चूरू में 80.6 एमएम बारिश

जिला मुख्यालय पर सोमवार शाम को आई तेज बारिश के कारण कई जगह पर नुकसान के समाचार मिले हैं। तेज बारिश के चलते शहर में मकान गिरने के भी समाचार हैं।

By: Madhusudan Sharma

Published: 02 Jun 2020, 12:56 AM IST

चूरू. जिला मुख्यालय पर सोमवार शाम को आई तेज बारिश के कारण कई जगह पर नुकसान के समाचार मिले हैं। तेज बारिश के चलते शहर में मकान गिरने के भी समाचार हैं। चूरू के वार्ड 50 में डूूंगरमल अलवरिया के मकान की पट्टियां गिर गई। इसके अलावा मकान में दरारें भी पड़ गई। इसी प्रकार वार्ड 20 में भी विजयसिंह तंवर के मकान की चार दिवारी बारिश के कारण गिर गई। वहीं तेज बारिश के चलते कई जगह पर पोल टेढ़े हो गए। जिसके कारण जिला मुख्यालय पर चार बजे गई लाइट करीब सवा आठ बजे आई। जिले में कुछ स्थानों पर ओले गिरने के भी समाचार मिले हैं। मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम 38.5 और न्यूनतम 20.4 रिकॉर्ड किया गया है। जबकि बारिश 80.6 रिकॉर्ड की गई है।
दुकानों में घुसा पानी , सड़कें हुई लबालब
साण्डवा. सोमवार शाम पांच बजे हुई तेज बरसात सें गांव साण्डवा के मुख्य बाजार व बस स्टैंड सहित मुख्य मार्गों पर पानी एकत्रित हो गया। बारिश के चलते गांव के बस स्टैंड पर पीपीपी सानिवि द्वारा बनाए गए नोखा सीकर स्टेट हाइवे के दोनों तरफ नालियों के निर्माण की पोल भी खुल गई। निर्माण कार्य के पूरा होने के करीब डेढ़ वर्ष बीत जाने के बावजूद नालियों का काम बाकी पड़ा है। उपसरपंच शिवशंकर देरासरी व ग्रामीणों ने जिला कलक्टर को जनसुनवाई में लिखित शिकायत की थी लेकिन समस्या जस की तस है। सोमवार को आई बारिश ने पोल खोलकर रख दी। पानी के भराव की सूचना पर ग्रामपंचायत साण्डवा के उपसरपंच शिवशंकर देरासरी मौके पर पहुंचे और बीदासर उपखण्ड अधिकारी श्योराम वर्मा को सूचना दी। एसडीएम ने सानिवि के अधिकारियों को अवगत करवाने के लिए कहा। सानिवि के एईएन आशाराम से बात की तो उन्होंने पीपीपी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर सोमेश राठी के नम्बर देते हुए उनसें बात करने के लिए कहा।
बरसात से चेहरे खिले
घांघू. गांव व आसपास के क्षेत्र में दोपहर तक तेज गर्मी के बाद लगभग साढ़े तीन बजे काली घटाएं छा गई और बरसात शुरू हो गई, जिससे मौसम सुहावना हो गया। गर्मी से संतप्त प्रकृति और जीव जंतुओं को राहत मिली और लोगों के चेहरे पर खुशी से चमक आ गई। गांव में बिजाई के लायक बरसात तो अभी नहीं हुई है लेकिन कुछ लोगों ने पहले जो बाजरे की बुआई की थी उसमें यह बरसात अमृत का काम करेगी। गांव ढाढर के किसान सूर्यप्रकाश ने बताया की ढाढर में हलके ओलों के साथ बरसात हुई। जिस कारण लोगों को गर्मी से राहत मिली और कई किसान बिजाई की भी तैयारी में लग गए हैं ।
लोगों ने सेवा प्रशंसा
सिधमुख. कहते हैं कि सेवा करने का मन में जज्बा हो तो वह किसी प्रकार का परहेज नहीं करते हैं। कुछ ऐसा ही कार्य बेगराज पुरोहित ने कर दिखाया है। जानकारी के मुताबिक कस्बे में बारिश की वजह से क्षेत्र की गलियों में कीचड़ व गंदा पानी एकत्रित हो गया। ऐसे में आने-जाने वाले लोगों को इससे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। पुरोहित ने इस परेशानी को देखा तो उनसे रहा नहीं गया और उन्होंने निस्वार्थ भाव से एकत्रित गंदे पानी पर बालू मिटटी डलवा दी। ताकि रास्ता सुगम हो जाए। उनके इस कार्य की क्षेत्र में प्रशंसा है। लोगों ने कहा कि ऐसे व्यक्ति समाज को प्रेरणा देने वाले होते हैं।

Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned