‘पद्मिनी’ पर संग्राम: संजय लीला भंसाली ने तोड़ा कानून, डालो जेल में: नरपत सिंह राजवी

‘पद्मिनी’ पर संग्राम: संजय लीला भंसाली ने तोड़ा कानून, डालो जेल में: नरपत सिंह राजवी

kamlesh sharma | Publish: Nov, 16 2017 08:06:11 PM (IST) Chittorgarh, Rajasthan, India

पद्मावती फिल्म के विरोध में जयपुर के विद्याधर नगर से विधायक व पूर्वमंत्री नरपत सिंह राजवी चित्तौड पहुंचे।

चित्तौडग़ढ़। संजय लीला भंसाली की पद्मावती फिल्म के विरोध में पाडनपोल पर सर्व समाज की ओर से चल रहे धरने पर आठवें दिन जयपुर के विद्याधर नगर से विधायक व पूर्वमंत्री नरपत सिंह राजवी पहुंचे। उन्होंने कहा कि फिल्म के विरोध में तोडफ़ोड़ कर लोगों के कानून तोडऩे से पहले तो ये काम स्वयं निर्माता संजय लीला भंसाली ने सेंसर बोर्ड से फिल्म पास हुए बिना ट्रेलर रिलीज करके किया है।

उन्होंने कहा कि सेंसर बोर्ड की अनुमति के बिना फिल्म का प्रमोशन भी नहीं हो सकता है फिर भी पद्मावती फिल्म के ट्रेलर दिखाए जा रहे है। रूल ऑफ लॉ तो एक पक्ष पर लागू नहीं है। पहले भंसाली ने कानून तोड़ा है। उन्हें जेल में डालना चाहिए। उसके बाद आगे की बात होगी।

जरूर बैन होगी फिल्म
राजवी ने कहा कि चित्तौड़ के किले ने कितने जौहर व आक्रमण झेले है। सिगरेट से अंगुली जलने पर भी तीन दिन तक दर्द होता है। जिन्होंने सम्मान व शील की रक्षा के लिए जौहर किया उनका अपमान किया जा रहा है। धरना दे रहे लोग भी सरकार के ही है। ऐसे में इंडियन सिनेमेटोग्राफी एक्ट में सरकार को फिल्म को बैन करने की पावर है। उन्होंने दावा किया कि यह फिल्म राजस्थान व मध्यप्रदेश में जरूर बैन होगी।

यह भी पढ़ें: भंसाली ने की वादाखिलाफी: ‘अब ‘पद्मावती’ रिलीज की तो बहुत जलेगा, रोक सको तो रोक लो’

जायसी ने कहीं सुनी बातों के आधार पर ही लिखा
राजवी ने कहा कि फिल्म में पद्मावती का गलत चित्रण हुआ है। जौहर करने वाली महारानी पद्मिनी के प्रेम प्रसंग की बात की जा रही है। आक्रांताओं की ओर से इतिहास लिखने वाले मलिक मोहम्मद जायसी अपने आकाओं का ही गुणगान करेंगे। जो भी कहीं सुनी बातों के आधार पर ही लिखा है। उन्होंने शांतिपूर्ण तरीके से दुर्ग बंद कराने की अपील की।

यह भी पढ़ें: फिल्म पद्मावती को लेकर राजस्थान में संग्राम, बैन नहीं किया तो बुरे होंगे परिणाम

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned