ढाई वर्ष बीत जाने के बाद भी शुरू नहीं हो पाई चूरू चौपाटी

पर्यटकों को आकर्षित करने व हैरीटेज को बढ़ावा देेने के उद्देश्य से पांच करोड़ रुपए की लागत से निर्मित चूरू चौपाटी ढाई वर्ष बीत जाने के बाद भी शुरू नहीं हो पाई है। इसके पीछे कथित राजनीतिक कारण माना जा रहा है।

By: Madhusudan Sharma

Published: 11 Jun 2021, 09:42 AM IST

चूरू. पर्यटकों को आकर्षित करने व हैरीटेज को बढ़ावा देेने के उद्देश्य से पांच करोड़ रुपए की लागत से निर्मित चूरू चौपाटी ढाई वर्ष बीत जाने के बाद भी शुरू नहीं हो पाई है। इसके पीछे कथित राजनीतिक कारण माना जा रहा है। जानकारी के अनुसार भाजपा शासन में बजट 2018-19 में 5 करोड़ 50 लाख रुपए की लागत से चूरू चौपाटी बनाने की घोषणा की गई थी। इसके लिए डाकिड़ा जोहड़ को चुना गया। जहां पर गंदे पानी का आलम था। सितंबर 2018 में तत्कालीन पंचायतीराज मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने इसका सितंबर शिलान्यास किया। 10 सितंबर 2018 को ही इसका निर्माण शुरू कर दिया गया और 31 दिसंबर 2019 को इसका निर्माण पूरा कर लिया गया। लेकिन स्थानीय निकाय में सत्ता भाजपा के हाथ से निकल जाने के कारण चूरू चौपाटी अभी तक जनता के लिए नहीं खोली गई है। ऐसे में करोडो रुपए खर्च किए जाने के बावजूद ढाई साल से चूरू चौपाटी का खुलने का इंतजार है।
चौपाटी में ये है सुविधाएं
चूरू शहर के लिए मुम्बई की तर्ज पर बनाई गई चूरू चौपाटी को हैरीटेज लुक दिया गया है। इसमें वॉकिंग ट्रेक के साथ-साथ पत्थरों की चेयर भी जगह-जगह लगाई गई है। यहां योगा व ओपन जिम की भी सुविधा लोगों को मिल सकेंगी। सुविधाओं के तहत महिला-पुरुष, दिव्यांग के लिए टॉयलेट भी बनाए गए हैं। यही नहीं इस चौपाटी में सांस्कृकमे धरोहरों को दर्शाती पत्थर व गन मेटल की मूर्तियां भी लगाई गई है।
बच्चों के लिए पिकनिक स्पॉट
जोहड़े के चारों और गुमटियां- छतरियां भी लगाई जा रही है। इसके लगने से सौंदर्यकरण को भी चार चांद लग सकेंगे। यहां पर बच्चों के लिए पिकनिक स्पॉट की तर्ज पर व्यवस्थाएं की गई है। यहां पर लगाई लाइटें आकर्षक हैं। जिसकी रोशनी से चूरू चौपाटी का मनोहारी दृश्य नजर आता है।
इसलिए उलझा चूरू चौपाटी का मामला
वर्ष 2018 में भाजपा का शासन था। लेकिन सत्ता बदलने के साथ ही प्रदेश में कांगे्रस की सरकार बनी। चूरू नगरपरिषद भी भाजपा के हाथ से निकल गई। वर्तमान में यहां कांग्रेस का बोर्ड है। ऐसे में राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता के चलते इसका ढाई वर्ष से उद्घाटन नहीं हो पाया है। ये चौपाटी फिलहाल ताले में बंद है।
उपनेता प्रतिपक्ष ने यूडीएच मंत्री धारीवाल को लिखा पत्र
उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने स्वायत्ता शासन मंत्री शांति धारीवाल को पत्र लिखकर चूरू चौपाटी जनता के लिए लोकार्पित करने की मांग की है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि ढाई वर्ष बीत गए लेकिन स्थानीय नगरपरिषद प्रशासन की ओर से इसे जनता के लिए नहीं खोला गया है। उन्होंने शीघ्र ही चूरू चौपाटी जनता को लोकार्पित करने की मांग की है। राठौड़ ने इससे पूर्व भी धारीवाल को पत्र लिखकर चौपाटी को जनता के लिए खुलवाने की मांग रखी थी। लेकिन मामले पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
भरता था गंदा पानी
जौहरी सागर में पहले गंदा व बरसाती पानी एकत्रित होता था। बारिश के दिनों में इस क्षेत्र के बुरे हाल हो जाते थे। वर्ष 2017 में तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बजट सत्र में चूरू चौपाटी के लिए 5.50 करोड़ का बजट स्वीकृत किया था।

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned