corona: जिनकी जान बचाने गए, वही बने जान के दुश्मन

चूरू. पुलिस पर पत्थरबाजी करना शुरू कर दिया।

By: manish mishra

Published: 02 Apr 2020, 10:02 PM IST

चूरू. कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर पुलिस की ओर से लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने की समझाइश की जा रही है।लेकिन कुछ लोग सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी को नहीं मान रहे।दूधवाखारा स्थित गांव लादडिय़ा में घरों के बाहर घूम रहे लोगों को समझाइश करने पर आक्रोशित हो गए।

अचानक पुलिस पर पत्थरबाजी करना शुरू कर दिया।पत्थरबाजी में दूधवाखारा थानाधिकारी रामविलास विश्नोई, कांस्टेबल राकेश व एक अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गए।लोगों ने पुलिस की गाड़ी के शीशे भी तोड़ दिए।सूचना पर अतिरिक्त जाप्ता मौके पर भेजा गया, लेकिन जब तक आरोपी भाग चुके थे।इस संबंध में थानाधिकारी की ओर से राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने का मामला दर्ज कराया गया है।

पुलिस के मुताबिक प्रतिदिन की तरह पुलिस गश्त करते हुए गांव लादडिय़ा पहुंची।इस दौरान काफी लोग सड़कों पर घूमते देखकर पुलिसकर्मियों ने संक्रमण से बचाव के लिए घरों में रहने की सलाह दी।घर जाने के बजाए लोग आक्रोशित हो गए व अचानक पत्थरबाजी करना शुरू कर दिया।पत्थरबाजी में थानाधिकारी सहित तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए।

मामले में पुलिस की ओर लादडिया निवासी सूरजभान सिंह, राजवीर सिंह, पुष्पेन्द्र सिंह, भवानी सिंह, धर्मपाल सिंह, सम्पत सिंह, मूलसिंह, युवराज सिंह, छैलू कंवर, सरोज कंवर के खिलाफ राजकार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज किया है।

उल्लेखनीय है कि रतनगढ़ क्षेत्र में लाकडाउन के दौरान भीड़ इकठ्ठा होने की सूचना पर पहुंचे बिरमसर चौकी प्रभारी के साथ लोगों ने हाथापाई कर दी थी।वहीं शहर में कोरोना वायरस को लेकर सर्वे करने गई एएनएम के साथ भी आधा दर्जन युवकों ने मारपीट कर सर्वे रजिस्टर फाड़ दिया था।

manish mishra Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned