शराब बेचने को लेकर चल रही तनातनी के चलते की थी हत्या

चूरू. नामजद फरार 25 हजार के इनामी आरोपी अनिल शर्मा को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

By: manish mishra

Updated: 02 Jun 2020, 07:17 PM IST

चूरू. चूरू जिले के कस्बा सादुलपुर में शराब बेचने को लेकर लेकर चल रही तनातनी के चलते अंधाधुंध फायरिंग कर बस ऑपरेटर राजेन्द्र गढवाल की हत्या की गई थी। प्रकरण में मंगलवार को एसओजी एवं स्थानीय पुलिस ने नामजद फरार 25 हजार के इनामी आरोपी अनिल शर्मा को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।थानाधिकारी गुरभूपेन्द्रसिंह ने बताया कि अनुसंधान के दौरान एसओजी एवं स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम ने कार्रवाई करते हुए प्रकरण में वार्ड 15 सादुलपुर निवासी आरोपी अनिल शर्मा को हरियाणा के भिवानी जिलान्तर्गत गांव पहाड़ी से गिरफ्तार किया।अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एटीएस एवं एसओजी के अनिल पालीवाल ने बताया कि दिनांक 22 मई को सादुलपुर में शराब बेचने को लेकर हुए झगड़े में राजेन्द्र गढवाल की बोलेरो सवार व्यक्तियों की ओर से अंधाधुंध गोलियां चलाकर हत्या कर दी गई थी।जिस पर पुलिस थाना सादुलपुर में मामला दर्ज किया गया था तथा एफआईआर में कपिल शर्मा तथा अनिल शर्मा सगे भाइयों के साथ.साथ अन्य लोगों पर भी आरोप लगाए गए थे। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए उपरोक्त प्रकरण का अनुसंधान एसओजी को सुपुर्द किया गया था तथा विशेष टीम का गठन किया। घटना के 11वें दिन पुलिस ने एक ईनामी आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।पालीवाल ने बताया कि मृतक राजेन्द्र गढवाल सादुलपुर में बस ऑपरेटर का काम करता था।साथ ही मोहल्ले में भी अवैध रूप से शराब बेचने का काम करता था। आरोपी कपिल एवं अनिल भी राजगढ़ में अंग्रेजी शराब के ठेके में पार्टनर थेए और अवैध रूप से मोहल्ले में शराब बेचते थे। जिसको लेकर दोनों ही पक्षों में कई दिनों से तनातनी चल रही थी।घटना वाले दिन सुबह के वक्त मृतक राजेन्द्र गढवाल एवं उसके साथियों की ओर से कपिल एवं अनिल के साथ मारपीट भी की। जिसका बदला लेने के लिए कपिल व अनिल ने अपने साथियों के साथ मिलकर राजेन्द्र गढवाल व उसके पुत्र सुनील एवं सहयोगी विनोद वाल्मीकि पर फायरिंग की। जिसमें राजेन्द्र गढवाल की मृत्यु हो गई थी व सुनील एवं विनोद वाल्मीकि गंभीर रूप से घायल हो गए थे।उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपी से प्रकरण में शामिल अन्य लोगों के संभावित ठिकानों तथा घटना के काम में लिए गए हथियारों के संबंध में पूछताछ जारी है। तथा शीघ्र ही फरार दूसरे आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त करेगी। गौरतलब है कि एसओजी टीम ने 27 मई को मामले की जांच शुरू की थी।

manish mishra Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned