किसान की मृत्यु पर साढ़े पांच लाख का अवार्ड पारित

जिला उपभोक्ता प्रतितोष मंच के पारित निर्णय में चित्तौडग़ढ़-प्रतापगढ़ दुग्ध उत्पादक संघ की ओर से पशु पालकों के लिए लाई गई राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना के तहत कृषि कार्य करते समय दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर दो पशु पालकों को 5.5 लाख रुपए बीमित राशि का भुगतान किए जाने के आदेश दिए।

By: jitender saran

Published: 16 Oct 2020, 10:57 AM IST

चित्तौडग़ढ़.
जिला उपभोक्ता प्रतितोष मंच के पारित निर्णय में चित्तौडग़ढ़-प्रतापगढ़ दुग्ध उत्पादक संघ की ओर से पशु पालकों के लिए लाई गई राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना के तहत कृषि कार्य करते समय दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर दो पशु पालकों को 5.5 लाख रुपए बीमित राशि का भुगतान किए जाने के आदेश दिए। गुरजनिया निवासी सोहनी बाई जाट व जवानपुरा निवासी जेतु बाई गुर्जर ने अधिवक्ता शिवनारायण जाट एवं प्रभुलाल चौधरी के जरिए मंच में परिवाद पेश किया। परिवादी में बताया कि उनके पति रामेश्वरलाल व किशनलाल दुग्ध समिति में दुग्ध विक्रय कर सदस्यता ली। उनका दुग्ध डेयरी के जरिए राज सुरक्षा कवच बीमा योजना के तहत प्रीमियम राशि लेकर पांच लाख का दुर्घटना बीमा किया था। दोनों की अलग-अलग दुर्घटनाओं में मृत्यु हो गई। डेयरी के जरिये बीमा कम्पनी में दावा प्रस्तुत किया, लेकिन बीमा कम्पनी ने सदस्यों की सूची पर विवाद उत्पन्न कर पशु पालकों को बीमा राशि भुगतान करने से मना कर दिया। मंच अध्यक्ष अध्यक्ष प्रभुलाल आमेटा, सदस्य राजेश्वरी मीणा व सदस्य अरविंद कुमार भट्ट ने फैसला सुनाया।

jitender saran Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned