कहां एक साथ निकली 40 जोड़ों की बिन्दौली

हजऱत दीवाना शाह की दरगाह स्थित मेला ग्राउण्ड में सामूहिक विवाह सम्मेलन
सम्मेलन के दौरान किया प्रतिभावान छात्र-छात्राओं का सम्मान

By: Vijay

Published: 01 Jul 2019, 06:55 PM IST

चित्तौडग़ढ़. जिले के कपासन स्थित प्रख्यात सूफी संत हजऱत दीवाना शाह की दरगाह स्थित मेला ग्राउण्ड में 40 जोड़ों ने निकाह कबूल कर एक-दूसरे को जीवन साथी बना लिया। दरगाह वक्फ कमेटी के सेक्रेट्री मो. यासीन खां अशरफी व जमाअतुल मुसलमीन के अध्यक्ष रियाज हुसैन निम्बाहेडा ने बताया कि मुस्लिम महासभा के संस्थापक मरहूम युनूस शेख की याद में दरगाह में सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन किया गया।निकाह से पूर्व बिंदौली निकाली गई दरगाह के मेला ग्राउण्ड में बारात स्वागत किया गया। आयोजन की शुरूआत तिलावते कलामे पाक से हुई। डॉ. साबरी दीवाना के मुख्य आतिथ्य में कार्यक्रम शुरू हुआ। इसमें नगरपालिका के चेयरमैन दिलीप व्यास, उपाध्यक्ष गजेन्द्र बाघमार, आरएनटी कॉलेज के डॉ. वसीम खान, जिला भाजपा अल्पसंख्यक अध्यक्ष सैयद अशफाक अली ने विचार व्यक्त किए। इसके बाद 40 जोड़ों का निकाह दरगाह स्थित औलिया मस्जिद के ईमाम मौलाना अब्दुल सत्तार अशरफी, मौलाना अंसारूल हक, मस्जिद मंसूरियान के ईमाम मौलाना सलाउद्दीन अशरफी व अन्य मौलानाओ ने किया। इसके बाद निकाह एवं विवाह प्रमाण पत्र वितरण समारोह सहकारिता एवं इंदिरा गांधी नहर परियोजना मंत्री उदयलाल आंजना के मुख्य आतिथ्य में हुआ।
इस मौके पर विवाह कमेटी की ओर से एमबीबीएस में नम्बर आने पर डॉ. रजिया सुलताना, सीनियर सैकण्डरी विज्ञान में 91 प्रतिशत अंक लाने पर नमीरा खान व अन्य को सम्मानित किया गया। सम्मेलन में मध्यप्रदेश, राजस्थान के कई जिलो से दूल्हा-दुल्हनों ने शिरकत की। इस मौके पर पंचायत समिति प्रधान भैरूलाल चोधरी, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष प्रमोद मोदी व अन्य समेत कपासन की सभी मुस्लिम कमेटियां मौजूद थी। धन्यवाद दरगाह वक्फ कमेटी के सदस्य सैयद अख्तर अली ने ज्ञापित किया। समारोह का संचालन असरा वेलफेयर सोसायटी के सिद्दीक नूरी ने किया। निकाह के बाद अमनो चैन की दुआ की गई।

Vijay Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned