विदेश में कंपनी ने निकाला, अब भटक रहे

बेरोजगार युवाओं को विदेश में अच्छे वेतन का झांसा देकर भेजने वाले एक एजेंट सक्रिय है। शहर में भी एक ऐसा मामला जहां दो युवक पिछले दो साल से सऊदी अरब के जेदा में फंसे हुए हैं।

By: Madhusudan Sharma

Published: 03 Jul 2021, 10:06 AM IST

चूरू. बेरोजगार युवाओं को विदेश में अच्छे वेतन का झांसा देकर भेजने वाले एक एजेंट सक्रिय है। शहर में भी एक ऐसा मामला जहां दो युवक पिछले दो साल से सऊदी अरब के जेदा में फंसे हुए हैं। हाल यह है कि कंपनी की ओर से उन्हें रहने के लिए दिए हुए घर से भी निकाल दिया है।वतन वापसी के लिए परिजन स्थानीय नेताओं से गुहार लगा चुके हैं।लेकिन फिलहाल दोनों के वतन वापसी की संभावना नजर नहीं आ रही है। विदेश में फंसे वार्ड 33 के अल्ताफ व वार्ड 37 के सुलेमान के परिजनों ने बताया कि करीब दो साल पहले खंडेला के एजेंट ने दोनों युवकों से डेढ़-डेढ़ लाख रुपए लेकर सऊदी अरब के जेदा भेजा था।पीडि़तों ने परिजनों को बताया कि तीन-चार माह तक कंपनी में काम किया, लेकिन उन्हें हकामा नहीं दिया गया।ऐसे में कंपनी में काम करने वाले अन्य कर्मचारियों के मुकाबले उन्हें आधा वेतन दिया जाता था।परिजनों ने बताया कि इसका विरोध करने पर एक साल पहले उन्हें कंपनी से बाहर निकाल दिया गया।रहने का ठिकाना नहीं होने पर मकान मालिक ने आठ मंजिला मकान की सफाई करने की शर्ते पर ठहराने की बात कही।युवकों ने मामले को लेकर इंडियन एम्बेसी में गुहार लगाई। इसके अलावा परिजनों ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों से मदद मांगी, लेकिन वतन वापसी को लेकर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है।पीडि़त युवकों ने बताया कि कंपनी के इशारे पर मकान मालिक ने पांच माह पहले उन्हें निकाल दिया है।ऐसे में इधर-उधर रात गुजारने को मजबूर होना पड़ रहा है।काम धंधा नहीं होने से भेट भरना भी मुश्किल हो रहा है। इधर बेटों के इंतजार में अल्ताफ की मां शहनाज व सुलेमान की मां सलमा का बुरा हाल है। बताया जा रहा है सुलेमान शादी-शुदा है।

Show More
Madhusudan Sharma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned