पैसों के लालच में तस्करों की कठपुतली बन रहे कुछ पुलिसकर्मी

कोरोना महामारी के चलते लॉक डाउन में भी गांजा, अफीम और डोडा चूरा तस्करों के वाहन प्रदेश के कई जिलों की सीमा बेरोक-टोक पार कर मादक पदार्थों की तस्करी को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहे हैं। लॉक डाउन में सीआईडी सीबी की टीम व पुलिस की ओर से कुछ ही समय में की गई दस से ज्यादा कार्रवाइयों में पकड़े गए करोड़ों रूपए के गांजा, अफीम और डोडा चूरा इस बात की पुष्टि कर रहे हैं।

By: jitender saran

Published: 09 Jun 2021, 09:43 AM IST

चित्तौडग़ढ़
देश के साथ ही प्रदेश में भी कोरोना महामारी की दूसरी लहर इस साल मार्च से शुरू हो गई थी। इस दौरान सरकार ने एक जिले से दूसरे जिले में वाहनों के प्रवेश और बाद में जिले में ही एक गांव से दूसरे गांव में वाहनों के प्रवेश पर पूरी तरह रोक लगा दी थी। हर जिले की सीमा पर पुलिस का कड़ा पहरा चल रहा था। इतना होने के बावजूद मारवाड़ इलाके के तस्करों के वाहन मेवाड़ और मालवा तक बेरोक-टोक आते-जाते रहे। इसे चाहे पुलिस की लापरवाही या मिलीभगत कहें या फिर तस्करों की चालाकी, लेकिन लॉक डाउन के दौरान सरकार के कड़े नियम भी तस्करों के वाहनों पर शिकंजा कसने में कामयाब नहीं हो सके।

सामने आ चुकी पुलिस की मिलीभगत
कोरोना काल में तस्करों से कुछ पुलिसकर्मियों की मिलीभगत भी सामने आ चुकी है। इन मामलों में चित्तौडग़ढ़ की बेगूं थाना पुलिस इसी थाने में तैनात रहे एक सिपाही राकेश जाट को गिरफ्तार कर चुकी है, जो तस्करों को पुलिस की लोकेशन और नाकाबंदी के बारे में जानकारी देता था। भीलवाड़ा पुलिस भी तस्करों की मदद करने के आरोप में पांच पुलिस कर्मियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

पुलिस महानिदेशक भी जता चुके हैं चिन्ता
खुद पुलिस महानिदेशक मोहनलाल लाठर ने पिछले माह हर रेंज के महानिरीक्षक पुलिस को पत्र लिखकर अपराधियों के साथ कुछ पुलिस कर्मियों की सांठगांठ और मिलीभगत पर चिन्ता जाहिर कर चुके हैं। महानिदेशक ने महकमे के साथ गद्दारी करने वाले पुलिस कर्मियों के बारे में पता लगाकर कड़ी कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए थे। इसके बाद भी जिले के कुछ पुलिसकर्मियों के नाम तस्करों की मदद करने को लेकर सुर्खियों में आ रहे हैं।

किसान और तस्करों का बिचौलिया कौन
डोडा चूरा हो या फिर अफीम, यह सब किसानों के यहां से ही तस्करों तक पहुंचते हैं। जिले में बड़े स्तर पर किसानों से डोडा चूरा और अफीम खरीदने वालों के नाम भी पुलिस तक पहुंच चुके हैं, लेकिन तस्करों और किसानों के बीच बिचौलिये का काम कौन कर रहा है, इस बारे में पुलिस को बरसों से पता नहीं चल पा रहा है। महकमें में ही छिपे ऐसे पुलिसकर्मियों के नाम भी धीरे-धीरे सुर्खियों में आ रहे हैं, जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से तस्करों की मदद कर रहे हैं। यहां तक कि जिले के एक थाने में तैनात एक-दो पुलिस कर्मियों को सुविधा के लिए उपलब्ध कराई गई कार भी पुलिस महकमें में चर्चा का विषय बनी हुई है।

लॉक डाउन में हुई कार्रवाइयों से हो रही है पुष्टि
सीआईडी सीबी और जिले के विभिन्न थानों की पुलिस की ओर से लॉक डाउन में तस्करों की धर-पकड़ के लिए दस से ज्यादा कार्रवाइयां करते हुए करोड़ों रूपए का मादक पदार्थ पकड़कर आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इन आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हो चुका है कि चित्तौडग़ढ़ जिले और मध्यप्रदेश के कुछ इलाकों से बड़ी मात्रा में अफीम और डोडा चूरा मारवाड़ के विभिन्न इलाकों में ले जाया जा रहा है।

इन कार्रवाइयों ने खोला राज
- सीआईडी सीबी की टीम ने १८ मार्च २०२१ को राशमी क्षेत्र के मरमी गांव में राजू बंजारा, कर्मा बंजारा व मदन तेली को गिरफ्तार कर तीन किलो ४९० ग्राम अफीम व १० लाख ८४ हजार ७७७ रूपए नकद बरामद किए थे।
- सीआईडी सीबी ने ही ८ अप्रेल २०२१ को बेगूं के आरोली टोल नाके पर पांच किलो अफीम बरामद कर मोहनलाल मीणा व रामचन्द्र मीणा को गिरफ्तार किया था।
-बड़ीसादड़ी थाना पुलिस ने १८ अप्रेल २०२१ को २० किलो ३८० ग्राम अफीम बरामद कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था।
-राशमी थाना पुलिस ने १७ मई २०२१ को एक फार्म हाउस पर दबिश देकर ३ क्ंिवट ७६ किलो ९०० ग्राम डोडा चूरा जब्त कर एक आरोपी को गिरफ्तार किया था।
- सीआईडी सीबी की टीम ने २४ मई २०२१ को एक ट्रक से ५.१२ क्ंिवटल डोडा चूरा बरामद कर चालक पुखराज जाट को गिरफ्तार किया था। इस मामले में जिले के बड़ी आरोपी कालू आंजना को नामजद किया गया था। जिसकी तलाश जारी है।
-सीआईडी सीबी व एनसीबी जोधपुर की टीम ने २७ मई २०२१ को ओछड़ी टोल नाके के पास एक ट्रक में आम की आड़ में ले जाया जा रहा ५.६५ क्ंिवटल गांजा बरामद कर पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था।
-चित्तौडग़ढ़ की सदर थाना पुलिस ने ३० मई २०२१ को रिठोला तिराहे से आगे एक ट्रक से ३० क्ंिवटल डोडा चूरा बरामद कर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था।
- डूंगला थाना पुलिस ने दो जून २०२१ को एक कार से ३४ किलो ५०० ग्राम डोडा चूरा बरामद किया था। आरोपी मौके से फरार हो गया था।
- बस्सी थाना पुलिस ने तीन जून २०२१ को बाइक सवार लोगों का पीछा कर ३२ किलो ७८० ग्राम डोडा चूरा बरामद किया था। आरोपी मौके से भाग गए थे।
- शंभूपुरा थाना पुलिस ने तीन जून २०२१ को नाकाबंदी के दौरान पंजाब पासिंग नंबर की कार से १ किलो १०० ग्राम अफीम व ट्रक से ४ क्ंिवटल २२० ग्राम डोडा चूरा बरामद कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था।
-चित्तौडग़ढ़ की सदर थाना पुलिस ने तीन जून २०२१ को एक कार से ४६ किलो १५० ग्राम डोडा चूरा बरामद कर एक आरोपी को गिरफ्तार किया था।
-सीआईडी सीबी व मंगलवाड़ थाना पुलिस ने चार जून २०२१ को मंगलवाड़ टोल नाके पर जिले की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए एक ट्रक से करीब चार करोड़ रूपए का चार टन तीन क्ंिवटल डोडा चूरा बरामद कर ट्रक चालक को गिरफ्तार किया था।

jitender saran Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned