किसने कहा कि बार-बार नहीं आ सकता डेढ सौ किलोमीटर दूर

किसने कहा कि बार-बार नहीं आ सकता डेढ सौ किलोमीटर दूर

Vijay | Updated: 20 Jul 2019, 10:35:56 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India

चित्तौडग़ढ़. जिले में बेगंू नगरपालिका की करीब 25 हजार की आबादी है। यहां नगर पालिका में चार एलडीसी, एक यूडीसी, एक इन्सपेक्टर एवं अधिशाषी अधिकारी सहित अन्य पद सरकार की और से स्वीकृत है।

कई महत्वपूर्ण कार्य हो रहे प्रभावित
चित्तौडग़ढ़. जिले में बेगूं नगरपालिका की करीब 25 हजार की आबादी है। यहां नगर पालिका में चार एलडीसी, एक यूडीसी, एक इन्सपेक्टर एवं अधिशाषी अधिकारी सहित अन्य पद सरकार की और से स्वीकृत है। लम्बे समय से कई पद रिक्त चल रहे है। कुछ माह पूर्व दो कर्मचारियों की सेवानिवृति के बाद पूरी नगरपालिका तीन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के भरोसे संचालित की जा रही है। कार्यवाहक अधिशाषी अधिकारी को भी एपीओ कर जयपुर लगा दिया। डेढ सौ किमी दूर रामगंजमण्डी नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी को अतिरिक्त चार्ज दिया। चार्ज लेने के बाद वे अधिकारी कई माह में भी बेगंू नगरपालिका को देखने नहीं आए। ऐसे में आमजन के कई कार्य प्रभावित हो रहे है। वहीं रामगंजमंडी में बैठे अधिकारी का कहना है कि वे बार-बार इतनी दूर नहीं आ सकते।
नगरपालिका में अपने काम लेकर जाने वाले नगरवासियों को अधिकारी एवं कर्मचारियों के नहीं होने से निराशा हाथ लग रही है। यहां पालिका के कई महत्वपूर्ण कार्य चर्तुथ श्रेणी कर्मचारियों के भरोसे है। यहां मौजूद चर्तुथ श्रेणी कर्मचारी गोविन्द मेहर पर बापी पट्टा, जन्म-मृत्यु, पेंशन सहित सभी सामान्य कार्य है। कैलाश चंद्र के भरोसे निर्माण तामीर, आडिट, स्टोर, जैसे महत्वपूर्ण कार्य है। वहीं प्रेमशंकर को 90ए, सत्यापन, एकाउन्ट जैसे कार्य सौंप रखे है। एक मात्र कनिष्ठ अभियन्ता ही बेगंू नगर पालिका में अधिकारी के रूप में नियुक्त है। जिला कलक्टर, उपखण्ड कार्यालय एवं प्रदेश स्तरीय कोई भी मिटिंग या किसी भी कार्य में कनिष्ठ अभियन्ता को ही लगा रखा है। रामगंज मण्डी के अधिशाषी अधिकारी राजुलाल मीणा को बेगंू एवं रावतभाटा नगरपालिका का अतिरिक्त कार्यभार दिया हुआ है। मीणा ने चार्ज लेने के बाद एक भी बार बेगंू नगरपालिका की सुध नहीं ली। अधिकारी के अभाव में नगर के सभी कार्य थम गए।
ठप हो गए करोड़ों के निर्माणकार्य
करोड़ों रुपएके निर्माणकार्य, लोगों के आवासीय व्यवसायिक भू-खण्डों के कार्य कॉलोनियों की प्लानिंग सहित कई महत्वपूर्ण कार्य अधिकारी एवं कर्मचारी के अभाव मेें रूक गए। यहां पालिका में कोई भी लिपिक कार्यरत नहीं है। चर्तुथ श्रेणी कर्मचारियों को महत्वपूर्ण कार्य सोंप रखे है। नियमों की जानकारी के अभाव एवं अज्ञानता से इन कर्मचारियों से त्रुटी होने की प्रबल संभावना है वहीं दैनिक कार्य भी प्रभावित हो रहे है।
बार-बार यहां आना सम्भव नहीं
नगरपालिका बेगंू के कार्यवाहक अधिशाषी अधिकारी राजूलाल मीणा ने बताया कि बेगंू से रामगढ मण्डी डेढ सौ किमी दूर है। मैं वहां नहीं आ सकता। मुझे कुछ दिनों के लिए लगाया था। स्थायी अधिशाषी अधिकारी की नियुक्ति के बाद हीं वहां कार्य सम्पन्न होगें। मेरा बार-बार आना संभव नहीं है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned