आखिर ऐसी क्या नौबत आई की देना पड़ा धरना

विभिन्न मांगों को लेकर राजस्थान रोड़वेज सेवानिवृत कर्मचारियों ने सोमवार को रोड़वेज डीपों के आगे धरना दिया तथा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध जताया।

By: Madhusudan Sharma

Updated: 19 Jan 2021, 10:04 AM IST

सरदारशहर. विभिन्न मांगों को लेकर राजस्थान रोड़वेज सेवानिवृत कर्मचारियों ने सोमवार को रोड़वेज डीपों के आगे धरना दिया तथा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध जताया। इस अवसर पर धरने को संबोधित करते संघ के सचिव गणेशदास स्वामी ने कहा कि परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियवास एवं तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलेट ने रोड़वेज कर्मचारियों से विधानसभा चुनाव से पूर्व वादा किया था कि यदि कांग्रेस सता में आई तो रोड़वेज कर्मचारियों को 7वां वेतनमान के अलावा सेवानिवृत पर मिलने वाले सभी लाभ को तुरन्त देंगे। सरकार बने 2 साल हो गए है। फिर भी अपने वादे पर खरे नहीं उतरे है। उन्होने बताया कि वर्तमान में अगस्त 2016 से सेवानिवृति के बकाया लाभ से कर्मचारी वंचित है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को निशुल्क चिकित्सा सुविधा दी जावे तथा सेवानिवृति के बाद कर्मचारियों के साथ उनकी जीवन साथी को दी जा रही निशुल्क पास की सुविधा को कर्मचारी की मृत्यु के बाद उनके जीवन साथी को सुविधा दी जावे। इस अवसर पर बेनीप्रसाद शर्मा, बीएल पारीक, नरेन्दरकुमार लसेड़ी, बीआर सैन, बाब ुखान, रामचन्द्र दर्जी, करणीसिंह, झाबरमल, दराब खान, सुमेरसिंह शेखावत, डूंगरमल प्रजापत, मदनसिंह, बद्रीप्रसाद शर्मा, नब्ब ुखान, मुरलीधर माली, काशीराम, रामसिंह पंवार, धर्मवीरसिंह, राजेन्द्र शर्मा, उमाशंकर शर्मा, मेघराज गुर्जर आदि धरने पर बैठे। धरने की अध्यक्षता रामचन्द्र माली ने की।

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned