जांच में आया हो रही है अस्पताल में अवैध वसूली

अस्पताल में अवैध वसूली की जांच शुरू हो गई, कलक्टर के निर्देश पर एसडीएम पहुंचे जांच करने पहुंचे

By: manish gautam

Published: 20 Jan 2018, 10:16 PM IST

चित्तौडग़ढ़।

श्री सांवलियाजी जिला चिकित्सालय के महिला एवं बाल अस्पताल में ट्रॉली मैन के अवैध वसूली का मामला खुलने के बाद जिला कलक्टर इन्द्रजीत सिंह ने शनिवार को एसडीएम सुरेश कुमार खटीक को अस्पताल में जांच करने भेजा। एसडीएम खटीक बिना अस्पताल प्रबंधन को बताए अस्पताल में जांच की। इसमें कुछ मरीजो से ट्रॉली मैन के पैसे लेने की बात सामने आई है।

 

दूसरी तरफ अस्पताल के कार्यवाहक पीएमओ डॉ. वीपी पारीक की अध्यक्षता में बनी चार सदस्यो की कमेटी ने भी ऑपरेशन थिएटर में जाकर जांच की। इस कमेटी में डॉ. पारीक के अलावा गायनी की चिकित्सक डॉ. प्रतिभा सनाढ्य, कार्यवाहक नर्सिंग अधीक्षक ग्रेसी व मंत्रालय कार्मिक मनोज गोयल शामिल है।

 

इसमें पहले वार्ड में राउंड लिया और भर्ती मरीजों के परिजनो से बात की। इसके बाद ऑपरेशन थिएटर में जाकर भर्ती मरीजो के परिजनो के बयान लिए है। साथ ही आरोपित ट्रॉली मैन रामस्वरूप छीपा को बुलाकर सत्यापन भी करवाया गया है। जिसमें सामने आया कि आरोपित रामस्वरूप मरीज के परिजनो से वसूली कर रहा था।

 

 

कई मरीजो से हुई थी अवैध वसूली

 

गौरतलब है कि श्री सांवलियाजी जिला चिकित्सालय और महिला एवं बाल अस्पताल में मरीजों से अवैध वसूली का मामला शुक्रवार को सामने आया था। इसमें मंगलवाड़ निवासी एक प्रसूता राधा अहीर पत्नी किशन के परिजन चुन्नीलाल ने पुलिस चौकी में शिकायत दी।

 

इसमें ऑपरेशन थिएटर से डिलीवरी के बाद पोस्ट-ऑपरेटिव वार्ड में शिफ्ट करने के लिए ट्रॉली मैन ने 500 रुपए मांगे। यह पैसे नहीं देने पर ऑपरेशन थिएटर से मरीज को शिफ्ट करने से भी मना कर दिया।

 

इसकी पड़ताल में आया कि बेंगू के लाडपुरा निवासी लाड के के ऑपरेशन से जुड़वा बच्चे हुए है। उसकी मां ने बताया कि ऑपरेशन के बाद ट्रॉली मैन ने पैसे लिए थे। इसी तरह से भर्ती प्रसूता सीमा पत्नी प्रकाश ने भी कहा कि ऑपरेशन थिएटर से वार्ड में शिफ्ट करने के पहले पति से पैसे लिए थे।

 

 

दो लिखित शिकायत भी मिली

 

इधर, मामला खुलने के बाद दो जने अस्पताल प्रबंधन को अवैध राशि वसूलने की शिकायत भी देकर गए है। जिन्हें भी अस्पताल प्रबंधन जांच रिपोर्ट में शामिल कर सकता है।

 

 

कुछ लोगों ने पैसा देने की बात स्वीकारी

 

अस्पताल के तीन-चार वार्डों में जांच की और भर्ती मरीज व परिजनो से अवैध राशि के बारे में पूछा गया। इसमें कुछ लोगों ने पैसा देने की बात स्वीकारी है। एसडीएम खटीक का कहना है कि लोग उन्हें नहीं जानते है।

 

सुरेश कुमार खटीक, एसडीएम

Show More
manish gautam
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned