कान्हा के दर्शन की चाहत में सोना लुटवा बैठी यशोदा

कान्हा के दर्शन की चाहत में सोना लुटवा बैठी यशोदा

Jitender Saran | Updated: 13 Jul 2019, 11:59:04 PM (IST) Chittorgarh, Chittorgarh, Rajasthan, India

कान्हा के दर्शन की चाहत में शनिवार को एक बार फिर यशोदा ठगी की शिकार हो गई। ठग दिन-दहाड़े उसके गले में पहनी सोने की चेन और अंगूठी उतरवा ले गए। ठीक दो माह पहले १३ मई को ऐसी ही एक वारदात शहर के नेहरू बाजार क्षेत्र में और दो मार्च को शास्त्री नगर क्षेत्र में हो चुकी है।

-भगवान के दर्शन कराने का झांसा देकर शहर में हुई तीसरी ठगी
-सीसीटीवी कैमरे खंगालती रही कोतवाली पुलिस, नहीं लगा सुराग
चित्तौडग़ढ़
कान्हा के दर्शन की चाहत में शनिवार को एक बार फिर यशोदा ठगी की शिकार हो गई। ठग दिन-दहाड़े उसके गले में पहनी सोने की चेन और अंगूठी उतरवा ले गए। ठीक दो माह पहले १३ मई को ऐसी ही एक वारदात शहर के नेहरू बाजार क्षेत्र में और दो मार्च को शास्त्री नगर क्षेत्र में हो चुकी है।
जानकारी के अनुसार धनेत कलां निवासी ओमप्रकाश जोशी की पत्नी और जिला परिषद सदस्य गायत्री जोशी की सास यशोदा (६२) शनिवार को अपने भाई राधेश्याम जोशी की तबीयत पूछने के लिए चित्तौडग़ढ़ आई थी। यशोदा का कहना है कि उसे मैजर नटवरसिंह उच्च माध्यमिक विद्यालय के बाहर दो युवक मिले, जिन्होंने यश बैंक का पता पूछा। इसके बाद युवकों ने खुद को हरिद्वार का निवासी होना बताकर महिला को बातों में उलझा दिया। ये युवक महिला से कहने लगे कि उन्होंने मन में कोई काम सोच रखा है। ऐसा कहते हुए दोनों ने महिला के गले में पहनी डेढ तोला वजनी सोने की चेन व हाथ में पहनी आधा तोला वजनी अंगूठी रूमाल में रखवा ली, लेकिन महिला ने तुरंत ही इनसे चेन व अंगूठी वापस ले ली। दोनों युवक उसके कहने लगे कि आपका अनिष्ट हो जाएगा। महिला वहां से भीलवाड़ा मार्ग की तरफ पैदल ही आगे बढ गई। गोशाला से आगे पहुंचने पर भूपाल छात्रावास के निकट उसे दो और युवक मिल गए, जिन्होंने खुद को विद्वान पण्डित बताते हुए महिला से कहा कि आप धार्मिक प्रवृति के हो और मन में कुछ सोच रखा है। महिला से दोनों युवकों ने कहा कि अगरबत्ती लेकर आओ, इस पर उसने पैसे नहीं होने की बात कही। इनमें से एक युवक अगरबत्ती लेने के लिए महिला के साथ दुकान तक भी गया। लौटने पर इन युवकों ने यशोदा को कहा कि आपको पीछे देखे बिना ७० कदम आगे चलना है, ऐसा करने पर आपको कान्हा के दर्शन हो जाएंगे और आनन्द आ जाएगा। लेकिन ऐसा करने के दौरान गले में पहनी चेन शरीर को नहीं छूनी चाहिए, इसलिए चेन व अंगूठी रूमाल में रख दो। महिला इनके झांसे में आ गई। चेन व अंगूठी रूमाल में रखकर वह चलने लगी। कुछ ही कदम चलकर पीछे देखा तो दोनों युवक वहां से फरार हो चुके थे। बाद में महिला ने ठगी की जानकारी अपने पति, पुत्र को दी। परिजन मौके पर पहुंचे और बाद में कोतवाली पहुंचकर इस संबंध में पुलिस को रिपोर्ट दी।
पुलिस ने खंगाले सीसीटीवी फुटेज
ठगी की वारदात की जानकारी मिलते ही कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कई जगह सीसीटीवी फुटेज खंगाले, लेकिन उनमें कुछ भी नहीं मिला। ठगों की तलाश में पुलिस पीडि़त महिला को लेकर शहर के कई इलाकों में घूमती रही, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा।
पांच माह में तीसरी वारदात
भगवान के दर्शन करवाने का झांसा देकर ठगी का प्रयास करने की पहली वारदात २ मार्च २०१९ को शास्त्री नगर क्षेत्र में पन्नाधाय कॉलोनी निवासी मनोहर अग्रवाल की पत्नी प्रेमलता के साथ हुई थी, लेकिन तब ठग वारदात को अंजाम देने में सफल नहीं हो सके थे। ठगी की दूसरी वारदात ठीक दो माह पहले १३ मई २०१९ को शहर के नेहरू बाजार क्षेत्र में बारू निवासी और हाल सूरत में रह रही कमला बाई (५८) पत्नी स्व. रमेशचन्द्र बोहरा के साथ हुई थी, जिसे दुकान की बुरी नजर उतारने का झांसा देकर दो ठग डेढ तोला वजनी सोने की चेन व तीन हजार रूपए की ठगी कर ले गए थे।
फुटेज मिले फिर भी हाथ मल रही है पुलिस
दो माह पहले नेहरू बाजार क्षेत्र में हुई ठगी की वारदात के तो कोतवाली पुलिस को सीसीटीवी फुटेज भी मिल गए, जिसमें दो ठग साफ नजर आ रहे थे, लेकिन दो माह बाद भी पुलिस के हाथ उन तक नहीं पहुंच पाए है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned