सात लाख के इनामी दस्यु सरगना की प्रेमिका पुलिस की गिरफ़्त में, भाग निकला सरगना

यूपी एमपी के बीहड़ों में खौफ़ का साम्राज्य कायम कर चुके सात लाख के इनामी डकैत बबुली कोल एक बार फिर पुलिस की गोलियों का शिकार होने से बच गया।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 14 Jun 2017, 02:29 PM IST

चित्रकूट। यूपी एमपी के बीहड़ों में खौफ़ का साम्राज्य कायम कर चुके सात लाख के इनामी डकैत बबुली कोल एक बार फिर पुलिस की गोलियों का शिकार होने से बच गया। लेकिन पुलिस की गिरफ्त में जो आया उसके माध्यम से आने वाले दिनों में ख़ाकी को कई राज मालुम हो सकते हैं गैंग से सम्बंधित, तो वहीं सूत्रों के अनुसार अपने ख़ास की गिरफ़्तारी से बबुली बौखला गया है और किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की कोशिश कर सकता है। पुलिस मुठभेड़ के दौरान यह दस्यु सरगना तो बच निकला लेकिन ख़ाकी की गिरफ़्त में आ गई उसकी प्रेमिका जो बबुली की चाहत मानी जाती है और बीहड़ के सूत्रों के मुताबिक अपनी प्रेमिका के लिए बबुली किसी की भी जान ले सकता है। यही नहीं दस्यु गैंग के दूसरे सबसे सक्रिय सदस्य 50 हजार के इनामी डकैत लवलेश की पत्नी भी पुलिस की गिरफ्त में आ गई और एक गांव का प्रधानपति भी ख़ाकी के हत्थे चढ़ गया। गिरफ्तार हुए सभी लोगों से पूछ ताछ जारी है। गैंग से मुठभेड़ के दौरान गिरफ़्तार दस्यु बबुली की प्रेमिका के पास से मोबाईल जबकि डाकू लवलेश की पत्नी के पास से भी आधा दर्जन से अधिक मोबाईल व् सिमकार्ड बरामद हुए हैं। लगातार ख़ाकी को चुनौती दे रहे दस्यु बबुली कोल की प्रेमिका से पुलिस को जो सबसे अहम सुराग मिल सकता है वो है गैंग के असली ठिकानों की जानकारी।

जनपद के बीहड़ में ख़ाकी को खुलेआम टक्कर देने वाला दस्यु बबुली कोल एक बार फिर सरकारी गोलियों की बौछार से बचकर भाग निकला। पिछले दो महीनों के दौरान पाठा क्षेत्र में लूट मारपीट व फायरिंग की कई वारदातों को अंजाम देकर पुलिस को मुठभेड़ के लिए उकसाने वाले इस खूंखार डकैत ने आराम से बीहड़ के ग्रामीण इलाकों में विचरण शुरू कर दिया है। दिनदहाड़े लूट व मारपीट की घटनाओं को अंजाम देकर सात लाख का इनामी यह डकैत अपने बेख़ौफ़ होने का सबूत ख़ाकी को गाहे बगाहे देता रहता है। आराम फरमाने के लिए बीहड़ के गांवों में खुलेआम बसेरा करने वाला दस्यु बबुली एक बार फिर जनपद पुलिस की गोलियों के बीच खुद को बचाकर निकल भागा और पुलिस की गिरफ्त में आ गई उसकी प्रेमिका, जिस पर बबुली जान छिड़कता है।

सूत्रों के मुताबिक दस्यु बबुली कोल मानिकपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत नागर गांव के पास विचरण कर रहा था, वह अपनी प्रेमिका गुड़िया पटेल उर्फ़ ठकुराइन से मिलने की फिराक में था. गैंग के गांव में होने की सूचना पर दस्यु सरगना को घेरने पहुंची पुलिस की आहट पाते ही गैंग ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। आनन फानन में पुलिस ने भी मोर्चा सम्भालते हुए पोजीशन लेकर जवाबी फायरिंग शुरू की। दोनों तरफ से लगभग डेढ़ घण्टे तक गोलीबारी हुई जिसके दौरान दस्यु बबुली अपनी गैंग के साथ बीहड़ में विलीन हो गया। मुठभेड़ के बाद गांव सहित आस पास के जंगल में पुलिस ने कॉम्बिंग शुरू की। कॉम्बिंग के दौरान ख़ाकी को उस समय एक अहम सफलता मिली जब डकैत बबुली कोल की प्रेमिका गुड़िया उर्फ़ ठकुराइन उसकी(पुलिस) गिरफ़्त में आ गई। उसी दौरान गैंग के दूसरे सबसे हार्डकोर सदस्य लवलेश जिसपर 50 हजार का इनाम घोषित है की पत्नी रवीना उर्फ़ सियारानी भी ख़ाकी की गिरफ्त में आ गई यही नहीं गैंग की टोह लेने के दौरान पुलिस ने मुठभेड़ स्थल गांव नागर के प्रधानपति बड़कू को गैंग की मदद के आरोप मदिन गिरफ्तार कर लिया. अन्य पुलिस टीमों को बीहड़ में गैंग की तलाश में लगाया गया है।

इस पूरे घटनाक्रम के बारे में एसपी प्रताप गोपेन्द्र ने बताया कि दस्यु बबुली कोल की लोकेशन नागर गाँव में मिली थी जिसपर गैंग की घेरेबंदी करते हुए मुठभेड़ हुई परंतु दस्यु सरगना बबुली बाग़ निकला। एसपी ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान दस्यु बबुली की प्रेमिका गुड़िया उर्फ ठकुराइन तथा गैंग के हार्डकोर सदस्य लवलेश की पत्नी रवीना उर्फ़ सियारानी और उसी गांव नागर के प्रधानपति बड़कू को गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी के मुताबिक ये सभी गैंग के संरक्षणदाता हैं। दस्यु बबुली की प्रेमिका व् दस्यु लवलेश की पत्नी से पूछताछ की जा रही है जिसमे कई अहम सुराग मिलने की सम्भावना है।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned