मोबाइल पर ही कैसे मालूम चल जाएगी मतदान केन्द्र पर कार्यरत टीम की सूची

मोबाइल पर ही कैसे मालूम चल जाएगी मतदान केन्द्र पर कार्यरत टीम की सूची

Nilesh Kumar Kathed | Publish: Sep, 07 2018 01:13:58 PM (IST) Chittorgarh, Rajasthan, India

जिला निर्वाचन विभाग ने विधानसभा चुनाव से पूर्व मतदाता जागरूकता अभियान का आगाज कर दिया है। जिला निर्वाचन अधिकारी इन्द्रजीत सिंह व चुनाव कार्यों से जुड़े अन्य वरिष्ट अधिकारियों ने मीडिया को चुनाव तैयारियों के बारे में जानकारी दी



चित्तौडग़ढ़. जिला निर्वाचन विभाग ने विधानसभा चुनाव से पूर्व मतदाता जागरूकता अभियान का आगाज कर दिया है। जिला निर्वाचन अधिकारी इन्द्रजीत सिंह व चुनाव कार्यों से जुड़े अन्य वरिष्ट अधिकारियों ने मीडिया को चुनाव तैयारियों के बारे में जानकारी दी। जिला निर्वाचन अधिकारी सिंह ने बताया कि जिले में पिछली बार से १२ अधिक १५०३ मतदान केन्द्र गठित किए गए है। मतदाता सूची का कार्य पूर्ण होने के बाद आवश्यक होने पर नए मतदान केन्द्र गठित किए जा सकते है। मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य के बाद अंतिम मतदाता सूची २७ सितम्बर को प्रकाशित की जाएगी। उन्होंने बताया कि चुनाव कार्यो में तकनीक का उपयोग बढ़ा उसे सुगम करने के लिए प्रशासन मतदान ३६० डिग्री नाम का एप लांच करने जा रहा है। जिला स्तर पर हो रहे इस नवाचार के तहत एप पर चुनाव के दौरान किस बूथ पर कौनसी मतदान पार्टी मौजूद है इसकी पूरी जाानकारी अधिकृत अधिकारी ले सकेगा। इस एप के माध्यम से चुनाव कार्य से सम्बन्धित पूरी टीम जुड़ी रहेगी। उन्होंने बताया कि जिले में दूसरा नवाचार दिव्यांगजन का सुगम मतदान होगा। इसके तहत जिले में १८ से २० हजार जो दिव्यांग मतदाता है उनको पूरी सुविधा मिले इस पर फोकस है। सभी ईआरओ को निर्देश दिए गए है कि शत प्रतिशत मतदान का लक्ष्य हासिल करने के लिए दिव्यांगों को जोडऩा होगा। जो एप बनाया जा रहा उसमें सामाजिक न्याय विभाग से लेकर दिव्यांगों की सूची भी डाली जाएगी।
....................
वीवीपेट से मतदान का परीक्षण कर बताया
मीडिया के समक्ष चुनाव कार्य से जुड़े जिला रोजगार अधिकारी आलोक शुक्ला ने वीवीपेट के साथ ईवीएम से मतदान की पूरी प्रक्रिया समझाई और इसका प्रायोगिक परीक्षण भी कराया। उन्होंने दावा किया ये तकनीक ऐसी है कि किसी भी मोबाइल डिवाइस या अन्य इलेक्ट्रेानिक उपकरण के माध्यम से इससे कोई छेड़छाड़ नहीं हो सकती। मशीन के सभी सिस्टम सही होंगे तभी वीवीपेट कार्य करेगी।
.......................
समाजकंटको को कर रहे पाबंद
पुलिस अधीक्षक मनोज चौधरी ने चुनाव से पूर्व अपराधी प्रवृति के लोगों को पाबंद करने सहित कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि चुनाव से पहले पुलिए एक्शन मोड में आ चुकी है एवं चुनाव को किसी भी रूप से प्रभावित कर सकने वालों को चिह्नित कर कार्रवाई शुरू की गई है।
.......................
४८ जोड़े एक ही नाम के
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि कपासन विधानसभा क्षेत्र में पति-पत्नी के ४८ जोड़े ऐसे मिले जिनके नाम एक जैसे थे। इन सबकी ईआरओ से जांच कराई गई तो एक में मृत्यु होना एवं एक में डूप्लीकेसी पाई गई।
..........
सही नहीं निकले फर्जी मतदाता होने के दावे
जिला निर्वाचन अधिकारी इन्द्र्रजीत सिंह ने बताया कि जिले की मतदाता सूची में करीब ३ लाख ७५ हजार मतदाताओं के नाम भारत निर्वाचन आयोग से मिले थे जिनके बारे में फर्जी या दो बार दर्ज होने का संदेह था। इस बारे में विस्तृत पड़ताल कराने के बाद करीब ढाई हजार नाम दोहरी प्रवृष्टि के मिले जबकि चार-पांच हजार नाम ऐसे मिले जो अन्यत्र जा चुके है या मृत्यृ हो चुकी है। ऐसे नामों को सुधारा गया है। इसके अलावा मतदाता सूची में कोई बड़ी खामी नहीं मिली।
......................
मतदाता जागरूकता रथ रवाना किए
जिला कलक्टर सिंह एवं पुलिस अधीक्षक मनोज चौधरी ने चुनाव आयोग के स्विप कार्र्यक्रम के तहत जिले के पांचों विधानसभा क्षेत्रों के लिए जागरूकता रथ भी रवाना किए। इनके माध्यम से क्षेत्र के मतदाताओं को ईवीएम एवं वीवीपेट तकनीक की जानकारी दी जाएगी। कलक्टर ने रथ के साथ रहने वाले कार्मिकों से वीवीपेट की कार्यप्रणाली से जुड़े सवाल भी किए। इस मौके पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंकित कुमार सिंह, अतिरिक्त जिला कलक्टर दीपेन्द्रसिंह राठौड़, प्रशिक्षु आईएएस सुशील कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपीन शर्मा, उपखण्ड अधिकारी सुरेशचन्द्र खटीक, नगर विकास न्यास सचिव सीडी चारण, जिला रसद अधिकारी ज्ञानमल खटीक, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक ओमप्रकाश तोषनीवाल आदि अधिकारी मौजूद थे।
....................

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned