ऐसा क्या हुआ कि कांग्रेस को करना पड़ गया प्रदर्शन

केन्द्र सरकार की ओर से कृषि व्यापार संबंधी लाए गए तीन अध्यादेश को किसान विरोधी करार देते हुए जिला कांग्रेस कमेटी के बैनरतले सोमवार को यहां मुख्य डाकघर के बाहर कांग्रेसजन ने विरोध प्रदर्शन किया।

By: jitender saran

Published: 21 Sep 2020, 07:53 PM IST

चित्तौडग़ढ़
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी के निवर्तमान अध्यक्ष मांगीलाल धाकड़ के नेतृत्व व पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत की मौजूदगी में सोमवार को सुबह मुख्य डाकघर के बाहर कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी व प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि केन्द्र सरकार की ओर से लाए गए तीनों अध्यादेश किसान विरोधी है। इससे किसानों को नुकसान होगा। इस मौके पर जाड़ावत ने कहा कि अध्यादेश के माध्यम से मंडी व्यवस्था पूरी खत्म हो जाएगी और व्यापारियों की मनमानी बढेगी। यह अध्यादेश केवल कॉरपोरेट घरानों को लाभ पहुंचने वाला है। इसके लागू होने से ठेके की खेती को बढ़ावा मिलेगा। किसानों को मजदूर के रूप में कार्य करना पड़ेगा। किसानों की पैदावार को जमा करने की अधिकतम सीमा तय करने और काला बाजारी को रोकने के लिए बनाए गए असोसियल एक्ट 1955 का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। प्रदर्शन करने वालों में नगर परिषद सभापति संदीप शर्मा, निवर्तमान जिला संगठन महामंत्री करण सिंह सांखला, सेवादल के राष्ट्रीय सचिव पियूष त्रिवेदी, ब्लाक अध्यक्ष प्रेम प्रकाश मूंदड़ा, त्रिलोक जाट, प्रकाश चौधरी, जिला प्रवक्ता अहसान पठान, घनश्याम सिंह राणावत, कमल गुर्जर, शक्ति सिंह, जयराम नेभनानी, उपसभ्पति कैलाश पंवार, महासचिव विमल जैन सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल थे।

jitender saran Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned