अधिकारियों ने खानापूर्ति कर दो दिन का शिविर एक दिन में निपटाया

Rakesh gotam

Publish: Jan, 13 2018 10:54:05 PM (IST)

Churu, Rajasthan, India
अधिकारियों ने खानापूर्ति कर दो दिन का शिविर एक दिन में निपटाया

अधिकारियों का दावा, शिविर या विभागीय आदेशों की पालना में लापरवाही की कोई बात नहीं है।

चूरू

जिले के सर्व शिक्षा अभियान से संबद्ध विद्यालयों के गणित-विज्ञान विषय के संस्थाप्रधानों/शिक्षकों को राष्ट्रीय आविष्कार मिशन के तहत दिया जाने वाला दो दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण शिविर एक ही दिन में खानापूर्ति कर निपटा दिया गया।


अधिकारियों का दावा है कि दो दिन में दी जाने वाली समस्त जानकारियां अधिक दक्ष प्रशिक्षक बुलाकर एक दिन में दी गई है। शिविर या विभागीय आदेशों की पालना में लापरवाही की कोई बात नहीं है। गौरतलब है कि सर्व शिक्षा अभियान के तहत बच्चों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए राष्ट्रीय आविष्कार मिशन चल रहा है। मिशन के तहत नवंबर माह में दो दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण शिविर लगाकर गणति-विज्ञान विषय के शिक्षकों/संस्थाप्रधानों को बच्चों को दी जाने वाली जानकारियों के बारे में प्रशिक्षण दिया जाना था। मगर शिविर लगाने के लिए जिम्मेदारों ने नवंबर में शिविर नहीं लगाया। अब दबाव पडऩे पर आनन-फानन में दो दिवसीय आवासीय शिविर को एक दिन में निपटा दिया गया।

जिम्मेदार ये बता रहे वजह

एसएसए के अधिकारियों का कहना है कि नौ जनवरी को उक्त संस्था प्रधान लीडरशिप की ट्रेनिंग लेकर गए थे। फिर 11 व 12 जनवरी को उन्हें राष्ट्रीय आविष्कार मिशन का प्रशिक्षण दिया जाना था। उसके बाद 13 जनवरी को एबीएल की ट्रेनिंग दी जानी थी। अगले सप्ताह विज्ञान-गणित विषय की कार्यशालाएं होनी हैं। शिक्षक/संस्थाप्रधानों के बार-बार के आवागमन से विद्यालयों में पढ़ाई बाधित ना हों। इसके लिए एक दिन में शिविर में शिक्षकों को समस्त जानकारी दी गई।

ये होना था, ये हुआ शिविर में

दो आवासीय शिविर में राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के तहत शिक्षकों/संस्था प्रधानों को विद्यार्थियों से विज्ञान के मॉडल बनवाने, विजिट करवाए जाने वाले स्थानों सहित अन्य जानकारियां दी जानी थी। मगर जल्दबाजी में सभी संस्था प्रधानों को एक साथ बुलाया गया। अधिक दक्ष प्रशिक्षक बुलाकर उन्हें दो दिन जाने वाली जानकारियां एक दिन में दी गई।

रजिस्टर में दो दिन का ट्यूर

अधिकारियों की मानें तो प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने वाले संबंधित संस्था प्रधान स्कूल रजिस्टरों में दो दिन का ट्यूर अंकित कर शिविर में आ गए। यहां एक ही दिन में शिविर पूरा होने के कारण वे भी असमंजस की स्थिति में हैं। जबकि शिविर से उन्हें दो दिन का ऑन ड्यूटी सर्टिफिकेट दिया जाना है। अब उन्हें एक दिन का सर्टिफिकेट देना पड़ेगा।


शिविर प्रभारी के किसी परिजन की आकस्मिक मृत्यु के कारण शिविर समय पर नहीं लग सका था। अब एक साथ कई ट्रेनिंग व कार्यशालाएं लगातार होने के कारण स्कूलों में पढ़ाई बाधित होने से बचाने के लिए शिविर एक दिन लगाया गया। इसमें कहीं कोई लापरवाही नहीं है। प्रशिक्षण पूरा दिया गया है।
बजरंग सैनी, एडीपीसी, एसएसए, चूरू

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned