पोषाहार की गुणवत्ता की हो जांच, छात्रा से मारपीट मामले में सुनाई खरी-खरी

जिले में सरकारी विद्यालय समय पर खुलने चाहिए। यह सुनिश्चित किया जाए और साथ ही मीड-डे-मील में मिलने वाले पोषाहार की गुणवत्ता की भी जांच की जाए। सरकार की योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे, इसके लिए पूरे प्रयास किए जाए।

चित्तौडग़ढ़
जिले के प्रभारी मंत्री भजनलाल जाटव ने बुधवार को यहां ग्रामीण विकास अभिकरण सभागार में आयोजित विभागों की समीक्षा बैठक में यह बात कही। उन्होंने शिक्षा विभाग से बैठक में आए प्रतिनिधि से कहा कि खोर गांव स्थित विद्यालय में पिछले दिनों छात्रा के साथ हुई मारपीट के बारे में जांच रिपोर्ट का क्या हुआ। विभाग का प्रतिनिधि इस बारे में कोई जवाब नहीं दे पाया, इस पर प्रभारी मंत्री ने खरी-खरी सुनाई। पिछली बैठक में प्रभारी मंत्री ने संबंधित शिक्षक को एपीओ करने के आदेश दिए थे, लेकिन शिक्षक ने न्यायालय से स्थगन प्राप्त कर लिया था। बुधवार को पीडि़त पक्ष ने प्रभारी मंत्री से मुलाकात कर अब तक कोई कार्रवाई नहीं होने की जानकारी दी तो जाटव में बैठक में विभाग के प्रतिनिधि से इस प्रकरण में अब तक की कार्रवाई के बारे में पूछा। जवाब नहीं मिलने पर उन्होंने नाराजगी जताई और शीघ्र कार्रवाई और जांच के निर्देश दिए।
जाटव ने कहा कि सरकार का मुख्य उद्देश्य योजनाओं का आमजन को ज्यादा से ज्यादा लाभ देना है। किसी भी गरीब को न्याय से वंचित नहीं रखा जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि अधिकारी नियमित रूप से अपने विभागों की स्थिति का आकलन कर परिवेदनाओं का त्वरित निस्तारण करें। सभी प्रकरणों की रिपोर्ट जिला कलक्टर को दी जाए। प्रभारी मंत्री ने कहा कि प्रशासन गांव के संग शिविर जल्द ही लगाए जाएंगे, जिनमें लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने कृषि, पशुपालन, आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना, विद्युत विभाग पीएचईडी, पीडब्ल्यूडी, राजीव गांधी जल संचय योजना, नरेगा, श्रम विभाग आदि से उनकी समस्याओं व मुद्दों पर जानकारी ली। जिला कलक्टर ने कहा कि विद्युत वितरण निगम पांच हजार ट्रांसफार्मर बदल चुका है और ट्रांसफार्मर खराब होने की स्थिति में विभाग ७२ घंटे में बदलने की स्थिति में है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. इन्द्रजीतसिंह ने कहा कि सर्दी के मौसम में स्वाइन फ्लू का प्रकोप बढने से होने वाली परेशानियों को लेकर विभाग ने तैयारियां कर ली है। जाटव ने कहा कि चिकित्सकों की कमी शीघ्र ही पूरी कर ली जाएगी। प्रभारी मंत्री को बैठक में बताया गया कि भामाशाह योजना में चार निजी अस्पताल शामिल है, जिनका समय-समय पर निरीक्षण किया जाता है। श्रम विभाग के प्रतिनिधि ने बताया कि अब तक 18 हजार श्रमिकों को लाभ दिया है। अन्य विभागों ने भी अपने से जुड़े मुद्दों पर प्रभारी मंत्री को जानकारी दी।
शिक्षक संघ ने सौंपा ज्ञापन
इधर राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के प्रदेश सचिव रमेशचन्द्र पुष्करना ने जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा, जिसमें बताया कि २० अगस्त २०१९ को विद्यालय में दूध वितरित किया गया था, संबंधित बालिका ने दूध नहीं पीया तो शिक्षक ने उसे दूध पीने को कहा था। शिक्षक पर मारपीट का आरोप द्वेषतापूर्वक लगाया गया है। ज्ञापन में शिक्षक के खिलाफ की जा रही कार्रवाई का विरोध किया गया।

jitender saran
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned