ऐसा क्या फोटो वायरल हुआ कि चौक पड़े देखने वाले

चित्तौडगढ़़ जिले में हाल ही एक ऐसा फोटो सामने आया है जिसमें जनप्रतिनिधि की मौजूदगी में बच्चों का विवाह होते दिख रहा है।

By: Nilesh Kumar Kathed

Published: 25 Apr 2018, 10:33 PM IST



चित्तौडगढ़़. जिले में आखा तीज से पहले से ही प्रशासन व सरकार जहां बाल विवाह को सामाजिक कुरिति बता रोकने की मुहिम चला रहे है वहीं हाल ही एक ऐसा फोटो सामने आया है जिसमें जनप्रतिनिधि की मौजूदगी में बच्चों का विवाह होते दिख रहा है। सूत्रों के अनुसार गत 19 अप्रेल को कपासन क्षेत्र के सिंहपुर क्षेत्र निवासी एक जाट परिवार के दो बच्चों का विवाह बारू गांव में एक ही जाट परिवार की दो बहनों से हुआ। विवाह करने वाले दुल्हों में से से एक की उम्र १९ वर्ष एवं दूसरे की १५ वर्ष बताई जा रही है। जिला प्रमुख लीला जाट के नजदीकी रिश्तेदार बताए जा रहे इन बच्चों के विवाह समारोह का एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है,जिसमें कपासन के पूर्व विधायक एवं चित्तौड़ डेयरी अध्यक्ष बद्रीलाल जाट की मौजूदगी भी वहां दिख रही है। हॉलाकि जाट इसे मुंडन कार्यक्रम बता सफाई देने से बचते रहे। इधर, फोटो वायरल होने के बाद मामले की चर्चा तो खूब हुई,लेकिन कोई भी पुष्टि करने से बचता दिखा। इधर, बाल कल्याण समिति, महिला एवं बाल विकास विभाग आदि ऐसे महकमे व संस्थाएं जिन पर बाल विवाह रोकने की जिम्मेदारी है वे इस घटना के प्रति अनभिज्ञता जताते दिखे। जिले एवं राशमी क्षेत्र के प्रशासनिक अधिकारी भी घटनाक्रम से अनजान बने रहे एवं शिकायत मिलने पर कार्रवाई की बात कहते रहे।
.............
बाल विवाह नहीं मुंडन समारोह था। मुंडन तो किसी उम्र में हो सकता। और अधिक इस मामले में क्या कह सकता हूं।
बद्रीलाल जाट, अध्यक्ष, चित्तौडग़ढ़ डेयरी
मैं किसी बाल विवाह में शामिल नहीं हुई हूं। अपनी जिम्मेदारियों का मुझे अहसास है।
लीला जाट, जिला प्रमुख, चित्तौडग़ढ़
समिति को बारू में किसी बाल विवाह की सूचना नहीं है। ऐसा कोई प्रकरण सामने आता है तो तथ्यों की पड़ताल कर विधिक कार्रवाई की जाएगी।
डॉ.सुशीला लढ़ा, अध्यक्ष, बाल कल्याण समिति, चित्तौडग़ढ़


Nilesh Kumar Kathed
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned