भगवान सांवलिया सेठ का मंदिर दर्शनों के लिए हुआ बंद

कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरे के बाद जिले में मेवाड़ के कृष्णधाम सांवलियाजी मंदिर व प्र्रसिद्ध शक्तिपीठ जोगणियामाता भी दर्शनों के लिए बंद हो जाएंगे। चित्तौड़ दुर्ग पर स्थित कालिका माता मंदिर, मीरा मंदिर, जैन सातबीस देवरी मंदिर, नीलकंठ महादेव मंदिर आदि पहले ही दर्शनों के लिए बंद हो चुके है। प्रशासन ने गुरूवार रात मण्डफिया स्थित मेवाड़ के कृष्णधाम सांवलियाजी के मंदिर को आगामी आदेश तक बंद करने का फैसला किया है।

By: Nilesh Kumar Kathed

Published: 19 Mar 2020, 10:33 PM IST


चित्तौडग़ढ़. कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरे के बाद जिले में मेवाड़ के कृष्णधाम सांवलियाजी मंदिर व प्र्रसिद्ध शक्तिपीठ जोगणियामाता भी दर्शनों के लिए बंद हो जाएंगे। चित्तौड़ दुर्ग पर स्थित कालिका माता मंदिर, मीरा मंदिर, जैन सातबीस देवरी मंदिर, नीलकंठ महादेव मंदिर आदि पहले ही दर्शनों के लिए बंद हो चुके है। प्रशासन ने गुरूवार रात मण्डफिया स्थित मेवाड़ के कृष्णधाम सांवलियाजी के मंदिर को आगामी आदेश तक बंद करने का फैसला किया है। अतिरिक्त जिला कलक्टर एवं सांवलियाजी मंदिर मंडल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी मुकेशकुमार कलाल ने बताया कि मंदिर दर्शनार्थियों के दर्शन के लिए आगामी आदेश तक बंद किया जाता है। मंदिर की अन्य पारम्परिक व्यवस्था यथा आरती,पूजन आदि यथावत पूर्वानुसार पुजारी द्वारा पारम्परिक रूप से नियत समय पर किया जाएगा। उन्होंंने बताया कि सॉवलियाजी मंदिर में प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु एवं भक्तजन भगवान सॉवलिया सेठ के दर्शनार्थ देश विदेश से आते हैं। ऐसे में कोरोना वायरस फैलने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। इसी कारण मंदिर दर्शनों के लिए बंद किया जा रहा है। गौरतलब है कि दो दिन पहले प्रशासन ने मंदिर में प्रवेश सीमित करते हुए दोपहर १२ से २.३० बजे तक प्रवेश बंद रखने का निर्णय किया था।

बंद हो जाएंगे जोगणियामाता मंदिर के कपाट
मेवाड़,मालवा,हाडोती एवं कुंडाल में जनआस्था के प्रमुख केन्द्र जोगणियांमाता मंदिर कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए आगामी आदेश तक बंद रहेगा। जोगणियामाता शक्तिपीठ प्रबंध एवं विकास संस्थान की गुरूवार दोपहर बैठक बानोड़ा बालाजी के पंडित कैलाशशर्मा के सानिध्य व संस्थान अध्यक्ष भंवरलाल जोशी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में राज्य सरकार के निर्देशानुसार कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए एहतियातन जोगणियामाता मंदिर को दर्शनार्थियों के लिए शुक्रवार से राज्य सरकार के आगामी आदेश तक बंद रखने का फैसला हुआ। ये भी तय हुआ कि मंदिर में पुजारियों द्वारा माता पूजाअर्चना विधिवत रूप से होती रहेेगी। जोगणियामाता में आगामी 25 मार्च से लगने वाले नवरात्रि मेले के सभी कार्यक्रमों को भी स्थगित कर दिया है । नवरात्र के दौरान किसी प्रकार का कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम, भजन संध्या, रामलीला मंचन आदि नहीं होंगे। इसी के साथ ट्रस्ट की सभी धर्मशालाओं पर तालाबंदी रहेगी । बर्तन भंडार व बिस्तर भंडार भी बंद रहेगा। ऑनलाइन कर सकेंगे माताजी के दर्शननवरात्रि में जोगणियांमाता के दर्शन यूट्यूब चैनल पर ऑनलाइन होते रहेंगे। यज्ञशाला व गायत्री मंदिर पर दुर्गापाठ, गायत्रीपाठ व शतचंडी यज्ञ पंडितों द्वारा किए जाएंगे । बैठक के दौरान पुजारी योगेश कुमार,सत्यनारायण जोशी,रामसिंह चुंडावत, प्रेमचंद धाकड़,शांतिलाल धाकड़,रामसिंह आदि मौजूद रहे।

Nilesh Kumar Kathed
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned