रन फोर वन में नौ सो धावकों ने लगाई साढ़े तीन किलोमीटर की दौड़

राज्य एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा पर्यावरण की सुरक्षा एवं आम व्यक्तियों को पौधे लगाने के लिए प्रेरित करने एवं पौधों को गोद लेने के उद्देश्य से रविवार को सुबह 6 बजे रन फॉर वन (जन जागृति दौड) का आयोजन किया गया।

By: Kalulal

Published: 07 Jul 2019, 09:54 PM IST

चित्तौडग़ढ़. राज्य एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा पर्यावरण की सुरक्षा एवं आम व्यक्तियों को पौधे लगाने के लिए प्रेरित करने एवं पौधों को गोद लेने के उद्देश्य से रविवार को सुबह 6 बजे रन फॉर वन (जन जागृति दौड) का आयोजन किया गया। दौड़ को जिला एवं सत्र न्यायाधीश हेमंत कुमार जैन ने न्यायालय परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। सभी धावक हाथों में पर्यावरण संरक्षण के बैनर, तख्तियां थामे दौड़ रहे थे। दौड नवीन न्यायालय परिसर जाकर संपन्न हुई। रन फोर वन जन जागृति दौड में राकेश माली, अरविंद कुमार जाट, कमल सिंह चुण्डावत, महिला वर्ग में विष्णा गुड्डा, बेगूं की प्रियंका सोनी, कृष्णा जाट प्रमुख आकर्षण रहे। सीनियर सिटिजन वर्ग में 6 1 वर्षीय सुरेश चन्द्र शर्मा, 56 वर्षीय श्याम वैष्णव के तथा उपवन संरक्षक सविता दहिया व 56 वर्षीय उनकी माता सुमित्रा दहिया ने उत्साहपूर्वक भाग लेते हुए साढे तीन किमी की दौड पूरी की। वहीं श्यामदास बैरागी उल्टी दौड़ करते हुए गंतव्य तक पहुंचे और पूरी दौड में प्रमुख आकर्षण के रूप में उन्होनें सभी की वाहवाही बटोरी। कार्यक्रम संयोजक सुनील कुमार ओझा ने बताया कि दौड में न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय, शिवकुमार शर्मा, दुर्घटना दावा अधिकरण की न्यायाधीश, शिवानी जोहरी भट्नागर, अपर जिला न्यायाधीश संख्या 3 संजय भटनागर, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कमल लोहिया, अति मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नम्रता पारीक, अति मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट 2 डॉ. महेन्द्र के सिंह सोलंकी, अतिण् न्यायिक मजिस्ट्रेट अमित दवे, न्यायाधिकारी ग्राम न्यायालय मुकेश कुमार रेगर, उपवन संरक्षक शशिशंकर पाठक, अभिभाषक संघ अध्यक्ष जसवंत सिंह राठौड, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष डॉ. सुशीला लड्ढा, स्काउट गाइड प्रभारी लादूलाल गुर्जर एवं गजेन्द्र त्यागी सहित लगभग 900 धावको ने भाग लिया। दौड का संचालन अखिलेश श्रीवास्तव ने किया। प्रतिभागियों को रन फोर वन के पश्चात समापन स्थल नवीन न्यायालय परिसर से अपने अपने गंतव्य की ओर जाने के लिए यातायात विभाग द्वारा 4 बसों की व्यवस्था की गई है। बस द्वारा सभी धावको को बस द्वारा पुन: प्रारंभिक स्थान पर छोड़ा गया। रन फोर वन के रूट में यातायात एवं चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। यातायात प्रभारी मदनलाल ने बताया कि रन फोर वन के दौरान यातायात पुलिस द्वारा मार्ग दूरस्त किया गया। रन फॉर वन में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा टी-शर्ट एवं कैप उपलब्ध करवाये गए। दौड़ पूरी करने वाले प्रतिभागियों को राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर वन विभाग द्वारा प्रतिभागियों को एक-एक पौधा वितरित किया गया तथा प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे।
रिजर्व पुलिस के जवानों ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत रन फोर वन के समापन के पश्चात नवीन न्यायालय परिसर में श्रमदान किया। रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करने से पूर्व सेशन न्यायाधीश जैन ने सभी धावकों को वन एवं पर्यावरण संरक्षण के साथ साथ संविधान में उल्लेखित मूल कर्तव्यों के पालन शपथ दिलाई।

Kalulal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned