आरोपी ने पुलिस हिरासत में खाया जहर, अस्पताल में कई थानों का जाप्ता तैनात

धोखाधड़ी मामले के आरोपी ने शनिवार आधी रात बाद पुलिस हिरासत में विषाक्त खा लिया। तबीयत बिगडऩे पर यहां के सांवलियाजी राजकीय सामान्य चिकित्सालय में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

चित्तौडगढ़़। धोखाधड़ी मामले के आरोपी ने शनिवार आधी रात बाद पुलिस हिरासत में विषाक्त खा लिया। तबीयत बिगडऩे पर यहां के सांवलियाजी राजकीय सामान्य चिकित्सालय में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। उसकी किडनियों ने काम बंद कर दिया। परिजनों ने पुलिस पर आरोपी को प्रताडि़त करने का आरोप लगाया। इस मामले में चंदेरिया थाना प्रभारी अनिल जोशी व एएसआइ विमल कुमार को लाइन हाजिर कर दिया।

जानकारी के अनुसार वल्लभनगर के पुरिया खेड़ी के ईश्वरसिंह (40) पुत्र खुमानसिंह के खिलाफ चंदेरिया थाने में सीमेंट खुर्दबुर्द कर धोखाधड़ी का मामला दर्ज था। चंदेरिया पुलिस 6 दिसंबर की रात करीब 11 बजे ईश्वरसिंह को उसके गांव से एक कार में बिठा चित्तौड़ रवाना हुई। रास्ते में कपासन मार्ग पर एक ढाबे पर पुलिसकर्मियों ने खाना खाया। लघुशंका जाने की बात कह ईश्वर ने जेब में रखा विषाक्त खा लिया। पुलिसकर्मी उसे चंदेरिया थाने ले गए, जहां देर रात उल्टी हुई। ईश्वर ने पुलिसकर्मियों को बताया कि विषाक्त खा लिया है। यह सुन थाना स्टाफ के हाथ-पांव फूल गए। वे रात करीब तीन बजे ईश्वर को लेकर सांवलियाजी अस्पताल पहुंचे, जहां आइसीयू में भर्ती कराया गया।

आसपास से बुलाया जाप्ता
इधर उदयपुर रेंज की पुलिस महानिरीक्षक विनिता ठाकुर ने चंदेरिया थाना प्रभारी अनिल जोशी व एएसआइ विमल कुमार को लाइन हाजिर कर दिया। मामले की जांच आइजी कार्यालय के एएसपी दशरथसिंह को सौंपी। सिंह रविवार शाम चित्तौड़ के सांवलियाजी अस्पताल पहुंचे। इस बीच कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सांवलियाजी अस्पताल में सदर, चंदेरिया, शंभूपुरा, विजयपुर और बस्सी थाना प्रभारियों सहित बड़ी संख्या में पुलिस जाप्ता तैनात किया है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned