सुरक्षा मानकों की पालना नहींं कर किसने डाली श्रमिकों की जिंदगी संकट में

सुरक्षा मानकों की पालना नहींं कर किसने डाली श्रमिकों की जिंदगी संकट में
सुरक्षा मानकों की पालना नहींं कर किसने डाली श्रमिकों की जिंदगी संकट में

Nilesh Kumar Kathed | Updated: 11 Oct 2019, 01:37:42 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India


एडीएम ने प्रशासनिक जांच पूरी कर जिला कलक्टर को दी रिपोर्ट
रिपोर्ट में उजागर हुई सुरक्षा संबंधी गंभीर चूक
बिरला सीमेंट प्लान्ट में 15 श्रमिकों के झुलसने का मामला


चित्तौडग़ढ़. शहर के बिरला सीमेंट प्लान्ट में १५ श्रमिकों के गंभीर झुलसने के मामले में प्रशासनिक जांच में प्लान्ट में सुरक्षा मानकों की पालना में गंभीर खामियां रहने की बात सामने आई है। झुलसे श्रमिकों से अहमदाबाद में उपचार के दौरान अब तक दो श्रमिकों की मौत हो चुकी है। अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) मुकेश कलाल ने जांच पूरी कर रिपोर्ट जिला कलक्टर चेतनराम देवड़ा को सौंप दी है। देवड़ा ने गत २९ सितम्बर को हादसे के बाद एडीएम से दस दिन में जांच कर रिपोर्ट मांगी थी। रिपोर्ट में शामिल तथ्यों का खुलासा तो नहीं किया गया है लेकिन सूत्रों के अनुसार इसमें श्रमिकों की सुरक्षा के साथ गंभीर लापरवाही होना माना गया है। जांच में माना गया कि श्रमिकों को कार्य करते समय जो सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जाने चाहिए थे वे उनके पास नहीं थे। जांच में ये इस बात को गंभीर माना गया कि ९८ डिग्री तापमान का कोल श्रमिकों पर गिर गया, जबकि मेंटिनेंस ७० डिग्री तापमान पर होता है। इसका तापमान ९५ डिग्री पर आते ही अलार्म बजता है। इस बारे में जानकारी होने के बावजूद श्रमिकों को फायर सेफ्टी जैकेट किट उपलब्ध कराया हुआ नहीं था। श्रमिकों से बिना संसाधन व उपकरणों के काम करवा उनकी जिंदगी को संकट में डाला गया। श्रमिकों को सुरक्षा संबंधी प्रशिक्षण नहीं देने की बात भी रिपोर्ट में शामिल है। हादसे के समय वहां पर रोशनी की व्यवस्था नहीं थी। सुरक्षा के लिए े फायर सेफ्टी जैकेट किट सहित पर्याप्त सुरक्षा उपकरण नहीं थे। हेलमेट भी फाइबर के नहीं होने जैसे तथ्य भी जांच में सामने आए।

एसडीएम ने अहमदाबाद जाकर लिए थे बयान
जांच के दौरान एडीएम कलाल के निर्देश पर डूंगला एसडीएम शंकर सालवी ने अहमदाबाद पहुंच वहां निजी अस्पताल में उपचाररत श्रमिकों के बयान लिए थे। उनसे ये जाना गया था कि सुरक्षा को लेकर किस तरह की लापरवाही बरती जा रही थी। आठ पृष्ठों की इस रिपोर्ट को तैयार करने से पहले जांच अधिकारी कलाल ने घटनास्थल का दौरा करने के साथ पीडि़त पक्ष से भी जानकारी जुटाई।

क्या था श्रमिकों के झुलसने का मामला
बिरला सीमेंट कंपनी के चंदेरिया सीमेंट वक्र्स के प्रोडक्शन विभाग में कार्यरत शिव कॉलोनी चंदेरिया निवासी लक्ष्मीलाल (५३) पुत्र भवानी शंकर माली की ओर से चंदेरिया थाना पुलिस को पर्चा बयान दिया गया। इसमें बताया गया कि २९ सितंबर को रात सवा आठ बजे प्रार्थी को सूचना मिली कि एनसीसीडब्ल्यू कोल मिल में फाईल कोल होपर में तापमान बढने से पाइप लीक हो गया। इससे सबसे ऊपर की मंजिल पर काम करते समय करीब पन्द्रह श्रमिक झुलस गए। गंभीर झुलसी स्थिति में उदयपुर रेफर किए गए १५ में से १४ श्रमिकों को अहमदाबाद के एक निजी अस्पताल के रेफर कर दिया गया। इनमें से एक श्रमिक गोसिया निवासी सांवरसिंह पुत्र गोकुलसिंह देवड़ा की बुधवार को मौत हो गई।

सुरक्षा मानकों के लिए दिए सुझाव
रिपोर्ट में ये सुझाव भी दिए गए है कि भविष्य में इस तरह के हादसो को टालने के लिए क्या किया जाना चाहिए। औद्योगिक उपक्रमों में सुरक्षा मानकों की पालना कराने व श्रमिकों को पर्याप्त सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराना सुनिश्चित करने का सुझाव भी दिया गया।

मामले में पुलिस कर चुकी दो अधिकारियों को गिरफ्तार
श्रमिकों के झुलनसे के मामले में चंदेरिया थाना पुलिस ने फैक्ट्री के एचआर हेड एस.एन. साहू, लोकेशन हेड राजेश ककड़, सेफ्टी इंचार्ज संजय राठी, साइट इंचार्ज दिनेश कुमार, सीनियर वाइस प्रेसीडेंट राजीव भल्ला, डिप्टी मैनेजर संजय शाह, शिफ्ट इंचार्ज प्रकाश शर्मा, ठेकेदार पवन तथा एनसीसीडब्ल्यू फैक्ट्री के अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ आइपीसी की धारा १४३, २८७, ३३६, ३३७ व ३०८ के तहत प्रकरण दर्ज किया था। झुलसे श्रमिकों में से दो श्रमिक की मौत के बाद इस मामले में आपराधिक मानव वध की धारा ३०४ भी जोड़ दी गई। पुलिस बिरला सीमेंट में कार्यरत संजय कुमार शाह (५६) तथा सीनियर मैनेजर सेफ्टी संजय राठी को गिरफ्तार कर चुकी है। अन्य आरोपियों की अग्रिम जमानत के आवेदन बुधवार को ही जिला एवं सत्र न्यायालय ने खारिज कर दिए थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned