सीटी स्कैन जांच बंद, मरीजो को निजी सेंटर जाना मजबूरी

चार दिन से खराब पड़ी सीटी स्कैन मशीन के कारण 15 से 20 मरीज रोजाना निजी सेंटर के चक्कर लगा रहे है

By: manish gautam

Published: 20 Jan 2018, 10:24 PM IST

चित्तौडग़ढ़।

श्री सांवलियाजी जिला चिकित्सालय में पीपीपी मोड पर लगी सीटी स्कैन मशीन चार दिन से खराब पड़ी है। ऐसे में मरीजों को निजी सेंटरो पर जांच करवाना मजबूरी हो गई है। दिन में करीब 15 से 20 मरीज निजी सेंटर पर चक्कर लगा रहे है।

 

दूसरी तरफ भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना व अन्य नि:शुल्क लाभार्थियों को भी मुफ्त जांच का फायदा नहीं मिल पा रहा है। वहीं अस्पताल में जहां कम राशि में जांच हो रही थी, मरीजों को निजी सेंटरो पर मोटी रकम खर्च करनी पड़ रही है।

 

 

खराब एसी बन रहे परेशानी

 

अस्पताल में सीटी स्कैन कक्ष में लगे तीनो एसी काम नहीं कर रहे है। ऐसे में कमरे का तापमान मशीन के अनुकूल नहीं रहता है, जिससे सीटी स्कैन मशीन बार-बार गर्म होकर बंद हो रही है।

 

 

भर्ती मरीजो को भी निजी सेंटरो पर ले जाना पड़ रहा

 

घोड़ा चौराहा निवासी घींसी माली के चोट लगने पर उनको चिकित्सको ने सिर की सीटी स्कैन करवाने को कहा, ऐसे में भर्ती मरीज घीसी का परिजन निजी केन्द्रो पर लेकर गए। मशीन में तकनीकी खराबी का कारण बता उन्हें निजी केन्द्र का रास्ता बता दिया है।

 

इसी तरह से सुखवाड़ा पंचायत के कजोड़मल के भी सिर का सीटी स्कैन चिकित्सको ने लिया। उन्हें भी अस्पताल से डेढ़ किमी दूर स्थित निजी सेंटर पर जान करवाने जाना पड़ा।

 

 

वेटिंग बढक़र 30 पहुंच गई

 

अस्पताल में रोज जहां 15 से 20 मरीज सीटी स्कैन रोज होती थी। वहीं करीब आठ-दस की वेटिंग भी रहती थी। पिछले चार दिन से मशीन बंद होने के कारण यह वेटिंग बढक़र 30 के करीब पहुंच गई है।

 

जल्द शुरू हो जाएगी

 

पीपीपी मोड पर स्थापित सीटी स्कैन मशीन में खराबी आई है। इसके लिए संबंधित कंपनी सूचना कर दी है। तकनीकी टीम मशीन को दुरस्त कर रही है, जल्द ही मरीजो को सुविधा मिलने लगेगी।

 

डॉ. वीपी पारीक, कार्यवाहक पीएमओ

Show More
manish gautam
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned