड़ा मार्ग पर स्थित महत्वपूर्ण मानिकपुर जंक्शन के पास उस समय हड़कम्प मच गया जब रेल ट्रैक पर इलेक्ट्रिक लाइन में बड़ा शॉर्ट शर्किट हुआ। मुंबई हावड़ा रेल मार्ग पर स्थित इलाहबाद- सतना ट्रैक (मार्ग) पर इलेक्ट्रिक लाइन (रेल विद्युतिकरण) का काम चल रहा है। लाइन पर टेस्टिंग के दौरान ही हुए इस हादसे ने रेलवे की लापरवाही की पोल फिर खोल दी। गनीमत रही कि उस दौरान कोई ट्रेन अप या डाउन ट्रैक पर नहीं थी अन्यथा कोई बड़ा हादसा हो सकता था।

शॉर्ट शर्किट से रेल ट्रैक पर कई तार गिर पड़े, जिससे अफरा तफरी मच गई। आनन फानन में स्टेशन मास्टर व अन्य कर्मचारियों द्वारा यात्रियों को सचेत करते हुए ट्रैक से दूर रहने के लिए कहा गया। घटना की सूचना तत्काल उच्चाधिकारियों को दी गई और लाइन पर विद्युत आपूर्ति बंद की गई। लगभग तीन घण्टे बाद ट्रैक पर पड़े तारों को हटाया गया और कार्य शुरू हुआ। मुंबई हावड़ा रेलमार्ग के इस जंक्शन पर रेल विद्युतीकरण का कार्य चल रहा है और रात में इस रूट की टेस्टिंग हो रही थी जिस समय यह शॉर्ट शर्किट हुआ।

उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद मण्डल अंतर्गत आने वाले मानिकपुर रेल मार्ग पर देर रात एक बड़ा हादसा टल गया। दर असल मुंबई हावड़ा ट्रैक पर स्थित इस महत्वपूर्ण रेलमार्ग (जंक्शन) पर इलाहाबाद से सतना (मध्य प्रदेश) के मध्य इलेक्ट्रिक लाइन का कार्य शुरू है। आगामी दिनों में इलाहबाद से सतना के मध्य इलेक्ट्रिक इंजन भी रेल ट्रैक पर दौड़ने लगेंगे।

इसी लाइन की टेस्टिंग देर रात चल रही थी कि मानिकपुर जंक्शन के प्लेटफॉर्म नम्बर एक के ट्रैक पर बहुत तेज की स्पार्किंग होने लगी और 25 हजार वोल्टेज के बेहद खतरनाक करंट का लोड संभाल रहे तार टूटकर ट्रैक पर गिर पड़े। तेज रौशनी व आवाज पर स्टेशन मास्टर सहित अन्य कर्मचारियों ने आनन फानन में प्लेटफॉर्म पर उपस्थित यात्रियों को ट्रैक पर न जाने की हिदायत दी और प्लेटफॉर्म पर भी दूर रहने के लिए कहा। घटना के बारे में तत्काल इलाहाबाद मंडल को अवगत कराया गया जिस पर तुरंत विद्युत आपूर्ति बंद की गई ट्रैक पर।


स्टेशन मास्टर जवाहर लाल ने बताया कि रेल ट्रैक पर इलेक्ट्रिक लाइन लगाने का कार्य चल रहा है जिसके तहत रात में ट्रैक का परीक्षण किया जा रहा था कि उसी समय खम्बों पर लगे तारों में शॉर्ट शर्किट होने लगी और तार टूटकर ट्रैक पर गिर पड़े। स्टेशन मास्टर के मुताबिक लगभग तीन बाद तारों को ट्रैक से हटाया गया और सुबह कार्य दोबारा शुरू हुआ। इस दौरान गनीमत यह रही कि कोई भी ट्रेन अप या डाउन ट्रैक पर नहीं थी।

इलाहाबाद से सतना के मध्य पड़ने वाले मानिकपुर रेल मार्ग पर यदि देखा जाए तो कई बड़े रेल हादसे होने से बच गए। इसी रूट पर कभी ट्रेन में बम पाया गया तो कभी टूटे हुए ट्रैक से तेज रफ्तार ट्रेन गुजर गईं। और अब ट्रैक विद्युतीकरण की टेस्टिंग के दौरान ही एक बड़ा हादसा होने से टल गया। ये सभी तस्वीरें यह बयां करती हैं कि सजगता सावधानी जिम्मेदारी रेलवे के लिए बड़ी चुनौती है जिसपर गहनता से मंथन करने की आवश्यकता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned