कोरोना को लेकर सतर्क हुआ प्रशासन

चित्तौडग़ढ़. जिले में कोरोना संक्रमण की बढ़ती पदचाप को लेकर अग जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है। इसी को लेकर शुक्रवार को जिला कलक्टर के.के. शर्मा एवं एडीएम मुकेश कलाल ने थोक सब्जी मंडी, रेलवे स्टेशन एवं जिला महिला एवं बाल चिकित्सालय का औच्चक निरीक्षण किया। कलक्टर का इस दौरान सबसे ज्यादा जोर सोशल डिस्टेसिंग एवं मास्क लगाने के लिए लोगों को प्रेरित करने पर रहा।

By: Avinash Chaturvedi

Published: 24 Jul 2020, 09:31 PM IST

चित्तौडग़ढ़. जिले में कोरोना संक्रमण की बढ़ती पदचाप को लेकर अग जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है। इसी को लेकर शुक्रवार को जिला कलक्टर के.के. शर्मा एवं एडीएम मुकेश कलाल ने थोक सब्जी मंडी, रेलवे स्टेशन एवं जिला महिला एवं बाल चिकित्सालय का औच्चक निरीक्षण किया। कलक्टर का इस दौरान सबसे ज्यादा जोर सोशल डिस्टेसिंग एवं मास्क लगाने के लिए लोगों को प्रेरित करने पर रहा।
जिला कलक्टर के. के. शर्मा करीब सुबह दस बजे एडीएम मुकेश कलाल के साथ शहर की थोक फल एवं सब्जी मंडी पहुंचे। जहां पर मंडी सचिव ने उनकी अगुवानी की। इसके बाद अधिकारियों ने मंडी का दौरा किया। इस दौरान जिला कलक्टर ने इस बात पर अपनी नाराजगी जताई कि लोग वहां पर सोशल डिस्टेसिंग की पालना नहीं कर रहे है। उन्होंने मंडी सचिव संतोष मोदी से कहा कि मंडी में आने वाला हर व्यक्ति मास्क लगाए और सोशल डिस्टेसिंग की पालना करे और कम से कम दो गज की दूरी बनाकर अपना व्यवसाय करे यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने मंडी सचिव को यह भी हिदायत दी कि वे किसी भी दिन अचानक आ सकते है। इसके बाद कलक्टर जिला रेलवे स्अेशन पहुंचे जहां पर स्टेशन अधीक्षक सुभाष चन्द्र पुरोहित से उन्होंने ट्रेनों की जानकेारी ली और यहां पर ट्रेन के समय आने वाले यात्रियों की जांच एवं सोशल डिस्टेसिंग के निर्देश भी दिए। इसके बाद वे उदयपुर रोड स्थिति एमपी बिरला हास्पीटल भी पहुंचे जहां पर उन्होंने व्यवस्थाओं को देखा। इस दौरान हास्पीटल के चिकित्सक डॉ. मधुप बक्षी से विस्तार से चर्चा की। इसके बाद प्रबंधन से भर्ती रोगियों की कोविड जांच के लिए भी कहा गया।
अस्पताल में रजिस्टर में हस्ताक्षर ही नहीं
जिला कलक्टर के.के. शर्मा एवं एडीएम मुकेश कलाल ने करीब ११ बजे जिला महिला एवं बाल चिकित्सालय का भी औच्चक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने नर्सिंग अधीक्षक के कक्ष में स्टाफ की हाजरी रजिस्टर को भी चेक किया। जिसमें कई नर्सिंग कर्मचारियों ने पिछले चार से पांच दिनों से अपने हस्ताक्षर नहीं किए है। ऐसे कर्मचारियों के नाम के आगे खाली पड़े खानों में कलक्टर ने क्रास भी लगाया। इसके बाद जिला महिला एवं बाल चिकित्सालय के प्रभारी डॉ. जयसिंह मीणा को यह भी निर्देश दिए कि ऐसे लोगों की सूची तैयार कर उन्हें भेजी जाए। इसके बाद उन्होंने एनआईसीयू वार्ड का भी दौरा कर व्यवस्थाओं को देखा। वहीं गायनीक वार्ड को भी निरीक्षण किया और वहां भर्ती रोगियों से व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। अस्पताल परिसर में बिना मास्क लगाए नजदीक बैठे रोगियों के परिजनों को देख उन्होंने नाराजगी जताई कि कोरोना महामारी में ना तो सोशल डिस्टेसिंग की पालना हो रही है और ना ही लोग मास्क लगा कर बैठे है। इस दौरान स्वयं कलकटर ने भी लोगों से मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेसिंग की पालना करने की अपील की।

Avinash Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned