corona: हमें उनकी फिक्र, लेकिन उन्हें हमारी नहीं

चूरू. कोविड 19 महामारी की चेन तोडऩे के लिए सरकार की जारी सोशियल डिस्टेंस मेंटेन की पालना में पुलिस जुटी हुई है।

By: manish mishra

Published: 06 Apr 2020, 01:28 PM IST

मनीष मिश्रा.

चूरू. कोविड 19 महामारी की चेन तोडऩे के लिए सरकार की जारी सोशियल डिस्टेंस मेंटेन की पालना में पुलिस जुटी हुई है। इसके लिए प्रतिदिन 16 से 18 घंटे ड्यूटी दे रहे हैं। लेकिन कुछ शरारती तत्व लगातार इस काम में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं।ऐसे में पुलिसकर्मियों को सख्ती के साथ वहीं कुछ मामलों में नरमी से पेश आना पड़ रहा है।

लॉकडाउन से अब तक सोशियल डिस्टेंस मेंटेन करवाने गई पुलिस पर असामाजिक तत्व हमला करने के जिले में अबतक चार मामले सामने आ चुके हैं।कोविड महामारी को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से पहले जनता कफ्र्यू बाद में लॉकडाउन करने की घोषणा की गई थी। सभी राज्यों की सरकार लॉकडाउन की पालना करवाने में लगी हुई है।

राज्य पुलिस के ध्वज में पुलिस का उद्देश्य सेवार्थ कटिबद्धता को निभाने में पुलिसकर्मी भी नाको पर सोशियल डिस्टेंस पालना करवाने में दिन-रात जुटे हुए हैं। लेकिन शहर सहित जिले में कुछ शरारती तत्व ऐसे हैं, जो कि घूम रहे हैं।सोशियल डिस्टेंस मेंटेन करने की सलाह देने पर पुलिस पर पथराव व मारपीट करने से नहीं चूक रहे हैं।

जो कि समाज के लिए एक बड़ी चिंता का कारण है। असामाजिक तत्व पुलिस ही नहीं सर्वे करने के लिए घर-घर पहुंच रहे स्वास्थ्य कर्मियों के साथ में अभद्रता कर रहे हैं। समझाइश करने पर पुलिस के साथ बदसलूकी की जा रही है।

49 जनों को किया गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस महामारी के मध्यनजर जारी लॉकडाउन में जिला कुछ लोग साम्प्रदायिक सोहार्द बिगाडऩे के लिए सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट करने से भी नहीं चूक रहे हैं। पुलिस की समझाइश के बाद नहीं मानने पर आपत्तिजनक पोस्ट करने व लॉक डाउन का उल्लंघन करने सहित अन्य उत्पात्तियों, के खिलाफ अब तक कुल 49 को शांतिभंग में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। वहीं निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वालों/संक्रमण का खतरा उत्पन्न करने वालों के विरूद्ध कुल नौ जनों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर कुल 21 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस पर मारपीट व पत्थरबाजी के मामले एक नजर

केस एक

दूधवाखारा पुलिस प्रतिदिन की तरह गश्त करते हुए गांव लादडिय़ा पहुंची। इस दौरान काफी लोग सड़कों पर घूमते देखकर पुलिसकर्मियों ने संक्रमण से बचाव के लिए घरों में रहने की सलाह दी। घर जाने के बजाए लोग आक्रोशित हो गए व अचानक पत्थरबाजी करना शुरू कर दिया। पत्थरबाजी में थानाधिकारी रामविलास विश्नोई सहित तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए।

केस दो

कस्बा राजलदेसर के वार्ड 18 में एक धार्मिक स्थल के पास पुलिस को एक दर्जन युवकों के इकठ्ठा होने की सूचना मिली थी। सूचना मिलने पर थाने से दो कांस्टेबल मौके पर पहुंचे व लोगों को बचाव के लिए घरों पर रहने के लिए समझाया। लेकिन युवक आक्रोशित हो गए। अचानक लोगों ने पुलिस पर पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियों ने पत्थरबाजी की सूचना अधिकारियों को दी। इस पर मौके पर पुलिस का अतिरिक्त जाप्ता भेजा गया। मामले में राजलदेसर पुलिस ने पांच जनों को गिरफ्तार किया गया।

इनका कहना है...

सरकार के आदेशों की पालना में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को सोशियल डिस्टेंस रखने के लिए समझाइश की जा रही है। इस दौरान राजकार्य में बाधा डालने के चार मुकदमें दर्ज कर गिरफ्तारी की गई है।

तेजस्वनी गौतम, पुलिस अधीक्षक चूरू।

corona disease corona virus in india
manish mishra Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned