ट्रक चालक ने एंट्री फीस नहीं दी तो पुलिस ने लगाए करंट के झटके, बर्बरता से पीटा

सरदारशहर के बाद अब तारानगर पुलिस का कू्रर चेहरा सामने आया है। पुलिस कर्मियों ने सीमेंट भरकर ले जा रहे ट्रक चालक को रूकवाकर दस हजार रुपए एंट्री फीस देने के लिए कहा।

सादुलपुर (चूरू)। सरदारशहर के बाद अब तारानगर पुलिस का कू्रर चेहरा सामने आया है। पुलिस कर्मियों ने सीमेंट भरकर ले जा रहे ट्रक चालक को रूकवाकर दस हजार रुपए एंट्री फीस देने के लिए कहा। चालक के इनकार करने पर पुलिसकर्मी आग बबूला हो गए और उसको करंट के झटके लगाए। उसका मोबाइल तोड़ दिया और उससे जमकर मारपीट की।

मामला 14 नवंबर की रात का है। पुलिस के शिकंजे से छूटने के बाद पीडि़त ट्रक चालक ने रविवार को चूरू में भाजपा नेता रामसिंह कस्वा तथा रतनगढ़ विधायक अभिनेष महर्षि से मिलकर शिकायत दर्ज करवाई है। झुंझुंनू जिले के चिड़ावा तहसील के गांव गिदानिया निवासी ट्रक चालक विक्रम सिंह ने कस्वा और महर्षि को बताया कि 14 नवंबर को वह कोटपुतली से गंगानगर के लिए सीमेंट भरकर ला रहा था। रात 10.30 बजे तारानगर पहुंचा तो पुलिस ने सर्किल पर ट्रक रूकवाकर कागजात मांगा।

इसके बाद एंट्रीफीस के नाम पर उससे दस हजार रुपए मांगे तो उसने मना कर दिया। जिस पर पुलिस ने उससे साथ मारपीट शुुरू कर दी। पीडि़त ने पुलिस पर आरोप लगाया कि घटनाक्रम का मोबाइल फोन से वीडियो बनाने लगा तो उसका मोबाइल छीनकर तोड़ दिया तथा उसे एक जीप में डाल लिया। जेब से 4 हजार 500 रुपए निकाल लिए।

उससे मारपीट की। थाने लाकर उसे करंट भी लगाया। जिससे उसकी तबीयत खराब हो गई। इससे घबराई पुलिस ने अपने स्तर पर प्राथमिक उपचार किया तथा दवाइया देकर इंजेक्शन भी लगाया। 15 नवम्बर की शाम को उसे कोर्ट में ले गए एक कागज पर हस्ताक्षर करवाकर थाने ले आए। बाद में उसे छोड़ दिया गया।

86 हजार रुपए मिले गायब
पीडि़त ने बताया कि ट्रक को संभाला तो 86 हजार रुपए गायब मिले। यह राशि गाड़ी की बीमा करवाने एवं अन्य कामों के लिए रखी थी।

इस संबंध में पुलिस के उच्च अधिकारियों से वार्ता कर बर्बरतापूर्ण पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों की जांच की मांग की है। मेडिकल बोर्ड से मुआयना करवाने एवं कार्रवाई का आश्वासन दिया है। पुलिस ने 151 की धारा को हथियार बना लिया।
रामसिंह कस्वा, भाजपा नेता सादुलपुर

विक्रम नामक ट्रक चालक ने मुलाकात की है। पुलिस से लोग न्याय की उम्मीद करते हैं। लेकिन संवेदनशीलता की हदें पार हो गई। डीआईजी बीकानेर को अवगत करवाया है।
अभिनेश महर्षि, विधायक रतनगढ़

पुलिसकर्मी किसी को क्यों करंट के झटके देंगे। हालांकि ऐसा कोई मामला फिलहाल मेरी नजर में नहीं आया है। अगर कोई शिकायत आती है तो इसकी जांच करवाकर कार्रवाई की जाएगी।
भरतराज, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजगढ़

आरोप बेबुनियाद है मैं चुनाव डयूटी में था। ट्रक चालक को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। न्यायालय में पेश करने से पहले उसका मेडिकल भी करवाया है।
अमित कुमार थानाधिकारी तारानगर

kamlesh Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned