कहासुनी से माहौल गरमाया, पालिका में पुलिस पहुंची

चित्तौडग़ढ़. बड़ीसादड़ी. बड़ीसादड़ी नगरपालिका की साधारण सभा की बैठक बुधवार को हुई। बैठक में पार्षदों तथा मनोनीत पार्षदों ने भाग लिया। साथ ही आमंत्रित अतिथि के तौर पर विधायक ललित ओस्तवाल ने भी भाग लिया। बैठक तीन बजे से शाम सात बजे तक चली। बैठक के बाद पार्षद प्रतिनिधियों के बीच कहासुनी के चलते माहौल गर्मा गया। हालाकि पुलिस के दखल के बाद मामला शांत हुआ।

By: Avinash Chaturvedi

Published: 22 Sep 2021, 10:47 PM IST

चित्तौडग़ढ़. बड़ीसादड़ी. बड़ीसादड़ी नगरपालिका की साधारण सभा की बैठक बुधवार को हुई। बैठक में पार्षदों तथा मनोनीत पार्षदों ने भाग लिया। साथ ही आमंत्रित अतिथि के तौर पर विधायक ललित ओस्तवाल ने भी भाग लिया। बैठक तीन बजे से शाम सात बजे तक चली। बैठक के बाद पार्षद प्रतिनिधियों के बीच कहासुनी के चलते माहौल गर्मा गया। हालाकि पुलिस के दखल के बाद मामला शांत हुआ।
इस दौरान अधिशासी अधिकारी पर भाजपा पार्षद दीपिका चौधरी तथा राजेंद्र जारोली ने कोरोना काल में पांच लाख के मास्क तथा अन्य सामग्री ऊंचे दामों पर खरीदकर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगा दिया व तथा मामले की जांच स्वतंत्र एजेंसी से कराने की मांग की। साथ ही नगर पालिका क्षेत्र में किए जाने वाले विकास कार्यों के लिए कमेटियों का गठन किए जाने की मांग की। पार्षद सुनील सिंह चौहान ने प्रतापगढ़ के एक स्वयं सहायता समूह द्वारा शहरी आजीविका योजना के तहत गरीब तथा वंचित वर्ग के लिए विभिन्न कार्य योजनाओं में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। साथ ही ई श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए नगरपालिका में वार्ड अनुसार कैम्प का आयेजन करवाएं जाने की मांग की। पार्षद राजेंद्र गहलोत ने पनघट योजना की सघन जांच कर मोटर चोरियों तथा तोडफ़ोड़ के मामलों की जांच कर पुलिस में प्रकरण दर्ज करवाने की मांग की। निर्दलीय पार्षद दीपक नाहर ने आर ओ प्लांट तथा खराब मोटरों की तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी। अनिल चौहान ने नगर क्षेत्र में लगी रोड लाइट पर लगाई गई एल ई डी लाइट के कामों में हुए गबन की जांच की मांग की। पार्षद जगदीश कंडारा ने सदन में पूछा कि पूर्व बोर्ड के समय करीब 3 लाख रुपए मासिक के डीजल के बिल लगाए जाते थे जबकि वर्तमान में 35 से 40 हजार का ही डीजल खर्च हो रहा है। इसका क्या कारण है। इस सवाल के जवाब में नगरपालिका अध्यक्ष मुस्तफा अली बोहरा में पूर्व के डीजल बिलों की जांच करने का आश्वासन दिया। पार्षद दिलीप चौधरी ने ठेकेदार विष्णु व्यास की फर्मों की जांच के संदर्भ में बोर्ड प्रस्ताव लिया जाकर निष्पक्ष जांच कर भुगतान करवाने के लिए प्रस्ताव रखा। करीब 4 घंटे चली इस मीटिंग में भाजपा पार्षदों ने कई विकास कार्यों की जांच करने की मांग की। पार्षद जगदीश कंडारा ने कहा कि नगर विकास कार्यों की फाइल नदारद है। कहां है इसकी जांच की जाएं। बैठक के अंत में विधायक ओस्तवाल ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सीसी सड़क निर्माण के लिए 5 लाख के बजट की घोषणा की।

Avinash Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned