चार हजार ट्रकों से अब कर वसूलने की तैयार

चित्तौडग़ढ़. कोरोना काल के कारण परिवहन विभाग की ओर से स्थगित किया गया वसूली अभियान अब फिर शुरू हो गया है। इसके लिए विभाग की ओर से पूरी तैयारी कर ली है। चित्तौडग़ढ़ जिले में करीब चार हजार ट्रक संचालकों से अब विभाग ने बकाया कर वसूलने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए प्रादेशिक परिवहन अधिकारी ने जिला परिवहन अधिकारी एवं निरीक्षकों को आदेश भी जारी कर दिए है।

By: Avinash Chaturvedi

Published: 26 Jun 2020, 10:25 AM IST

चित्तौडग़ढ़. कोरोना काल के कारण परिवहन विभाग की ओर से स्थगित किया गया वसूली अभियान अब फिर शुरू हो गया है। इसके लिए विभाग की ओर से पूरी तैयारी कर ली है। चित्तौडग़ढ़ जिले में करीब चार हजार ट्रक संचालकों से अब विभाग ने बकाया कर वसूलने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए प्रादेशिक परिवहन अधिकारी ने जिला परिवहन अधिकारी एवं निरीक्षकों को आदेश भी जारी कर दिए है।
कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मार्च माह में लॉकडाउन हो गया था। जिससे परिवहन विभाग का मार्च में चलने वाला वसूली अभियान स्थगित हो गया था। अब जब वापस अनलॉक हुआ है तो विभाग ने बकाया कर वसूली के लिए अभियान शुरू किया है। जिले में अब भी करीब चार हजार ट्रक संचालक ऐसे है जिन्होंने बकाया कर का भुगतान नहीं किया है। जबकि उन्हें बकाया कर का भुगतान ३१ मार्च तक करना था।

तैयार की गई सूची
परिवहन विभाग की ओर से बकाया कर वाले ट्रकों की सूची तैयार कर जिला परिवहन अधिकारी एवं परिवहन निरीक्षकों को जारी कर उन्हें कर वसूली के आदेश जारी किए गए है। उन्हें यह भी कहा गया है कि वे इसे एक अभियान के रुप में लें।

१५०० ट्रक माईन्स एवं सीमेन्ट उद्योगों में
परिवहन विभाग की ओर से तैयार की गई सूची में इनमें करीब १५०० ट्रक वे है जो चित्तौडग़ढ़ जिले के सीमेन्ट उद्योगों, माइन्सों, जिंक एवं आरपीपीएल में संचालित हो रहे है।
होगी धरपकड़ की कार्रवाई
परिवहन विभाग की ओर से जो ट्रक सीमेन्ट उद्योग,माईनिंग, जिंक एवं आरपीपीएल में संचालित हो रहे है। कर जमा नहीं कराने पर कर वसूली के लिए वहां पर कार्रवाई कर उनकी धरपकड़ भी करने की तैयारी कर रहा है।
होगी पेनेल्टी वसूल
ऐसे वाहन संचालकों से कर नहीं चुकाने की स्थिति में १८ प्रतिशत की दर से पेनेल्टी भी वसूल की जाएगी। साथ ही ऐसे वाहनों को सॉफ्टवेयर में ब्लॉक किया जाएगा। ताकि उनके बीमा, पॉल्यूशन, फिटनेश एवं परमिट का नवीनकरण को भी रोका जा सके।
इनका कहना है...
जिले में वित्तीय वर्ष २०२०-२१ का चार हजार ट्रक संचालकों ने कर जमा नहीं कराया है। इनकी सूची तैयार कर जिला परिवहन अधिकारी एवं निरीक्षकों को देकर कर वसूली के लिए अभियान शुरू करने के लिए आदेश दिए है। कर वसूली नहीं होने पर मौके पर ही ट्रक एवं डम्परों को सीज कर दिया जाएगा। कोरोना संक्रमण के चलते मार्च में लॉकडाउन होने से अभियान स्थगित हो गया था।
जगदीश चन्द्र बैरवा, प्रदेशिक परिवहल अधिकारी चित्तौडग़ढ़

Avinash Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned