घरों में ही भगवान महेश की पूजा,कोरोना से मुक्ति की कामना

भगवान महेश की वंशोत्पति दिवस महेश नवमी पर्व रविवार को जिले में माहेश्वरी समाज के लोगों ने उत्साह से मनाया। हालांकि इस बार कोरोना संकट के चलते लॉकडाउन होने से शोभायात्रा जैसे सार्वजनिक आयोजन नहीं किए गए। समाज के लोगों ेने घरों में नए वस्त्रों में भगवान शिव की पूजा की व शिवलिंग पर अभिषेक किया। इस मौके पर राष्ट्र, प्रदेश व समाज में खुशहाल बनी रहने के साथ कोरोना आपदा से जल्द मुक्ति मिलने की कामना भी की गई। गौशालाओं में जाकर गायों को हरा चारा भी डाला गया।

By: Nilesh Kumar Kathed

Updated: 01 Jun 2020, 12:44 AM IST


चित्तौडग़ढ़. भगवान महेश की वंशोत्पति दिवस महेश नवमी पर्व रविवार को जिले में माहेश्वरी समाज के लोगों ने उत्साह से मनाया। हालांकि इस बार कोरोना संकट के चलते लॉकडाउन होने से शोभायात्रा जैसे सार्वजनिक आयोजन नहीं किए गए। समाज के लोगों ेने घरों में नए वस्त्रों में भगवान शिव की पूजा की व शिवलिंग पर अभिषेक किया। इस मौके पर राष्ट्र, प्रदेश व समाज में खुशहाल बनी रहने के साथ कोरोना आपदा से जल्द मुक्ति मिलने की कामना भी की गई। गौशालाओं में जाकर गायों को हरा चारा भी डाला गया।
नगर माहेष्वरी सभा के अध्यक्ष सत्यनारायण आगाल, महामंत्री राजेष ईनाणी के नेतृत्व में समाज के पदाधिकारियों ने रविवार को गांधीनगर गौशाला में गायों को गुड, नमक व चारा खिलाकर गौ सेवा से महेश नवमी महोत्सव की शुरूआत की। इस मौके पर पदाधिकारी सुनील कलंत्री, सत्यनारायण ईनाणी, राधेष्याम लढा, गोपाल मूंदडा, सत्यनारायण तोषनीवाल, भरत लढ़ा, दषरथ काबरा, नरेन्द्र डाड, माहेश्वरी महिला संगठनों से लीला आगाल, जया तोषनीवाल, सीमा काबरा, कोशल्या आगाल, गीता खटोड, मंजू तोषनीवाल आदि मौजूद थे। । प्रवक्ता लक्ष्मीनारायण डाड ने बताया कि महेषनवमीं पर समाज बंधुओं ने अपने-अपने घरों में ही भगवान महेश की पूजा अर्चना कर सामुहिक आरती की। घर पर ही तैयार किए गये मिष्ठान का भगवान का भोग लगाकर सबने परिवार के साथ प्रसाद ग्रहण किया । महिलाओं ने नवीन वस्त्राभुषण से सुसज्जित होकर घर द्वार पर रंगोली व दीपमालिका सजाकर उत्साह प्रदर्शित किया। नगर सभा चित्तौडगढ की ओर से सोशल मीडिया पर ही महेश नवमी की शुभकामना देने के साथ अगले वर्ष सामूहिक रूप से भव्य आयोजन का संकल्प दोहराया। वरिष्ठ संरक्षक रामेष्वरलाल काबरा ने गिलूण्ड, घटियावली, शंभुपुरा, आदित्यपुरम, पांडोली, बडोदिया, नगरी, चन्देरिया आदि आसपास के गांवो में भी महेश नवमी मनाने पर साधुवाद दिया।
जिला माहेश्वरी महिला संगठन और नगर महासभा के तत्वावधान में नगर माहेश्वरी महिला संगठन द्वारा महेश नवमी के अवसर पर भजन प्रतियोगिताए सलाद प्रतियोगिता,मेहंदी प्रतियोगिता और 50 वर्ष से ऊपर वरिष्ठ नागरिकों के लिए सामाजिक सन्देश के साथ फोटो प्रतियोगिता आयोजित की गई । नगर अध्यक्ष जया तोषनीवाल व नगर सचिव सीमा काबरा ने बताया कि प्रतियोगिताओ के परिणाम शीघ्र घोषित किए जाएंगे।
माहेश्वरी सेवा समिति ने मनाया महेश नवमी पर्व
माहेश्वरी सेवा समिति सेतु मार्ग द्वारा महेश नवमी पर्व मनाया गया। समिति के अध्यक्ष बालमुकन्द सोमानी ने समाजजन के साथ मिलकर सभी माहेश्वरी परिवारों को मिठाई दे कर बधाई दी। सभी परिवारों के साथ फोटो ले कर इसे कोरोनाकाल की यादगार महेश नवमी बना दिया। सभी परिवारों को अपने घर मे रहकर भगवान महेश की पूजा अर्चना करने के लिए भी कहा।
कार्यकारिणी के सदस्यों के साथ मिलकर मास्क लगाकर एक जगह भगवान महेश की पूजा की। कार्यकारिणी सदस्यों में बालकिशन लढ़ा, राजेश धुत,बद्रीलाल काबरा, सुशील कल, गोविंद काबरा, मुकेश सोमानी, प्रवीण लढ़ा आदि मौजूद थे।
घरों में परिवार संग भगवान की पूजा
महेश नवमी पर माहेश्वरी समाज के लोगों ने घरों में ही भगवान शिव की आराधना की। इसमें परिवार के सभी सदस्य शामिल हुए। नगर अध्यक्ष सत्यनारायण आगाल ने बताया कि इस मौके पर लोगों ने कोरोना से जल्द मुक्ति मिलने एवं समाज व देश में खुशहाली की कामना की।

Nilesh Kumar Kathed Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned