खिलाडिय़ों ने दिखाया दम, जीत के लिए लगाया जोर

खिलाडिय़ों ने दिखाया दम, जीत के लिए लगाया जोर
खिलाडिय़ों ने दिखाया दम, जीत के लिए लगाया जोर

Nilesh Kumar Kathed | Updated: 12 Sep 2019, 02:23:42 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India


विधिक सेवा खेलकूद प्रतियोगिताएं
छात्र एवं छात्रा वर्ग के लिए हुई अलग-अलग प्रतियोगिताएं


चित्तौडग़ढ़. जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा शिक्षा विभाग के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित जिला स्तरीय विधिक सेवा खेलकूद प्रतियोगिताएं गुरूवार को सम्पन्न हुई। शहीद मेजर नटवर सिंह शक्तावत राउमावि परिसर में आयोजित इन प्रतियोगिताओं में कुल 413 खिलाडियों में 82 मैच में भाग लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। इनमें 282 छात्र व 131 छात्रा खिलाडी मौजूद थी।जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव सुनील कुमार ओझा ने बताया कि छात्र वर्ग की फुटबाल प्रतियोगिता में निम्बाहेडा ब्लॉक प्रथम, वालीबाल में डूंगला, कबड्डी में निम्बाहेड, खो खो में भोपालसागर, बास्केटबाल में गंगरार, टेबल टेनिस में राशमी ब्लॉक प्रथम रहे। छात्र वर्ग में शतरंज में भानुप्रताप सिंह,100 मीटर दौड में अजीत सिंह,200 मीटर में निखिल वैष्णव, 400 मीटर दौड में किशनलाल रेबारी,उंची कूद में अभिषेक लक्षकार, लंबी कूद में अजय सिंह प्रथम रहे। छात्रा वर्ग की वालीबाल व कबड्डी प्रतियोगिता में निम्बाहेडा, खो खो में बडीसादडी, बास्केट बाल में चित्तौडग़ढ़ ब्लॉक प्रथम रहा। छात्रा वर्ग शतरंज में परीक्षा विजयवर्गीय, 100 मीटर दौड में ट्विंकल, 200 मीटर दौड में कला एवं ४00 मीटर दौड में डिम्पल कंवर,उंची कूद में रूपाली तथा लंबी कूद में सुमन कुंवर प्रथम रहे। इन प्रतियोगिताओं के सफल संचालन के लिए 72 निर्णायक लगाये गये थे जिनकी देखरेख में जिले के विभिन्न ब्लॉक से खिलाडियो ने अपनी प्रतिभा का परिचय देते हुए खेल भावना के साथ अपना मुकाम हासिल किया। ओझा ने बताया कि राज्य प्राधिकरण द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए यहां आयोजित प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त खिलाडी व टीमे जाएगी।
पारदर्शिता के साथ खेलना न्यायकर्ता बनने की शुरूआत
विधिक सेवा खेलकूद प्रतियोगिता का उद्घाटन शहर के मेजर नटवर सिंह शक्तावत राउमावि में मुख्य अतिथि प्राधिकरण सचिव सुनील कुमार ओझा ने किया। उन्होनें कहा कि बच्चों का पारदर्शिता के साथ खेल खेलना एक खिलाडी के लिए न्यायकर्ता बनने की शुरूआत है। उन्होनें कहा कि न्याय का प्रमुख आदर्श वाक्य है कि मैं आपके अधिकारों की रक्षा करूंगा, आपके साथ अन्याय नहीं होने दूंगा। ओझा ने विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकलापों की जानकारी भी दी। अध्यक्षता कर रहे जिला शिक्षा अधिकारी शांतिलाल सुथार ने बच्चों को मिले अवसर का लाभ उठाने का आव्हान करते हुए कहा कि अवसर दिये नहीं जाते अवसर पहचान कर भुनाने पडते है। संचालन व्याख्याता चन्द्रप्रभा मूंदडा ने किया। मुख्य अतिथि ओझा ने सभी बच्चों को शपथ दिलाई एवं प्रतियोगिता की विधिवत घोषणा की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned