40 प्रवासी मजदूर क्वारेंटाइन,दो वार्डों में महाकफ्र्यू जारी

गत सात दिन में वार्ड 41 के एक ही परिवार के तीन सदस्यों के संक्रमित होने के अलावा उनके निकट संपर्कियों समेत किसी भी अन्य हिस्से से कोरोना संक्रमित मरीज के सामने न आने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग अब कुछराहत में है।

By: Madhusudan Sharma

Updated: 18 Apr 2020, 01:59 PM IST

चूरू. गत सात दिन में वार्ड 41 के एक ही परिवार के तीन सदस्यों के संक्रमित होने के अलावा उनके निकट संपर्कियों समेत किसी भी अन्य हिस्से से कोरोना संक्रमित मरीज के सामने न आने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग अब कुछराहत में है। 24 घंटे के अंतर में परिवार के तीन लोगों के संक्रमित मिलने के बाद थोड़ी हड़बड़ी जरूर प्रशासन में थी, लेकिन दो वार्डों को सील कर देने और जरा सा भी लक्षण वाले मरीजों के साथही आसपास के लोगों की भी तुरंत सैंपलिंग करा देने के बाद अधिकांश की रिपोर्ट सामान्य रहने पर प्रशासन ने राहत की सांस ली है। जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को रणनीतिकारों ने यह तय किया कि अब वे सैंपलिंग की प्रक्रिया थोड़ी धीमी करेंगे और कोशिश करेंगे कि फोकस हॉट स्पॉट पर ही हालात अगले 10-12 दिन तक और यथावत रहें। इस दौरान रैंडम सैंपलिंग की रणनीति रहेगी। इस बीच चूरू की सीमा में फिर से 40 प्रवासी मजदूरों के दाखिल होने से एक बार फिर गुरुवार/शुक्रवार की दरम्यानी रात थोड़ी अफरा-तफरी रही, लेकिन उन्हें कलेक्ट्रेट सर्किल पर ही रोक कर उनका स्वास्थ्य परीक्षण और स्क्रीनिंग कराने के बाद एक कंस्ट्रक्शन कंपनी की साइट पर ही उन्हें क्वारेंटाइन कर दिया गया। यह लोग रात करीब दो बजे कलेक्ट्रेट सर्किल पर ट्रक में लदे हुए रोके गए थे।

सील वार्डों पर निगरानी बढ़ाई
वार्ड 40 और 41 को सील करने के बाद और कई लोगों की सैंपलिंग कराने के बाद भी प्रशासन ने अभी वहां निगरानी बढ़ाए रखने का फैसला किया है। लोगों को राशन-सब्जी आदि घर पर ही मुहैया करवाई जा रही है। पुलिस और प्रशासन के बड़े अधिकारी भी दिन में एक-दो बार हालात का जायजा लेने वहां पहुंच रहे हैं।

नायब इमाम ने की अपील
इस बीच, जिला कलक्टर के निर्देश पर डीबीएच अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक प्रो. एफएच गौरी ने नायब इमाम से मुलाकात की, जिसमें उन्होंने लोगों को जुमे की नमाज और रमजान के दिनों में भी घरों के अंदर ही रह कर अकीदत करने की अपील करने को कहा। नायब इमाम ने लोगों से शुक्रवार को अपने घरों से ही नमाज अदा करने की अपील की, साथ ही लोगों से लॉकडाउन और कफ्र्यू की पालना में सहयोग की अपील की। इससे पहले और बाद में डॉ. गौरी ने प्रभावित इलाकों में भी लोगों से मिल कर किसी भी तरह का संक्रमण होने का लक्षण मिलने पर तुरंत कोविड-19 की जांच कराने को लेकर लोगों की समझाइश की।

मरकज क्षेत्र में रैंडम सैंपलिंग, कुल 25 सैंपल
शुक्रवार को मरकज क्षेत्र में रैंडम सैंपलिंग की गई। इस दौरान 18 सैंपल लिए गए। सात अन्य लोगों के सैंपल मिलाकर कुल 25 लोगों के सैंपल बीकानेर भेजे जा रहे हैं।

चूरू के पांच किलोमीटर इलाके में हुआ घर-घर सर्वे
चूरू. चूरू के आस-पास के पांच किलोमीटर क्षेत्र में शुक्रवार को चिकित्सा टीमों ने घर-घर सर्वे किया। जिला कलक्टर संदेश नायक ने बताया कि चिकित्सा टीमों ने चूरू शहर के आस-पास के पांच किलोमीटर के गांव गाजसर, खासोली व रामसरा में 1 हजार 84 घरों के 6 हजार 658 लोगों का घर-घर जाकर सर्वे किया। उन्होंने बताया कि घर-घर सर्वे में 65 वर्ष से अधिक आयु के 484 व्यक्तियों को चिन्हित किया गया है। इसके अलावा डाइबिटीज, अस्थमा व उच्च रक्तचाप के 130 तथा 18 खांसी, जुकाम व बुखार के रोगी मिले हैं। पूर्व में पाबंद किए गए लोगों को भी इस दौरान होम क्वारंटाइन के लिये पाबंद किया गया तथा उल्लंघन नहीं करने की हिदायत दी गई।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned