संक्रमित से आए सम्पर्क में किस तरह बचे कोरोना के खतरे से

कोरोना वायरस कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के लिए ऐसे वायरस संक्रमित व्यक्ति से संपर्क में आए अथवा संक्रमित देशों से आने वाले यात्री एवं ऐसे यात्रियों के संपर्क में आए व्यक्तियों को होम क्वॉरेंटाइन में रखा जा रहा है। ऐसे व्यक्ति के हाथ पर निशान भी लगाया जाएगा ताकि यदि वे बाहर भी निकले तो पहचान में आ जाए और पुन: घर में भेजा जा सके। जिला प्रशासन नेे ऐसे लोगों से अपील की है कि किसी भी हालत में वे चिकित्सा विभाग की सलाह के बिना घर से बाहर नहीं आए।

By: Nilesh Kumar Kathed

Updated: 22 Mar 2020, 12:11 AM IST



चित्तौडग़ढ़. कोरोना वायरस कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के लिए ऐसे वायरस संक्रमित व्यक्ति से संपर्क में आए अथवा संक्रमित देशों से आने वाले यात्री एवं ऐसे यात्रियों के संपर्क में आए व्यक्तियों को होम क्वॉरेंटाइन में रखा जा रहा है। राज्य सरकार ने ऐसे व्यक्तियों को लेकर शनिवार को एडवायजरी जारी की है। ऐसे व्यक्ति के हाथ पर निशान भी लगाया जाएगा ताकि यदि वे बाहर भी निकले तो पहचान में आ जाए और पुन: घर में भेजा जा सके। जिला प्रशासन नेे ऐसे लोगों से अपील की है कि किसी भी हालत में वे चिकित्सा विभाग की सलाह के बिना घर से बाहर नहीं आए। किसी भी परिस्थिति में किसी भी सामाजिकए धार्मिक सभा में शामिल ना हों।होम क्वॉरेंटाइन में रहने वाले व्यक्ति के परिवार वालों को चाहिए कि ऐसे व्यक्ति की देखभाल परिवार के किसी जिम्मेदार एक ही व्यक्ति द्वारा की जानी चाहिए। उपयोग में लाए जा रहे बिस्तरए कपड़े अन्य दैनिक सामान अथवा त्वचा के सीधे संपर्क में आने से बचना चाहिए।आगंतुकों को होम क्वेरेंटाइन में रहने वाले व्यक्ति से नहीं मिलने देना चाहिए।

रखी जाने वाली सावधानियां
- होम क्वॉरेंटाइन में रहने वाले को चाहिए कि यथासंभव ऐसे कमरे में रहे जो हवादार हो एवं उस कमरे में ही अटैच टॉयलेट हो।
- परिवार के किसी अन्य सदस्य को यदि उसी कमरे में रहना पड़े तो दोनों व्यक्तियों के बीच कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखनी आवश्यक है।
- वह घर में निवास करने वाले अन्य व्यक्तियों विशेषकर बुजुर्गों,गर्भवती महिलाओं, बच्चों और सहरुग्णता वाले व्यक्तियों से दूर रहे। आगंतुकों मित्र रिश्तेदार आदि से नहीं मिलें।

- अपने हाथों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह समय.समय पर रगड़ कर साफ़ करें अथवा अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें।
- दैनिक उपयोग में आने वाले घरेलू सामान आपस में साझा ना करें जैसे पानी का ग्लासए कप व अन्य बर्तनए तौलियाए बिस्तरए मोबाइल और अन्य आईटम।
- सर्जिकल मास्क हर समय लगाए रखें। मास्क प्रति 6 से 8 घंटे के भीतर बदलें। पुराने मास्क को तत्काल नष्ट करें उसको दोबारा इस्तेमाल में नहीं लाएं। रोगी की देखभाल करने वाले व्यक्तियों एवं अन्य परिवार जनों द्वारा पहने जाने वाले मास्क साधारण ब्लीच सॉल्यूशन अथवा सोडियम हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन से विसंक्रमित करने के पश्चात जलाकर या जमीन में गहरा दबाकर नष्ट करने चाहिएं।
- वायरस के लक्षण खांसी, बुखारए सांस लेने में तकलीफ देने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से स्टेट कंट्रोल रूम 0141-2225624 और हेल्पलाइन नंबर 011.23978046 पर संपर्क करें।

.................
रेलवे सर्तक, एक मीटर की दूरी बनाएं रखे
कोरोना वायरस को लेकर एक दूसरे के बीच संक्रमण ना फैले इसके लिए रेलवे भी पूरी तरह से सतर्क दियाा। रेलवे ने आरक्षण खिड़की एवं टिकट खिड़की पर टिकट लेने आने वाले लोगों के बीच पर्याप् दूरी रहे इसके लिए एक-एक मीटर की दूरी पर पिली लाइन कर दी है। वहीं आरपीएफ के जवान वहां टिकट लेने आने वालों को भी इस बात के लिए सजग कर रहे है कि एक लाइन पर खड़े व्यक्ति से दूसरा एक मीटर की दूरी पर बनी लाइन पर ही खड़ा हो। रेलवे के अधिकारियों का मानान है कि एक दूसरे के बीच एक मीटर की दूरी से इस संक्रमण को काफी हद तक डाला जा सकता है।


वायरस रोकथाम एवं सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित
जिला कलक्टर ने आदेश जारी कर कोरोना वायरस कोविड.19 की प्रभावी रोकथाम एवं नियंत्रण के संबंध में सूचनाओं का आदान प्रदान एवं अन्य व्यवस्था के लिए ििजला कलक्टर कार्यालय के कमरा नंबर 18 में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है। नियंत्रण कक्ष के प्रभारी अधिकारी अतिरिक्त जिला कलक्टर मुकेश कुमार कलाल होंगे। उनके मोबाइल नंबर 91665.50509 है। नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नंबर 01472-244923 है।नियंत्रण कक्ष में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की पारी वाइज ड्यूटी लगाई जाकर निर्देशित किया है कि वह अपनी उपस्थिति तत्काल प्रभारी अधिकारी के समक्ष दिया जाना सुनिश्चित करें। संबंधित विभागों विभागाध्यक्षों को निर्देेश दिए गए है कि वे अपने विभाग के संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों को कार्यमुक्त कर सूचना जिला कार्यालय को देते हुए अपनी उपस्थिति नियंत्रण कक्ष में देने के लिए पाबंद करें।आदेशानुसार प्रथम पारी प्रात: 6 बजे से मध्यान्ह 2 बजे तकए दूसरी पारी मध्यान्ह 2 बजे से रात्रि 10 बजे तक तथा तीसरी पारी रात्रि 10 बजे से प्रात: 6 बजे तक रहेगी। प्रथम पारी में मंजूर खा पठान जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी चित्तौडग़ढ़, कैलाशचंद्र मालव व्याख्याता राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय ;बालिका तथा नारायण लाल तेली सहायक कर्मचारी जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक को लगाया गया है।दूसरी पारी में दिनेश जागा उपनिदेशक कृषि विस्तार चित्तौडग़ढ़, मोहम्मद अकरम नीलगर कृषि पर्यवेक्षक सहायक निदेशक कृषि तथा सोहन लाल खोरवाल सहायक कर्मचारी सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग चित्तौडग़ढ़ एवं तीसरी पारी में प्रहलाद राय आमेरिया उप रजिस्ट्रार सहकारी समिति, कुलदीप मीणा सहायक कर्मचारी कार्यालय डाइट चित्तौडग़ढ़ तथा बाबूलाल छीपा सहायक कर्मचारी कार्यालय उपश्रम आयुक्त चित्तौडग़ढ़ को लगाया गया है। नियंत्रण कक्ष में आरक्षित दल में मोहम्मद रऊफ उपनिदेशक राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग चित्तौडग़ढ़, राहुल दशोरा कनिष्ठ सहायक कार्यालय राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग तथा सुरेश चंद्र शर्मा सहायक कर्मचारी कार्यालय अधिशासी अभियंता सार्वजनिक निर्माण विभागको लगाया गया है।

Nilesh Kumar Kathed
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned