चोरी करते हुए ऐसा क्या हुआ, जो साथी 200 किमी दूर जंगल में फैंक गए लाश

चोरी करते हुए ऐसा क्या हुआ, जो साथी 200 किमी दूर जंगल में फैंक गए लाश

manish gautam | Publish: Feb, 14 2018 10:45:00 PM (IST) Chittorgarh, Rajasthan, India

लापता एक युवक की लाश नाहरगढ़ में मिली, परिजनों ने रिश्तेदारों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया, जांच में मामला पूरी तरह से उलट गया

चित्तौडग़ढ़.

भदेसर थाना क्षेत्र के नाहरगढ़ की पहाड़ी पर पांच दिन पहले मिली युवक की लाश के मामले में उसके रिश्तेदारों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी, लेकिन पुलिस पड़ताल में मामला पूरी तरह से उलट गया है।

 

इसमें सामने आया कि ट्रांसफार्मर से तांबा चुराते समय करंट लगने से व्यक्ति की मौत हो गई, इसके बाद उसके साथी लाश को 200 किलोमीटर दूर नाहरगढ़ की पहाड़ी पर फैंक गए।

 

भदेसर थाना पुलिस ने अब इस मामले को गैर इरादतन हत्या व अपरहण में बदला है। साथ ही इस मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार भी किया है। पुलिस ने तीन बार कानूनी धाराओं को बदला है।

 

लाश मिलने के बाद पुलिस ने मर्ग दर्ज किया था, लाश मिलने के दूसरे दिन अपरहण कर हत्या का मुकदमा दर्ज किया। इस जांच के बाद अब गैर इरादतन हत्या में बदला है।

 

 

पांच दिन पहले मिली थी लाश

 

भदेसर थाना प्रभारी संग्राम सिंह ने बताया कि पांच दिन पहले 9 फरवरी को नाहरगढ़ की पहाड़ी पर कैलाश (23) पुत्र मदन बावरी निवासी कोशीथल की लाश मिली थी। इस पर मृतक के पिता मदन बावरी ने कैलाश के प्रेम विवाह से नाराज होकर हत्या करने का मुकदमा सुसराल पक्ष के लोगों पर दर्ज करा दिया था।

 

साथ ही बताया कि कुछ दिनों से कैलाश गायब भी था। पुलिस ने मामले में जांच शुरू की। इसमें सामने आया कि मृतक कैलाश गायब रहने की अवधि में अजमेर व भीलवाड़ा जिले में जाना सामने आया। उसके साथी ईश्वर बावरी से पूछताछ करने पर यह पूरा मामला ही उलट गया।

 

 

अजमेर जिले में चोरी करते समय लगा करंट

 

थाना प्रभारी संग्राम सिंह ने बताया कि 5 फरवरी को बम्बोरा निवासी ओमप्रकाश व ईश्वर का फोन आया था। इसके बाद 6 फरवरी को कैलाश बाइक लेकर रवाना हो गया। कैलाश व अन्य दो ओमप्रकाश व ईश्वर बावरी के साथ भीलवाड़ा के गुलाबपुरा गए।

 

वहां पहले से परिचित दिलीप मेवाड़ा मिला, उसकी पिकअप लेकर ये लोग अजमेर जिले के केकड़ी क्षेत्र में डीपी से तांबा चुराने गए। जहां पर ट्रांसफार्मर पर चोरी करने के लिए कैलाश को ऊपर चढ़ाया, जिसके करंट लग गया और उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई।

 

 

200 किमी दूर लाकर नाहरगढ़ में फैंक दी लाश

 

कैलाश की मृत्यु के बाद उसके दोनों साथी ओमप्रकाश व ईश्वर ने दिलीप मेवाड़ा की पिकअप से ही लाश व बाइक 200किमी दूर नाहरगढ़ की पहाड़ी पर लेकर आए व फैंक गए।

 

पुलिस ने पुलिस ने गैर इरादतन हत्या व पत्नी इन्द्रा बावरी के बयान पर अपहरण का मुकदमा दर्ज किया है। साथ ही ईश्वर को गिरफ्तार भी कर लिया है। अन्य साथी की तलाश की जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned