ऋण जाल में फंसा चित्तौडग़ढ़ से सात समंदर पार अमरीकियों से ऑनलाइन ठगी

महाराणा प्रताप सेतु मार्ग पर एक डेंटल क्लिनिक के ऊपर तीसरी मंजिल पर चल रहे फर्जी कॉल सेंटर पर ऑनलाइन ठगी करते हुए कोतवाली चित्तौडग़ढ़ थाना पुलिस ने बुधवार देर रात छापा मारकर 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए सभी युवक अमेरिका की लेंडिंग क्लब नामक संस्था के कर्मचारी बनकर काम कर रहे थे।

By: Nilesh Kumar Kathed

Published: 05 Sep 2019, 11:06 PM IST


फर्जी कॉल सेंटर पर छापा, पांच आरोपी गिरफ्तार
मोबाइल द्वारा कॉल व मैसेज से 100 से 1000 डॉलर के गिफ्ट कार्ड से ठगी
चित्तौडग़ढ़. महाराणा प्रताप सेतु मार्ग पर एक डेंटल क्लिनिक के ऊपर तीसरी मंजिल पर चल रहे फर्जी कॉल सेंटर पर ऑनलाइन ठगी करते हुए कोतवाली चित्तौडग़ढ़ थाना पुलिस ने बुधवार देर रात छापा मारकर 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए सभी युवक अमेरिका की लेंडिंग क्लब नामक संस्था के कर्मचारी बनकर काम कर रहे थे। ये युवक अमरीकियों को ऋण मुहैया कराने के नाम पर उनके बैंक खातों में ऋण की कुछ राशि एडवांस जमा करवा उनसे वॉलमार्ट गिफ्ट कार्ड बनवा उसके नंबर व पिन लेकर उनके खाते से रुपए निकाल लेते थे। आरोपियों को गुरूवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया जहां से उन्हें पांच दिन के रिमांड पर भेज दिया गया।
पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल ने बताया कि पकड़े गए सभी युवा 15 से 20 हजार के मासिक वेतन पर पिछले कुछ दिनों पूर्व ही गुजरात व मध्यप्रदेश से यहां काम के लिए लाए गए थे। सभी की उम्र 20 से 32 साल करीब है। संचालक इन्हें अंग्रेजी भाषा की स्क्रिप्ट व मैसेज तैयार करा कर अमरीकियों को फंसा कर प्रतिदिन डॉलर में कमाई कर रहा था। संचालक एक Óमोबाईल एपÓ के माध्यम से आईडी बनाकर कार्य करने वाले युवकों से मोबाइल के जरिए अमेरिकियों को ऋण मुहैया कराने का मैसेज भेजते थे। इनमें से कुछ ऋण के लालच में आकर आरोपियों को फोन करते थे तब यह युवक उनकी कॉल को संचालक को फॉरवर्ड कर देते थे। फॉरवर्ड कॉल से संचालक अमेरिकी अंग्रेजी भाषा में अमेरिकियों को ऋण की राशि देने के लिए राजी कर स्वीकृत राशि का कुछ हिस्सा उनके खाते में जमा करवा देता था। उनका खाता चेक करने के लिए उन्हें वॉलमार्ट गिफ्ट कार्ड बनवा उस कार्ड के नंबर व पिन नंबर उनसे ले लिया करता था। जिससे उनके बैंक खातों में जमा सारी राशि अपने खातों में ट्रांसफर कर लेता था। संचालक कॉल सेंटर के भवन का किराया प्रतिमाह चुका रहा था।

शाम ७.३० से सुबह ५ बजे तक काम
शहर में कुछ समय पूर्व शुरू हुए इस कॉल सेंटर में कार्य करने वाले सभी युवकों के निकनेम थे जो शाम 7.30 बजे से प्रात: 5 बजे तक ऑफिस में काम कर रहे थे। सभी का खाना पीना व नाश्ता उनके टेबल पर ही पहुंच रहा था। कॉल सेंटर के बारे में मुखबीर से सूचना मिलने पर थानाधिकारी सुमेर सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ने साइबर सेल के राजकुमार सोनी के सहयोग से इस कार्रवाई को अंजाम दिया। छापे की कार्रवाई के दौरान सभी आरोपी मोबाइल पर कार्य करते हुए व्यस्त मिले जो पुलिस के पहुंचने पर भी नहीं भाग सके। पूछताछ में उन्होंने कुछ दिन पूर्व ही यहां आना बताया। पुलिस ने कार्यवाही के दौरान मौके से 6 मोबाइल, एक लैपटॉप, 6 कंप्यूटर व कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जप्त कर कोतवाली थाना पर धोखाधड़ी व आईटी एक्ट का मामला दर्ज किया है।

युवकों के नाम भी अमेरिकियों की तरह ही
आरोपी बीएससी व बीकॉम पढ़े लिखे थे एवं अच्छी अंग्रेजी बोलते थे। संचालक द्वारा उपलब्ध स्क्रिप्ट को कंप्यूटर स्क्रीन पर खोलकर अंग्रेजी में बोल कर अमेरिकियों से ठगी कर रहे थे।ठगी करने के लिए कॉल सेंटर में कार्य कर रहे युवकों ने अमेरिकियों की तरह ही अपने नाम रखे हुए थे। इन्होंने जस्टिन व्हाइट,जैक गेट्स, सेम विल्सन, पीटर आदि नाम रख रखे थे।

पुलिस ने मौके से इन आरोपियों को पकड़ा
पुलिस ने कार्रवाई के दौरान मौके से हाथीजन सर्कल थाना शमोल अहमदाबाद निवासी 26 वर्षीय पुनीत एच प्रसाद पिता हनुमान प्रसाद जैन, छतरपुर मध्य प्रदेश निवासी 24 वर्षीय श्रीवत्स देवम अर्जरिया पिता अनिल अर्जरिया, वटवा जिला अहमदाबाद निवासी 20 वर्षीय नीतीश तेली पिता बलराम साहू, कुंभा नगर मस्जिद के पास चित्तौडग़ढ़ निवासी 23 वर्षीय अमानत उर्फ बंटी पिता अयूब खान पठान एवं सज्जन नगर थाना अंबामाता उदयपुर निवासी 32 वर्षीय शाकिर हुसैन पिता सखावत हुसैन को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ के बाद उनके संचालक रसूलाबाद कॉलोनी शाहआलम अहमदाबाद सिटी गुजरात निवासी उस्मान पठान पिता अब्दुल गनी को नामजद किया है।

Nilesh Kumar Kathed
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned