मिलावटी खाद्य सामग्री बेचने वालों पर होगी सख्ती

मिलावटी खाद्य वस्तुएं बनाने वालों की सूचना देने वाले को 51,000 की प्रोत्साहन राशि
चित्तौडग़ढ़. चित्तौडग़ढ़ जिले में मिलावटी सामान एवं खाद्य सामग्री बेचने वालों की अब लगाम कसेगी। इसके लिए २६ अक्टूबर से शुद्ध के लिए युद्ध के तहत विशेष अभियान शुरू किया जाएगा। इसके लिए जिले में विभिन्न विभागों को शामिल कर विशेष टीम भी तैयार की गई है।

By: Avinash Chaturvedi

Published: 24 Oct 2020, 11:13 PM IST

चित्तौडग़ढ़. चित्तौडग़ढ़ जिले में मिलावटी सामान एवं खाद्य सामग्री बेचने वालों की अब लगाम कसेगी। इसके लिए २६ अक्टूबर से शुद्ध के लिए युद्ध के तहत विशेष अभियान शुरू किया जाएगा। इसके लिए जिले में विभिन्न विभागों को शामिल कर विशेष टीम भी तैयार की गई है। शहर में त्योहारी सीजन के तहत बिक रही मिलावटी सामान के खिलाफ पत्रिका ने समाचार अभियान चला रखा है। इस अभियान को लेकर प्रकाशित समाचारों को जिला कलक्टर के.के.शर्मा ने गंभीरता से लिया और सभी अधिकारियों को बाजार में मिलावटी सामग्री बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।
उन्होंने राज्य सरकार के निर्देश जिले में 26 से शुद्ध के लिए युद्ध अभियान व्यापक स्तर चलाए जाने और मिलावट करने वालों के खिलाफ प्रभावी एवं सख्त कार्रवाई किए जाने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए।
जिला कलक्टर ने बताया कि शुद्ध के लिए युद्ध अभियान की अवधि में मिलावटी खाद्य वस्तुएं बनाने वालों की सूचना देने वालों को सूचना सही पाए जाने पर प्रोत्साहन राशि रूपए इक्यावन हजार दी जाएगी। इस राशि का वितरण जिला कलक्टर के द्वारा फूड टेस्टिंग लैब की सूचना के बाद निष्कर्ष प्रमाणित करते हुए दिया जाएगा। सूचना देने वालों की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।
अभियान के तहत उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, रसद विभाग, बांट माप तोल विभाग, चित्तौडग़ढ़ डेयरी के अधिकारियों को शामिल किया गया है।
अभियान संबंधी वीसी
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सचिव ने शुद्ध के लिए युद्ध अभियान संबंधी वीडियों कॉन्फ्रेसिंग वीसी कक्ष में ली। वीसी में जिले से जिला कलक्टर शर्मा जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव, अतिरिक्त कलक्टर मुकेश कुमार कलाल, उपखण्ड अधिकारी अंजू शर्मा, उप निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग डॉ.संजीव टांक, पीएमओ डॉ.् दिनेश वैष्णव, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.रामकेश गुर्जर, आयुक्त नगर परिषद रिंकल गुप्ता, जिला रसद अधिकारी विनय शर्मा, प्रबंध निदेशक चित्तौडग़ढ़ए प्रतापगढ़ दूग्ध उत्पादक संघ सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी रामकेश गुर्जर ने बताया कि अभियान के तहत दूध,मावा, पनीर व अन्य दुग्ध उत्पादए आटा, बेसन,खाद्य तेल सामग्री की जांच की जाएगी। वही सूखे मेवे, मसालों और बाट व माप की जांच भी की जाएगी। उन्होंने त्योहार के सीजन को देखते हुए 14 नवंबर तक अभियान चलाकर मिलावट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के आदेश के तहत शुद्ध के लिए युद्ध अभियान की दैनिक सूचनाओं के संकलन मॉनिटरिंग के लिए जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। जिसके दूरभाष नंबर 01472.245813 है।

Avinash Chaturvedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned