राजस्थान में यहां आपस में ही भिड़े कांग्रेस कार्यकर्ता, बवाल देख नेताओं के छूटे पसीने, ऐसे गर्माया माहौल

राजस्थान में यहां आपस में ही भिड़े कांग्रेस कार्यकर्ता, बवाल देख नेताओं के छूटे पसीने, ऐसे गर्माया माहौल
churu photo

Rakesh Kumar Goutam | Updated: 26 Jun 2018, 10:54:21 AM (IST) Churu, Rajasthan, India

हंगामे की भेंट चढ़ा मेरा बूथ-मेरा गौरव कार्यक्रम

तारानगर.

कस्बे में सोमवार को ओसवाल पंचायत भवन के नोहरे में कांग्रेस की ओर से आयोजित मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम हंगामे की भेंट चढ़ गया। कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया व अपने-अपने गुट के नेताओं के पक्ष में नारे लगाते हुए आपस में भिड़ गए। इस दौरान एक पक्ष के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपनी ही पार्टी के दूसरे पक्ष के एक कार्यकर्ता की पिटाई कर दी। इससे माहौल तनाव पूर्ण हो गया। मंच पर बैठे सभी अतिथि नाराज होकर नीचे आ कर बैठ गए। ऐसे में कांग्रेस की परंपरागत सीट रही तारानगर विधानसभा क्षेत्र में पार्टी की आपसी गुटबाजी खुलकर सामने आ गई।

 

हुआ यूं कि मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कांग्रेस के प्रदेश सह प्रभारी काजी निजामुदीन मौजूद थे। कार्यक्रम में संबोधन के लिए कांग्रेस नेता व पूर्व सांसद नरेन्द्र बुडानिया का नाम पुकारा गया। बुडानिया जैसे ही संबोधित करने मंच से उठे तो पूर्व विधायक डा. सीएस बैद के समर्थकों ने बुडानिया का विरोध शुरू कर दिया। कार्यकर्ताओं ने बुडानिया के हाथ से माइक छीनते हुए उन्हें बोलने नहीं दिया। इस बात पर माहौल गर्मा गया। सभी कार्यकर्ता खड़े हो गए।

 

सह प्रभारी के समक्ष लगाए नारे
समर्थकों ने सहप्रभारी काजी निजामुद्दीन के सामने अपने-अपने नेताओं के पक्ष में नारे लगाने शुरू कर दिए। हंगामे से नाराज सहप्रभारी निजामुद्दीन व जिला अध्यक्ष भंवरलाल पुजारी, जिल सह प्रभारी जियाउर रहमान आरिफ मंच छोड़कर नीचे आ गए। कार्यकर्ताओं ने सहप्रभारी को घेर लिया और अपना-अपना पक्ष रखने लगे।

 

सहप्रभारी निजामुदीन व जिलाध्यक्ष शर्मा ने कार्यकर्ताओं को शांत होकर बैठने के लिए समझाया लेकिन नहीं माने और करीब पौन घंटे तक हंगामा करते रहे जिससे कार्यक्रम ठप हो गया। इसी दौरान कुछ कार्यकर्ता आपस में उलझ पड़े और एक-दूसरे के साथ हाथापाई करने लगे। गुस्साए एक पक्ष के कार्यकर्ताओं ने बुडानिया समर्थक एनएसयूआई से जालपा देवी कालेज में छात्रसंघ अध्यक्ष रहे सुरेन्द्र पूनिया को मंच से नीचे खींचकर पिटाई कर दी। इससे कार्यक्रम में अफरा-तफरी मच गई।

 

भाजपा राज में भ्रष्टाचार चरम पर
सह प्रभारी ने कहा कि भाजपा के राज में देश व प्रदेश के हालात खराब है। मंहगाई, बेरोजगारी, अपराध, भ्रष्टाचार आदि चरम सीमा पर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व वसुंधरा सरकार ने जनता को बड़े-बड़े सपने दिखाकर सत्ता हासिल कर ली। भाजपा सरकार से दुखी जनता कांग्रेस के सुशासन को याद कर रहे हैं।

 

कार्यक्रम को कांग्रेस जिलाध्यक्ष भंवरलाल पुजारी, प्रताप पूनिया, पुष्करदत इंदौरिया, ब्लॉक अध्यक्ष जयचंद शर्मा, कृष्ण सहारण, उमाशंकर शर्मा, गोविंद महनसरिया, ताराचंद कस्वां, लीलाधर जोशी, भंवर अजीतसिंह आदि ने संबोधित किया। संचालन राधेश्याम चोटिया ने किया। सहप्रभारी निजामुदीन ने कांग्रेस में शामिल हुए डा. महेश शर्मा, महंत सुरेद्रसिंह राठौड़, भीमसिंह बीका का स्वागत किया। कांग्रेस नेता हमीदा बेगम, महासिंह सिहाग, शिवभगवान शर्मा, राजेन्द्र सहारण, जयपाल धुआ, प्रमोद गोगटिया, प्रताप मेघवाल आदि मौजूद थे।

 

मंच के नीचे बैठे रहे सह प्रभारी
पदाधिकारियों ने सहप्रभारी निजामुदीन को मंच पर आकर कार्यकर्ताओं को समझाने व संबोधित करने के लिए कहा लेकिन कार्यकर्ताओं के व्यवहार से नाराज सहप्रभारी निजामुदीन काफी देर मंच से नीचे ही बैठे रहे। करीब पौन घंटे बाद कार्यकर्ताओं के हंगामा बंद करने के बाद जैसे ही कार्यकर्ता शांत हुए तब सहप्रभारी मंच पर आकर बैठे।

 

कांग्रेस नेता नरेन्द्र बुडानिया ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इसके बाद सहप्रभारी निजामुद्दीन ने कहा कि कांग्रेस लोकतांत्रिक पार्टी है। गलत आचरण करने वाला कांग्रेस का कार्यकर्ता नहीं होता। यह कार्यक्रम पार्टी का बूथ लेवल कार्यक्रम है इस कार्यक्रम में टिकट वितरण संबंधी बातों से कोई लेना-देना नहीं है। सभी कार्यकर्ताओं की बात व समस्या सुनी जाएगी लेकिन इसके लिए उचित समय व उचित स्थान होना चाहिए। उन्होंने कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर कांग्रेस पार्टी को मजबूत बनाने की अपील की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned