सीएम ने बजट में नहीं की घोषणा, फिर भी यहां खुलेगा मेडिकल कॉलेज

सीएम ने बजट में नहीं की घोषणा, फिर भी यहां खुलेगा मेडिकल कॉलेज

kalulal lohar | Updated: 12 Aug 2019, 10:34:40 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India

चित्तौडग़ढ़ में एक बार फिर मेडिकल कॉलेज खुलने की आस जग गई है। चिकित्सा विभाग की तीन सदस्यीय टीम ने मेडिकल कॉलेज को लेकर यहां सर्वे किया है।

चित्तौडग़ढ़. चित्तौडग़ढ़ में एक बार फिर मेडिकल कॉलेज खुलने की आस जग गई है। चिकित्सा विभाग की तीन सदस्यीय टीम ने मेडिकल कॉलेज को लेकर यहां सर्वे किया है।
प्रदेश में पिछली कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल के अंतिम साल में चित्तौडग़ढ़ सहित प्रदेश के कई जिलों में मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा की थी, लेकिन इस संबंध में कार्रवाई आगे नहीं बढ़ पाई थी। मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा उस समय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट भाषण में की थी। अब सरकार बदलने के बाद एक बार फिर प्रदेश में चित्तौडगढ़़ सहित छह स्थानों पर मेडिकल कॉलेज खोलने को लेकर केंद्र सरकार से स्वीकृति लेने के लिए राज्य सरकार कि ओर से रिपोर्ट तैयार करवाई जा रही है। इस संबंध में चिकित्सा विभाग की तीन सदस्यीय टीम यहां सांवलियाजी राजकीय सामान्य चिकिसालय पहुंची। टीम ने सांवलियाजी अस्पताल व महिला एवं बाल चिकित्सालय का निरीक्षण कर पीएमओ डॉ. दिनेश वैष्णव से जानकारी ली। मेडिकल कॉलेज शिक्षा निदेशक डॉ. मुकेश चतुर्वेदी, डॉ. मनोज गर्ग सहित तीन सदस्यीय टीम ने यहां प्रतिदिन आने वाले मरीजों की संख्या, होने वाले ऑपरेशन, प्रसव के बारे तथा अस्पताल भवन के बारे में जानकारी जुटाते हुए रिकार्ड लिया। सर्वे टीम के साथ पीएमओ डॉ. दिनेश वैष्णव, हेल्थ मैनेजर विकास शर्मा, मनोज गोयल सहित अस्पताल प्रशासन मौजूद रहा।
मापदंडों पर खरा उतर रहा हमारा अस्पताल
जानकारी के अनुसार मेडिकल कॉलेज खुलने के लिए जो मापदंड बने हुए उसके अनुसार जिला अस्पताल लगभग पूरी तरह खरा उतरा है। जिले में पिछले दो चुनाव से ही मेडिकल कॉलेज का मुद्दा भी उठने लगा है। दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों का यहां पर मेडिकल कॉलेज का मुद्दा प्रमुखता से रहता है।
यह होगा फायदा
चित्तौडग़ढ़ में मेडिकल कॉलेज खुलता है तो मरीजों को चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतर सुविधाएं मिल सकेगी। साथ ही गंभीर रोगों के उपचार के लिए सुपर स्पेशलिस्ट मिलेंगे, जिससे लोगों को इलाज कराने के लिए जयपुर, उदयपुर, अहमदाबाद नहीं जाना पड़ेगा। डॉक्टरों के साथ-साथ यहां पर कई जांच सुविधाएं भी उपलब्ध हो सकेगी।

चुनावी घोषणा पत्र में था मुद्दा
वर्ष 2013 में तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने अपने अंतिम बजट में चित्तौडग़ढ़ में मेडिकल कॉलेज की घोषणा थी, लेकिन उसके बाद हुए चुनाव में भाजपा सरकार बनी। मेडिकल कॉलेज का प्रस्ताव फाइल में रह गया, पिछले वर्ष नवंबर में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने यहां मेडिकल कॉलेज खोलने के वादे को चुनावी घोषणा पत्र में भी शामिल किया।

पूर्व में कांग्रेस शासन में मेडिकल कॉलेज की घोषणा सिर्फ दिखावा थी। इसके लिए जमीनी स्तर पर कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। हाल ही केन्द्र से टीम यहां आई है। राज्य सरकार की ओर से चित्तौडग़ढ़ में मेडिकल कॉलेज के लिए प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भिजवाने पर केन्द्र सरकार से प्रस्ताव स्वीकृत करवाकर हम लाएंगे।
चन्द्रभानसिंह आक्या, विधायक चित्तौडग़ढ़
चित्तौडगढ़़ में मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए 2013 में बजट में घोषणा की गई थी, लेकिन हमारी सरकार नहीं बनी और जो सरकार बनी उसने प्रयास नहीं किए। इस बार चुनाव प्रचार के दौरान भी मैंने वर्तमान सीएम के समक्ष मेडिकल कॉलेज खोलने की मांग रखी थी। भले ही मैं चुनाव हार गया लेकिन चित्तौड़ में मेडिकल कॉलेज खुलवाना मेरी जिम्मेदारी है और इसके लिए हर सम्भव प्रयास करूंगा।
सुरेंद्रसिंह जाड़ावत, पूर्व विधायक चित्तौडगढ़़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned