बरसाती पानी के नाले पर ही हो गया निर्माण

चित्तौडग़ढ़. एक ओर जहां पर जिला प्रशासन के अधिकारी बरसाती नालों की साफ करने एवं पानी के बहाव में आने वाली रूकावटों को खोलने की बात कर रहे है वहीं शहर के जिला कलक्टर के बंगले के कुछ कदमों की दूरी पर ही बरसाती नाले पर निर्माण कर जिससे लोगों को खासी परेशानी हो रही है। नगर परिषद में इसकी शिकायत करने के बाद भी इस ओर कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है।

By: Avinash Chaturvedi

Published: 24 Jul 2020, 10:02 PM IST

चित्तौडग़ढ़. एक ओर जहां पर जिला प्रशासन के अधिकारी बरसाती नालों की साफ करने एवं पानी के बहाव में आने वाली रूकावटों को खोलने की बात कर रहे है वहीं शहर के जिला कलक्टर के बंगले के कुछ कदमों की दूरी पर ही बरसाती नाले पर निर्माण कर जिससे लोगों को खासी परेशानी हो रही है। नगर परिषद में इसकी शिकायत करने के बाद भी इस ओर कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है। इतना ही नहीं नाले का ढक कर इसे अपने लिए आम रास्ताबना कर इस पर गेट भी लगवा दिया गया।
शहर के जिला कलक्टर के आवास से कूछ कदमों की दूरी पर वन विभाग कार्यालय भवन की दीवार से स्ट कर वर्षों से एक बरसाती नाला बहता है। जो पिछले हिस्से के पानी को मुख्य रोड के नाले में पहुचाने में सहायक है। यहां पर हाल ही में एक नाले के समीप एक आवास में दुकानें का निर्माण किया गया। जहां पर एक मेउिकल स्टोर संचालित हो रहा है। अब मकान का रास्ता नाले की तरफ से करने के लिए पूरे नाले को ही पट्टियों से निर्माण कर उसे ढक दिया गया। इस कारण इसके पिछले हिस्से में निर्माण के कारण नाला पूरी तरह से जाम हो गया है। अब स्थिति यह हो गई है कि पूरा नाला गंदगी से अटा पड़ा है। इसकी सफाई भी करना मुश्किल हो रहा है। स्थिति यह है कि इस नाले पर चढ़ऩे के लिए पत्थर की सीढियां भी बना दी गई है।
बरसात में भरेगा पानी
नाले की सफाई नहीं हुई तो इस मकान के पिछे के हिस्से की सड़क का पानी की निकासी नहीं हो सकेगी। ऐसे में बरसात में पानी पूरी तरह से भर जाएगा। परिषद के अधिकारी एवं कर्मचारी मकान मालिक को इस निर्माण को हटाने के लिए कई बार मौखिक रुप से कह चुके है लेकिन इसके बाद यहां पर आम रास्ता बनाकर इसका उपयोग किया जा रहा है।
नाले पर बना दिया दरवाजा
स्थिति यह है कि यहां पर पट्टियां लगाकर एक दरवाजा भी लगाया गया था। जो आधा स्वयं की भूमि पर तो आधा नाले पर लगा हुआ था।
कैसे हो सफाई
हाल ही में जिला कलक्टर ने शहर का दौरा कर शहर के बरसाती नालों को सफाई करने के निर्देश दिए थे। वहीं उन्हीं के आवास के पास इस तरह से नाले को बंद कर दिया गया। ऐसे में इसकी सफाई कैसे होगी यह समझ से परे है।

इनका कहना है...
मुझे इसकी जानकारी मिली है। इस नाले के निर्माण को हटाने के लिए मकान मालिक को कहा था, लेकिन अब तक नहीं हटाया। इसे कार्रवाई कर जल्द ही हटाया जाएगा। यह बरसाती नाला है और इस तरह का अवैध निर्माण बर्दाश्त नहीं होगा।
- संदीप शर्मा, सभापति नगर परिषद चित्तौडग़ढ़

Avinash Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned