सीएम योगी के दरबार में पहुंचा बुन्देलखण्ड के किसानों का दर्द सांसद ने कर डाली यह बड़ी मांग

यूपी की सत्ता संभालने के बाद किसानों के लिए कई घोषणाएं तो की गईं सरकार द्वारा लेकिन बुन्देलखण्ड के अन्नदाताओं के जख्मों पर मरहम अब भी नहीं लग पाया है.

चित्रकूट: किसानों के मुद्दे को लेकर 2019 में सभी राजनीतिक पार्टियां संजीदा हैं और केंद्र व प्रदेश में सत्तासीन भाजपा पर तो इस मुद्दे को लेकर काफी दबाव भी है कि किस तरह देश व प्रदेश के अन्नदाताओं की नजरों में पार्टी अपनी छवि उनके मसीहा के रूप में बनाती है. यूपी की सत्ता संभालने के बाद किसानों के लिए कई घोषणाएं तो की गईं सरकार द्वारा लेकिन बुन्देलखण्ड के अन्नदाताओं के जख्मों पर मरहम अब भी नहीं लग पाया है. कर्जमाफी के दायरे को लेकर शुरू से ही यहां के किसान आंदोलित हैं तो वहीँ अन्ना प्रथा सिंचाई समस्या बिजली कटौती जैसी समस्याओं से भी जूझ रहे हैं बुंदेली किसान. अब जैसे जैसे 2019 की घड़ी करीब आ रही है वैसे वैसे किसानों को लेकर भाजपा के नुमाइंदों की सक्रियता भी बढ़ रही है. बतौर उदाहरण विभिन्न दुश्वारियों से जूझते बुन्देलखण्ड के अन्नदाताओं का दर्द अब सीधे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दरबार में पहुंचा है और पार्टी के सांसद ने सरकार से कई बड़ी मांगे कर डाली हैं.

यूपी सीएम के दरबार में अन्नदाताओं का दर्द

बुन्देली किसानों का दर्द सीधे यूपी सीएम के दरबार में पहुंचा है. चित्रकूट बांदा लोकसभा सीट से भाजपा सांसद भैरव प्रसाद मिश्रा, बांदा के तिंदवारी विधानसभा सीट से भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति ने यूपी सीएम से मुलाकात कर क्षेत्र के किसानों की विभिन्न गंभीर समस्याओं को उनके सामने रखा. नासूर बन चुकी अन्ना प्रथा समस्या को लेकर जनप्रतिनिधियों ने सरकार से और ठोस कदम उठाने की मांग की. भाजपा सांसद ने मुख्यमंत्री से मांग की कि बुन्देलखण्ड के लघु व सीमांत किसानों के कर्ज माफ़ी का दायरा बढ़ाया जाए अर्थात अभी एक एवम् दो हेक्टेयर से बढ़ाकर बुन्देलखण्ड के किसानों की जोत सीमा 5 हेक्टेयर की जाए. इसके आलावा विद्युत् कटौती व सिंचाई समस्या को भी विस्तृत तरीके से यूपी सीएम के सामने रखा भगवा ब्रिगेड के जनप्रतिनिधियों ने.

मिला आश्वासन

भाजपा सांसद भैरव प्रसाद मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बुन्देलखण्ड के किसानों की समस्याओं को काफी गम्भीरता से लिया है और अन्ना प्रथा जैसी बड़ी समस्या को लेकर उन्होंने इसके समाधान के लिए आश्वासन दिया. अन्ना जानवरों से रबी की फसल के काफी नुकसान की जानकारी सीएम को दी गई. किसानों की सभी गम्भीर समस्याओं पर जल्द से जल्द प्रदेश सरकार से कदम उठाने की मांग की गई.

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned