गहलोत-पायलेट सार्वजनिक रूप से एक मंच पर, लेकिन दोनों में नहीं दिखा संवाद

चित्तौड़गढ़. मेवाड़ के हरिद्वार माने जाने वाले मातृकुण्डिया धाम पर शनिवार को किसान महापंचायत के बहाने कांग्रेस आलाकमान ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और विधायक सचिन पायलट को सार्वजनिक रूप से एक मंच पर नजर आए, लेकिन कार्यक्रम के दौरान दोनों के बीच दूरी नजर आई

By: Avinash Chaturvedi

Published: 28 Feb 2021, 11:21 AM IST

चित्तौड़गढ़. मेवाड़ के हरिद्वार माने जाने वाले मातृकुण्डिया धाम पर शनिवार को किसान महापंचायत के बहाने कांग्रेस आलाकमान ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और विधायक सचिन पायलट को सार्वजनिक रूप से एक मंच पर नजर आए, लेकिन कार्यक्रम के दौरान दोनों के बीच दूरी नजर आई। करीब डेढ़ घंटे तक चले कार्यक्रम के दौरान दोनों ने एक दूसरे से बातचीत नहीं की। एक दूसरे के भाषण के दौरान वे इधर-उधर या फिर मोबाइल देखते रहे। मंच पर गहलोत और पायलेट के बीच माकन बैठे रहे। दोनों ही बीच-बीच में माकन से बात करते रहे। हालांकि सभा की समाप्ति के बाद जब पार्टी नेताओं ने दोनों को हल भेंट किया तो दोनों खिलखिलाकर हंस पड़े। तीन विधानसभा सीटों के उपचुनाव का शंखनाद मानी जा रही इस महापंचायत में अच्छी खासी भीड़ जुटाकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खेमे ने आलाकमान को अपनी मजबूत पकड़ का संदेश भी दे दिया। कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अजय माकन अपने उद्बोधन के दौरान भीड़ पर खुशी जाहिर की।

हंगाो का डर, बिफरे जाट
सभा के दौरान गहलोत खेो के लोगों को सभा ों पायलट सार्थकों के हंगाो का डर भी सताता रहा। ाुयांत्री और अन्य बड़े नेताओं के आने से पूर्व पांडाल ों जब कुछ युवाओं ने सचिन पायलट के पक्ष ों नारेबाजी शुरू कर दी तो ाांडल विधायक राालाल जाट बिफर पड़े। उन्होंने इन युवाओं को पहले परिजनों की सौंगध दिलाई, फिर धाकाते हुए यहां तक कह दिया कि यदि चुप नहीं हुए तो पीछे बैठे हजारों किसान आ गए तो तुा भागते फिरोगे। जाट काफी गुस्से में दिखाई दिए। इसके बाद पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत, जिला कलक्टर, पुलिस अधीक्षक इन युवकों के पास पहुंचे। उन्होंने चुप रहने के लिए साझाया, लेकिन ये युवक रूक-रूककर नारेबाजी करते रहे तो वहां बड़ी संख्या पुलिसकार्मी खड़े कर दिए गए।पायलट ने चुप करायाांच पर पहुंचने के बाद जब पायलट ने अपने पक्ष ों नारेबाजी देखी तो उन्होंने हाथ से इशारा कर सार्थकों को चुप रहने के लिए कहा। पायलेट जब सबोधन कर रहे थे, तब भी कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर दी तो उन्होंने फिर कार्यकर्ताओं को चुप रहने के लिए कहा।

चाहकर भी बजट का विरोध नहीं कर पा रही
पायलट ने कहा कि हमारी सरकार का बजट बना। मुयमंत्री मौजूद है। बजट में सभी वर्गों का ध्यान रखा गया। भाजपा चाहकर भी उसका विरोध नहीं कर पा रही है। उन्होंने कहा कि जब भाजपा ने १६३ विधायक लेकर सरकार बनाई थी। उस समय कांग्रेेस के सिर्फ २१ विधायक थे, लेकिन उस समय भाजपा में जो घमण्ड था। उस समय तमाम कांग्रेस के साथियों ने एकजुटता का प्रदर्शन किया। आज भी कांग्रेस पार्टी इतनी मजबूत है कि आप जितनी साजिश रच लो, लेकिन हम लोग मजबूती से जीतकर निकलेंगे, यह संकल्प कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लिया है। उन्होंने कहा कि अनुशासन बनाकर सबकी बात हमको सुननी है। मंच के माध्यम से पायलट ने कहा कि आने वाले समय में जिस एकजुटता से हमको काम करना है। पायलट ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष जी जनता हमसे चाहती है कांग्रेसियों से कि हम एक उदाहरण पेश करें, उसमें आपको खरा उतरना है।

आंजना की धोती पर पायलट ने ली चुटकी
पायलट ने मंच पर बैठे सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना की तरफ इशारा करते हुए सभी मौजूद लोगों से कहा कि आप लोग इतनी बड़ी तादात में आज यहां आए है। आंजना भाषण दे रहे थे आज और धोती पहन रखी है। उन्होंने कहा कि आंजना धोती पहनकर अलग चमक रहे है। पायलट ने कहा कि माकन साहब अभी तो वह नहीं बोलेंगे मंच से, लेकिन इनके बारे में एक गाना है आंजना का। पायलट ने पाण्डाल में बैठे लोगों से पूछा कि आपने बाल और गाल वाला गाना सुना है।

Avinash Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned