चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया

चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया
चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया,चित्तौड़ डेयरी के टोण्ड दूध पर संकट, सीआरपीएफ ने चेताया

Jitender Saran | Updated: 09 Oct 2019, 11:30:00 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India

चित्तौडग़ढ़-प्रतापगढ़ दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ की ओर से सप्लाई किए जा रहे छह लीटर पैक वाला टोण्ड दूध बिक्री को लेकर संकट में आ गया है। सीआरपीएफ नीमच ने अपने यहां इस पैकिंग वाले दूध पर यह कहते हुए एक दिन के लिए रोक लगा दी कि दूध पिछले दो दिन से दुर्गन्धयुक्त आ रहा है और ऐसा दूध जवानों को नहीं पिलाया जा सकता। सीआरपीएफ में यहां से प्रतिदिन करीब एक हजार लीटर दूध की सप्लाई की जाती है। सीआरपीएफ के अधिकारियों की ओर से दी गई चेतावनी के बाद यहां डेयरी प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।

चित्तौडग़ढ़. चित्तौडग़ढ़-प्रतापगढ़ दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ की ओर से सप्लाई किए जा रहे छह लीटर पैक वाला टोण्ड दूध बिक्री को लेकर संकट में आ गया है। सीआरपीएफ नीमच ने अपने यहां इस पैकिंग वाले दूध पर यह कहते हुए एक दिन के लिए रोक लगा दी कि दूध पिछले दो दिन से दुर्गन्धयुक्त आ रहा है और ऐसा दूध जवानों को नहीं पिलाया जा सकता। सीआरपीएफ में यहां से प्रतिदिन करीब एक हजार लीटर दूध की सप्लाई की जाती है। सीआरपीएफ के अधिकारियों की ओर से दी गई चेतावनी के बाद यहां डेयरी प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।
जानकारी के अनुसार सीआरपीएफ नीमच में चित्तौडग़ढ़ डेयरी से प्रतिदिन करीब एक हजार लीटर दूध की आपूर्ति की जाती है। पिछले दो दिन से डेयरी की ओर से सप्लाई किए जा रहे छह लीटर की पैकिंग वाला टोण्ड दूध दुर्गन्धयुक्त पाए जाने की शिकायत सीआरपीएफ के संबंधित अधिकारी ने डेयरी प्रशासन से की है। चेतावनी भी दी है कि ऐसा दूध सीआरपीएफ में तैयार किए जा रहे जवानों को नहीं पिलाया जा सकता। यदि दूध की गुणवत्ता ऐसी ही रहती है तो दूध की खरीद बंद कर दी जाएगी। सीआरपीएफ के अधिकारी दुर्गा प्रसाद ने बताया कि छह लीटर पैकिंग वाले टोण्ड दूध की आपूर्ति पर एक दिन के लिए रोक लगा दी गई है। चित्तौडग़ढ़ डेयरी से इस पैकिंग वाले दूध का सिर्फ एक कैरेट मंगवाया गया है, इस दूध को पहले अधिकारी पीकर देखेंगे। इसके बाद आगे का निर्णय किया जाएगा। हालाकि सीआरपीएफ ने टोण्ड की जगह शक्ति दूध मंगवाया है। सीआरपीएफ की चेतावनी के बाद बुधवार को डेयरी प्रशासन में खलबली मची रही। अब यह पता लगाया जा रहा है कि आखिर कहां और किसकी चूक हुई, जिससे दूध में दुर्गन्ध आने की शिकायत मिली है।
पता लगाया जा रहा है
डेयरी के छह लीटर टोण्ड दूध के पैक में दुर्गन्ध आने की शिकायत सीआरपीएफ नीमच से मिली है। हालाकि अन्य जगह भी दूध की सप्लाई हुई, लेकिन कहीं से भी कोई शिकायत नहीं आई। फिलहाल एक दिन के लिए सीआरपीएफ ने टोण्ड दूध की बजाय शक्ति दूध मंगवाया है। कहां चूक हुई है, इस बारे में पता लगाया जा रहा है। डेयरी प्रशासन दूध की गुणवत्ता को लेकर कोई समझौता नहीं करता।
एम.ए. सिद्दिकी
प्रभारी, विपणन, चित्तौडग़ढ़-प्रतापगढ़ दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ चित्तौडग़ढ़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned